मन्नतो के नारियल की दीवार से बनी है मरही माता का दिव्य धाम, बिलासपुर, (छ. ग)marhi mata mandir bhanwar-tonk bilaspur

( नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे )

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको बिलासपुर जिले के प्रसिद्ध मरही माता मंदिर के बारे जानकारी देने वाला हूं। ये जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट जरूर करे।

मरही माता मंदिर भनवारटंक, बिलासपुर
पता- बिलासपुर कटनी रेल रुट पर जंगलो के बीच में बसा एक छोटा सा गांव भनवारटंक  मरही माता की महिमा की वजह से प्रसिद्ध हैं।
 
 
बलि प्रथा- माँ मरही माता के दरबार में मन्नत पूरी होने पर बकरे का बलि दिया जाता है। मन्नत को लेकर श्रद्धालु माता जी को श्रीफल, चूड़िया, चुनरी व  रक्षासूत्र बांधते है।
आश्चर्यजनक है मरही माता का मंदिर – न्नतो  के नारियल  की दीवार से बनी है मरही माता का दिव्य धाम ।
            मन्नतो  के नारियल  की दीवार से बनी है मरही माता का दिव्य धाम, बिलासपुर, (छ. ग)
अन्य मूर्ति-   माँ मरही माता के मन्दिर प्रांगण में हनुमान जी, भैरव बाबा की मूर्ति है।

 

 ब्रिटिश काल का है यह मंदिर – माँ मरही माता का मंदिर ब्रिटिश काल का बताया जाता है।

नवरात्रि पर्व पर –  मरही माता के मंदिर में नवरात्रि पर्व पर हजारो की संख्या में लोग माता रानी के दर्शन करने के लिए आते है।नवरात्रि में माँ मरही माता के मंदिर के सामने से गुजरने वाली ट्रेन के पहिये अपने आप रुक जाते है उस समय भक्तो की भारी भीड़ रहती  है।

संतान सुख की प्राप्ति-  माँ मरही माता के दरबार से कोई खाली हाथ नहीं जाता मरही माता के दरबार में संतान सुख की प्राप्ति होती है ।
          मन्नतो  के नारियल  की दीवार से बनी है मरही माता का दिव्य धाम, बिलासपुर, (छ. ग)
जस गीत का आयोजन – माँ मरही माता के मंदिर में चैत नवरात्रीे के समय जस गीत व जगराता का आयोजन होता है।
 
 
माता करती है रक्षा –  बिलासपुर कटनी ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों की मरही माता स्वयं रक्षा करती है।


माता जी का वार- माँ मरही माता के दरबार में शनिवार व रविवार को हजारो की  संख्या में श्रद्धालु यहाँ मन्नत लेकर पहुँचते है।
 
बाबा जी का कुटिया- माँ मरही माता के प्रांगण में बाबा जी का कुटिया है । यहाँ बारह महीने धुनि जलते रहता है और वहाँ रक्षा सूत्र बंधाते है।
 
 
मोबाईल नेटवर्क की समस्या-  माँ मरही माता का मंदिर जंगलो के बीच में बसे होने के कारण यहाँ श्रद्धालुओ को मोबाईल नेटवर्क की समस्या होती है।
 
 
            माँ मरही माता आपकी मनोकामना को पूरी करे।                   !!  जय माता दी !!
हमने यूट्यूब में मरही माता का वीडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को लाईक और सब्सक्राइब जरूर करे
 
Youtube Channal – dk808

यह पोस्ट आप को अच्छा लगे या इसके बारे में अधिक जानकारी है तो नीचे कॉमेंट करके जरूर बताए।

जय जोहार जय छत्तीसगढ़

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post, I am going to give you information about the famous Marhi Mata temple in Bilaspur district. If you like this information, then please comment.

Marhi Mata Temple Bhanwartank, Bilaspur

Addresss-A small village in the middle of the jungles on the Bilaspur Katni rail route, Bhanwartank is famous for the glory of Marhi Mata.

Sacrificial practice- Goat is sacrificed in the court of Mother Marhi Mata on completion of vow. The devotees tie motherfruit, bangles, chunri and Rakshasutra to the mother in connection with the vow.

The temple of Marhi Mata is amazing – the divine abode of Marhi Mata is made from the wall of coconut of Mannato.

Other idol – There is an idol of Hanuman ji, Bhairav ​​Baba in the temple of Mother Marhi Mata.

This temple belongs to the British period – the temple of Maa Marhi Mata is said to be of the British period.

On Navratri festival – thousands of people come to Marahi Mata’s temple to see Mata Rani. There is a huge crowd ofThe attainment of child happiness- No one goes empty-handed from the court of Mother Marhi Mother, there is child happiness in the court of Marhi Mother.

Organizing Jas Geet – Jas Chaitra and Jagrata are organized in the temple of Maa Marhi Mata at the time of Chait Navaratri.

Mata protects- Marhi Mata protects the passengers traveling by the Bilaspur Katni train.

Mother’s War- Thousands of devotees reach here on Saturday and Sunday in the court of Mother Marhi Mata with a vow.

Baba Ji’s hut – Mother Marhi is Baba Ji’s hut in the mother’s courtyard. Here twelve months the dhoti keeps on burning and there is the Raksha Sutra tied.tied.

Problem of mobile network- Due to the temple of Maa Marhi Mata being settled in the middle of the forest, devotees have a problem of mobile network here.

Mother Marhi Mata should fulfill your wish.

!! Hail mother Goddess !!

We have made a video of Marhi Mata in YouTube, watch it and like and subscribe to the channel.

Youtube Channal – dk808

you like this post or know more about it, then please comment by commenting below. Jai johar jai Chattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा और अन्य रहस्यमय जगह के बारे इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!