कैलाश गुफा जगदलपुर, बस्तर छत्तीसगढ़ kailash gufa jagdalpur bastar chhattisgarh

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हैलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको बस्तर के कैलाश गुफा के बारे जानकारी देने वाले हूं। जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे।

कैलाश गुफा,कांकेर वैली नैशनल पार्क,बस्तर

कैलाश गुफा की दूरी – दोस्तो कैलाश गुफा कांकेर वैली नैशनल पार्क के अन्तर्गत आता है यह जगदलपुर से लगभग 40 की मी की दूरी में है।।

टिकट और जिप्सी – कैलाश गुफा और कोटमसर गुफा तक जाने के लिए आप को जिप्सी बुक करना होता है एक जिप्सी का चार्ज 1500 तक होता है जिसमें 6 लोग जा सकते है। और किसी तरह का जानकारी के लिए आप टिकट काउंटर में पता कर सकते है।

कांकेर वैली नैशनल पार्क का सबसे प्राचीन गुफा – दोस्तो कांकेर वैली नैशनल पार्क का सबसे प्राचीन गुफा कैलाश गुफा को कहा जाता है जिसे हजारों साल पुराना बताया जाता है।

गुफा की खोज – दोस्तो कैलाश गुफा की खोज कांकेर राष्ट्रीय उद्यान के अंतर्गत 22 मार्च 1993 को कृष्ण अवतार, पार्क परिक्षेत्र अधिकारी रोशनलाल साहू, गेम सुपरवाइजर आर यादव, गेम रक्षक सोनसाय, राजाराम शिवहरे, सीताराम चौकीदार ने किया था।

कैलाश गुफा – कैलाश गुफा तक पहुंचने के लिए आप को सीढ़ी की मदद से उपर चढ़ना होता है उपर जाने पर आप को गुफा का छोटा सा मुख देखने को मिलता है, जिसमे छोटा सा गेट लगा है दोस्तो कैलाश गुफा कोटमसर गुफा जैसा लगता है जिसमे सीढ़ी की मदद से नीचे जान होता है गुफा में बना बड़ा बड़ा चेंबर जिसमे बने सुंदर सुंदर आकृति जो कैलाश पर्वत का याद दिला देता है जिस तरह कैलाश पर्वत बर्फ से ढका सफेद चादर ओढ़े दिखाई परता है वैसे ही कैलाश गुफा का दृश्य होता है। इसके चुना पत्थर के चट्टाने सैलानीयो को मंत्र मुग्ध कर देती है।

गुफा की विशेषता – गुफा के अंदर स्लेटमाइट व् स्लेटराइट के स्तम्ब बने हुए है जो गुफा की शोभा बढ़ाते है, ये स्तम्भ देखने में चमकदार व् कई आकृति में बने हुए है।

गुफा के अंदर तीन हॉल – दोस्तो कैलाश गुफा के अंदर तिन हॉल है, जिसके अंदर हजारो लोग एक साथ आ सकते है, इस गुफा की शोभा संगीत कक्ष बढाती है, कक्ष में स्लेट माइट से पत्थर से संगीत की आवाज आती है जो पर्यटको के लिए एक अचंभित करने जैसा है

गुफा की लंबाई – दोस्तो कैलाश गुफा की लम्बाई 250 मीटर व् गहराई 35 मीटर है जो आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करती है।

कैलाश पर्वत का सीन – कैलाश गुफा के अंदर प्रवेश करने पर आप को गुफा में चुना पत्थर की चट्टाने देखने को मिलती है चट्टानों से टपकने वाली पानी की बूंदे बहुत सारे शिवलिंग का निर्माण करतें है इसलिए इसे कैलाश गुफा कहा जाता है,

