बत्तीस खम्भों वाला बत्तीसा मंदिर, बारसुर(छ. ग) Battisa mandir barsur chhattisgarh

  ( नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे )

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको बारसूर के बत्तीसा मंदिर के बारे जानकारी देने वाला हूं। ये जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट जरूर करे।        

 बत्तीसा मंदिर, बारसुर, दंतेवाड़ा

पता- बत्तीसा मंदिर छत्तीसगढ़ राज्य के दंतेवाड़ा ज़िले के बरसुर नगर में स्थित है। यह जगदलपुर से  भोपालपटनम रोड पर स्थित गीदम से 18 किलोमीटर दूरी पर स्थित हैं बत्तीसा मंदिर ।

 

गर्भ गृह में विराजमान –  बत्तीसा मंदिर के गर्भ गृह में द्वितल वाली वर्गाकार  ऊँची काले पत्थर की बनी ओपयुक्त जालधारी पर शिवलिंग प्रतिष्ठापित हैं।मण्डप में शिवलिंग की ओर मुख करके नंदी बैठा हैं। नंदी की प्रतिमा बहुत सुंदर एवं सजीव हैं।

11-12वीं शताब्दी का मंदिर – बत्तीसा मंदिर 11-12 वीं शताब्दी ईस्वी में छिंदक नागवंशीय राजाओ के राजत्कवकाल में हुआ हैं।

 

अद्भुत हैं यह मंदिर – बत्तीसा मंदिर चतुर्भज की आकृति में बत्तीस खम्भों पर खड़ा है।मंदिर में बत्तीस स्तम्भ हैं, जो आठ पंक्तियों में एकदम सावधानी से उकेरे गए बड़े-बड़े केवल पत्थरों के हैं।

बत्तीस खम्भों वाला बत्तीसा मंदिर, बारसुर(छ. ग)

दो गर्भ गृह वाला प्राचीन मंदिर – बत्तीसा मंदिर दो गर्भगृह वाले प्राचीन जोड़ा मंदिरों का सुंदर नमूना हैं।

 

संरक्षित स्मारक – बत्तीसा मंदिर को छत्तीसगढ़ राज्य द्वारा संरक्षित व दर्शनीय स्मारक है।

 

हमने यूट्यूब में बत्तीसा मंदिर, बारसूर का वीडियो बनाया हैं जिसे देखे और चैनल को सब्सक्राइब कर दे
     Youtube channel – hitesh kumar hk

यह पोस्ट आप को अच्छा लगे या इसके बारे में अधिक जानकारी है तो नीचे कॉमेंट करके जरूर बताए।

      जय जोहार जय छत्तीसगढ़

  Hello friends my name is Hitesh Kumar In this post, I am going to give you information about Battisa temple of Barsoor. If you like this information, then please comment.

   Battisa Temple, Barsur, Dantewada                 

Address- The Battisa temple is located in Barsura town of Dantewada district of Chhattisgarh state. It is located at Battisa Temple, 18 km from Geedam, located on Bhopalpatnam Road from Jagdalpur.

Situated in the sanctum sanctorum – In the sanctum sanctorum of the Battisa temple, the shivlinga is installed on a double-faced, opal jaladhari made of double-sided stone. Nandi is seated facing the Shivlinga in the mandapa. The idol of Nandi is very beautiful and lively.

11-12th century temple – Battisa temple dated to 11-12th century AD during the reign of Chhindaka Nagavan kings.

This temple is amazing – the Battisa temple stands on thirty-two pillars in the shape of a quadrilateral. The temple has thirty-two pillars, which are of only large stones, carefully carved in eight rows.

Ancient temple with two sanctum sanctorum – Battisa temple is a beautiful specimen of ancient couple temples with two sanctum sanctorum.

Protected Monument – The Battissa temple is a protected and visible monument protected by the state of Chhattisgarh.

We have made a video of Battisa Temple, Barsoor in YouTube, watch it and subscribe to the channel.

YouTube channel – hitesh kumar hk

If you like this post or know more about it, then please comment by commenting below. Jai johar jai Chattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!