नैना सिंह धाकड़ छत्तीसगढ़ की महिला पर्वतारोही l Naina Singh Dhakad female mountaineer of Chhattisgarh

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हैलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको माउंट एवरेस्ट फतेह करने वाली छत्तीसगढ़ के नैना सिंह धाकड़ के बारे जानकारी देने वाला हूं। ये जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे।

पर्वतारोही,नैना सिंह धाकड़(छत्तीसगढ़)

माउंट एवरेस्ट फतेह करने वाली छत्तीसगढ़ की पहली महिला।

छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले की बेटी नैना सिंह धाकड़ ने अद्भुत कारनामा कर दिखाया है। पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ ने विश्व के सबसे ऊंचे शिखर माउंट एवरेस्ट और विश्व की चौथी ऊंची चोटी माउंट ल्होत्से पर भारतीय राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया है। यह बड़ी उपलब्धि हासिल करने वाली नैना छत्तीसगढ़ की पहली महिला हैं।

विश्व की सबसे ऊंची चोटी – बस्तर गर्ल पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट 8848.86 मीटर और माउंट लोत्से 8516 मीटर को फतह किया है।

नैना अब तक कई अभियानों को सफलतापूर्वक पार कर चुकी हैं। यह अभियान 60 दिनों का था। नैना के इस अभियान के लिए जिला प्रशासन और एनएमडीसी ने मदद की थी।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश – नैना सिंह धाकड़ ने 1 जून को यह उपलब्धि हासिल की और एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा दिया। इस दौरान उन्होंने सबसे ऊंची पर्वत चोटी से दुनिया को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश भी दिया।

निवास स्थान – बस्तर के जगदलपुर जिला मुख्यालय से दस किमी दूर बस्तर ब्लाक के ग्राम एक्टागुड़ा में एक गरीब परिवार की सदस्य नैना बीते दस साल से पवर्तारोहण के क्षेत्र में सक्रिय हैं।

पढ़ाई – नैन सिंह धाकड़ ने जगदलपुर स्थित महारानी लक्ष्मीबाई कन्या हायर सेकंडरी स्कूल से हायर सेकंडरी और बस्तर विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई करने के बाद वह 2009 में पर्वतारोहण के क्षेत्र में जाने का फैसला किया।

प्रेरणा – इसकी प्रेरणा उसे राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े रहने के दौरान मिली।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने दिया बधाई – नैना सिंह धाकड़ की इस उपलब्धि की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सराहना की है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की गौरव, बस्तर की बेटी पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ द्वारा विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट फतह करने पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं। उन्होंने नैना के उज्जवल भविष्य की कामना की। साथ ही कहा कि नैना ने अपने दृढ़ संकल्प, इच्छाशक्ति तथा अदम्य साहस से यह कर दिखाया है।

यह पोस्ट आपको अच्छा लगे या इसके बारे में जरूरी जानकारी है तो हमे कमेंट कर जरूर बताएं।

।।जय जोहार जय छत्तीसगढ।।

Hello friends my name is Hitesh Kumar in this post I am going to give you information about Naina Singh Dhakad of Chhattisgarh who climbed Mount Everest. If you like this information then do comment and share.

Mountaineer, Naina Singh Dhakad (Chhattisgarh)

First woman from Chhattisgarh to scale Mount Everest.

Naina Singh Dhakad, daughter of Bastar district of Chhattisgarh has done amazing work. Mountaineer Naina Singh Dhakad unfurled the Indian national flag on the world’s highest peak Mount Everest and the world’s fourth highest peak, Mount Lhotse. Naina is the first woman from Chhattisgarh to achieve this big achievement.

World’s highest peak – Bastar girl mountaineer Naina Singh Dhakad has scaled the world’s highest peak Mount Everest 8848.86 meters and Mount Lhotse 8516 meters.

Naina has successfully crossed many missions till now. This campaign was of 60 days. The district administration and NMDC had helped for this campaign of Naina.

Message of Beti Bachao Beti Padhao – Naina Singh Dhakad achieved this feat on June 1 and hoisted the tricolor on Everest. During this, he also gave the message of Beti Bachao-Beti Padhao to the world from the highest mountain peak.

Residence – Naina, a member of a poor family in village Actaguda of Bastar block, ten km from Jagdalpur district headquarters of Bastar, has been active in the field of mountaineering for the past ten years.

Education – Nain Singh Dhakad decided to go into mountaineering in 2009 after graduating from Maharani Laxmibai Kanya Higher Secondary School in Jagdalpur and higher secondary from Bastar University.

Prerna – He got his inspiration while being associated with the National Service Scheme.

Chief Minister of Chhattisgarh congratulated – Chief Minister Bhupesh Baghel has appreciated this achievement of Naina Singh Dhakad. He said that the pride of Chhattisgarh, Bastar’s daughter mountaineer Naina Singh Dhakad congratulated and bestowed her on the world’s highest peak Mount Everest. He wished Naina a bright future. Also said that Naina has done this with her determination, willpower and indomitable courage.

If you like this post or have important information about it, then definitely tell us by commenting.

Jai johar jai chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!