सावधानी – दोस्ती गुफा में जाने वक्त बहुत सारी सावधानियों का ध्यान रखना होता है।

1,गुफा में जाने के लिए गाईड के हेल्प जरूर लेना चाहिए।
2,जिनको सास की समस्या है उनको गुफा में नहीं जाना चाहिए क्यों की गुफा में अक्सीजन लेवल काम होता है।
3,गुफा में जाने वक्त आप के पास अच्छी लाइट का सुविधा होना बहुत जरूरी है।
4,गुफा के अंदर आप को जूते पहन कर जाना चाहिए जिसे वहा रहने वाले जीवों से आप का बचाव हो सके।
5, गुफा में जाने से पहले आप पानी और कुछ खाने का सामान जरूर रख ले।

6,अभी गुफाओं का अपनी नियम और शर्ते होते है उनका पालन भी जरूर करे।

नोट – दोस्तो ये सभी प्राकृतिक सम्पदा हमारी है और हमारा जिम्मेदारी है इसकी सुंदरता को बनाए रखना किसी भी स्थान को अपने घर जैसा समझे जैसे आप अपने घर में स्वच्छता रखते है उसी तरह यहां भी साफ सफाई का पूरा ध्यान रखे।

हमने यूट्यूब में कैलाश गुफा का वीडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल लाईक को सब्सक्राइब जरूर करे
Youtube channel – dk808

यह पोस्ट आपको अच्छा लगे या इसके बारे में जरूरी जानकारी है तो हमे कमेंट कर जरूर बताएं।

।।जय जोहार जय छत्तीसगढ।।

Friends, my name is Hitesh Kumar, in this post, I am going to give you information about the Kailash cave of Bastar. If you like the information, then please comment and share.

Kailash Cave, Kanker Valley National Park, Bastar

Kailash Cave Distance – Friends Kailash Cave comes under the Kanker Valley National Park, it is about 40 km from Jagdalpur.

Tickets and Gypsy – To get to Kailash Cave and Kotamsar Cave, you have to book a Gypsy. A Gypsy charges up to 1500 which can carry 6 people. And for any kind of information, you can find in the ticket counter.

Kanker Valley National Park’s Oldest Cave – Friends The oldest cave in Kanker Valley National Park is called Kailash Cave, which is said to be thousands of years old.

Cave Discovery – Friends Kailash Cave was discovered on March 22, 1993 under Kanker National Park by Krishna Avatar, Park Zone Officer Roshanlal Sahu, Game Supervisor R Yadav, Game Guard Sonsai, Rajaram Shivhare, Sitaram Chowkidar.

Kailash Cave – To reach Kailash Cave, you have to climb up with the help of a ladder, on going up you can see the small face of the cave, in which there is a small gate, Friends Kailash Cave looks like Kotamsar Cave in which the ladder With the help of this, there is a huge chamber made in the cave, which has a beautiful beautiful shape which reminds of Mount Kailash, just as the Kailash mountain is seen covered with snow covered white sheets, so is the view of Kailash cave. Its rock boulders fascinate the tourists.

Three Halls inside the cave – Friends Kailash is the three halls inside the cave, inside which thousands of people can come together. Is like a surprise.

Cave Length – Friends Kailash Cave is 250 meters long and 35 meters deep which attracts the visiting tourists.

Scene of Mount Kailash – On entering inside the Kailash cave, you get to see the rock of stone chosen in the cave, the drops of water dripping from the rocks create a lot of Shivling, hence it is called Kailash cave,

Caution – While going to the friendship cave, a lot of precautions have to be taken care of.

1, to go to the cave, guide must be taken.

2, Those who have a mother-in-law problem should not go to the cave, because oxygen level works in the cave.

3, It is very important that you have good light facilities while going to the cave.

4, You should go inside the cave wearing shoes that can protect you from the creatures living there.

5, Before going to the cave, you must keep water and some food items.

6, now caves have their own rules and conditions, they must also be followed.

Note – Friends, all these natural wealth is ours and it is our responsibility to maintain its beauty. Treat any place like your home as you keep cleanliness in your house, in the same way take care of cleanliness here too.

You have made a video of Kailash Cave in YouTube, watch it and subscribe to the channel

Youtube channel – dk808

If you like this post or you have the necessary information about it, then let us know by commenting.

Jai Johar Jai chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा और अन्य रहस्यमय जगह के बारे इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!