जैन धर्म के तीन तीर्थकार को समर्पित है यह भांड देवल मंदिर, आरंग, रायपुर (छ.ग)

                     भाण्ड देवल मंदिर, आरंग(रायपुर)

              जैन धर्म के तीन तीर्थकार को समर्पित है यह भांड देवल मंदिर, आरंग, रायपुर (छ.ग)
                

पता  – यह रायपुर से संबलपुर जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग  संख्या  6 पर रायपुर से 37 कि.मी दूरी पर स्थित प्राचीन नगरी आरंग है ।

गर्भ गृह – भाण्ड देवल मंदिर के गर्भ गृह में तीन तीर्थकार कि अति सुंदर चमकदार कायोत्सर्ग मुद्रा वाली सुन्दर प्रतिमाएं अधिष्ठित  है।इस मंदिर में भाई- बहन एक साथ प्रवेश नहीं करते ऎसी जनश्रुति है।

जैन धर्म को समर्पित है यह मंदिर – यह भाण्ड देवल मंदिर जैन धर्म को समर्पित है।

मंदिरों की नगरी – यहां ऎतिहासिक एवं पुरातत्विक महत्व के अनेक मंदिर स्थित है। इसलिए आरंग को मंदिरों कि नगरी कहा जाता है।इस नगर का उल्लेख पुराणों में भी मिलता है।

जैन धर्म के तीन तीर्थकार को समर्पित है यह भांड देवल मंदिर, आरंग, रायपुर (छ.ग)

आरंग के प्रमुख मंदिर – भाण्ड देवल मंदिर, बाघ देवल मंदिर, महामाया मंदिर, पंचमुखी महादेव मंदिर, हनुमान मंदिर आदि आरंग के प्रमुख दर्शनीय मंदिर है।

नागरशैली में निर्मित-  यह भाण्ड देवल का जो मंदिर वह नागरशैली में निर्मित मंदिर है।

जैन धर्म के तीन तीर्थकार को समर्पित है यह भांड देवल मंदिर, आरंग, रायपुर (छ.ग)

जैन तीर्थकार की प्रतिमाएं – भाण्ड देवल से अनेक जैन तीर्थकार की प्रतिमाएं प्राप्त हुई है।

9 वी से 10 वीं शती ई में निर्मित मंदिर – कला कि दृष्टी से 9 वी से 10 वीं शती ई में हैहय वंशीय शासको द्वारा निर्मित माना जाता है

पश्चिम मुखी मंदिर  – भाण्ड देवल का जो मंदिर वह  पश्चिम मुखी मंदिर है और यह पश्चिम मुखी  मंदिर ऊंची जगती पर निर्मित है|

जैन धर्म के तीन तीर्थकार को समर्पित है यह भांड देवल मंदिर, आरंग, रायपुर (छ.ग)

दंतेश्वरी मंदिर – भांड देवल मंदिर के बाहर में मां आदिशक्ति दंतेश्वरी देवी का मंदिर हैं और गर्भ गृह में दंतेश्वरी देवी का देवी विराजमान हैं।

पुरातत्विक विभाग की देख रेख में – भाण्ड देवल का मंदिर हैं वह
पुरातत्विक विभाग की देख रेख सुरक्षित है।

मंडप एवं मुखमंडल – भाण्ड देवल मंदिर के मंडप एवं मुखमंडल
का आधार से ऊपर का भाग विनष्ट हो चूका है।

सुन्दर मूर्तियां – भाण्ड देवल मंदिर के दीवारों में बहुत ही सुन्दर मूर्तियां उकेरी गई है। मंदिर कि बाह भित्ति अधिष्ठित से लेकर आमलक तक उरूश्रृंगो  व कुलिकाओ से अलंकृत  है| जिसमे जैन  तीर्थकार  यक्ष – यक्षिणी व देव प्रतिमाये  के अतिरिक्त अलिंगनरत ,मिथुन मूर्तियों का भी उत्कीर्णन किया गया है|

जैन धर्म के तीन तीर्थकार को समर्पित है यह भांड देवल मंदिर, आरंग, रायपुर (छ.ग)

अधिष्ठान  भाग कि सज्जा  पांच पट्टिकाओ  हंसवाली ,नृत्य -संगीत के दृश्य, कीर्तिमुख एवं ज्यामिति अभीप्राय के अंकनो से युक्त  है|

हमने यूट्यूब में भाण्ड देवल मंदिर का वीडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को सब्सक्राइब जरूर करे।
          Youtube channel – hitesh kumar hk

भाण्ड देवल मंदिर का ड्रोन शॉर्ट वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करे –                 Youtube channel – Dk 808

                      

यह पोस्ट आपको अच्छा लगा है तो इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करे और आप इस मंदिर के बारे में जरूरी जानकारी जानते है तो हमें कमेंट बॉक्स में नीचे कमेंट कर सकते हो।
                 
                   🙏 जय जोहार जय छत्तीसगढ़ 🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *