स्वयं भू है माता महामाया की मूर्ति , कुम्हारी (रायपुर)

                      माँ महामाया मंदिर , कुम्हारी
स्वयं भू है माता महामाया की मूर्ति , कुम्हारी (रायपुर)
पता- यह दुर्ग से लगभग 22  किलोमीटर की दुरी पर स्थित है कुम्हारी का प्रसिद्ध माँ महामाया मंदिर।
प्रवेश द्वार- माँ महामाया मंदिर  के  प्रवेश द्वार के बाहर  में आपको दो सिंह दिखाई देगा।

           स्वयं भू है माता महामाया की मूर्ति , कुम्हारी (रायपुर)

मुख्य मंदिर –  कुम्हारी के प्रसिद्ध माँ महामाया मंदिर के गर्भगृह में ही विराजमान है  माँ महामाया देवी  देखने से लगता है की माँ महामाया की प्रतिमा  का  स्वरूप ईसान कोण में विराजमान है।

          स्वयं भू है माता महामाया की मूर्ति , कुम्हारी (रायपुर)    

मंदिर प्रांगण में अन्य मूर्ति- माँ महामाया मंदिर में दुर्गा, कालभैरव, राधा कृष्ण, शिवलिंग, हनुमान जी, शनिदेव, और रामजानकी का मंदिर है।

अखण्ड ज्योति कलश- कुम्हारी के प्रसिद्ध माँ महामाया मंदिर में चैत व कुंवार नवरात्रि में अखण्ड ज्योति कलश का महत्व है।


नवरात्रि पर्व पर- कुम्हारी के प्रसिद्ध  माँ महामाया मंदिर में नवरात्रि के पंचमी को माँ महामाया देवी  को आभूषणों से सजाया जाता है।जिसे देखने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालु दुर- दूर से आते है।

आश्चर्यजनक है कुम्हारी का महामाया मंदिर-  माँ महामाया मंदिर में माँ महामाया के पैरों  के नीचे में विराजमान है महादेव की प्रतिमा जिसे कुछ ही लोग ही जानते है।


भंडारे का आयोजन – नवरात्रि के उत्सव पर माँ  महामाया मंदिर  में भंडारे का आयोजन किया जाता है। जिसमे भारी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित होते है।


जलकी या तालाब- माँ महामाया मंदिर के  प्रांगण से कुछ दूर में है जलकी जिसे तालाब भी कहते है  जिसमे कमल का फूल बारिश के समय में और भी मन को मोह लेती हैं। 
मंदिर का इतिहास –  माँ महामाया देवी स्वयंभू है स्वपन के आधार पर  माँ इस जगह में प्रगट हुई पहले इस जगह में  घना जंगल हुआ करता था लोग यहाँ आने से डरते थे।पहले समय इस मंदिर को छोटा सा झोपडी नुमा बनाया गया था धीरे – धीरे माता जी की कृपा से यह मंदिर का विकास हुआ है। माँ महामाया देवी की  प्रतिमा ईसान कोण में है। पुराणों में कहते है की  जो मूर्ति ईसान कोण की तरफ होती है उसे तीर्थ का महत्व  मिलता है।



      मां महामाया देवी आपकी मनोकामना को पूरा करे।                          !!  जय माता दी !!

हमने यूट्यूब में माँ महामाया देवी, कुम्हारी का वीडियो बनाया है जिसे देखे और  चैंनल को सब्सक्राइब जरूर कर दे।       Youtube channel –  Hitesh kumar hk
यह पोस्ट आपको अच्छा लगा है तो हमें कमेंट बॉक्स में नीचे कमेंट कर सकते हैं।

                            !!  धन्यवाद !!

4 thoughts on “स्वयं भू है माता महामाया की मूर्ति , कुम्हारी (रायपुर)”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

52 वां सक्ती पीठ माना जाता है मां दंतेश्वरी का मंदिर , दंतेवाड़ा (बस्तर) छ.ग52 वां सक्ती पीठ माना जाता है मां दंतेश्वरी का मंदिर , दंतेवाड़ा (बस्तर) छ.ग

                    श्री श्री 1008 मां दंतेश्वरी माई जी  स्थित- छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा  जिला के मुख्यालय में स्थित है ।  मां दंतेश्वरी

स्वयं भू नव देवी, शक्ति नगर,दुर्ग www.hiteshkumarhk.inस्वयं भू नव देवी, शक्ति नगर,दुर्ग www.hiteshkumarhk.in

                      स्वयं भू नव देवी, दुर्ग पता- यह छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में विराजमान हैं स्वयं भू नव देवी। दूरी

सिद्ध शक्ति पीठ मां चंडी, महासमुंद (छ.ग)सिद्ध शक्ति पीठ मां चंडी, महासमुंद (छ.ग)

                  चंडी माता मंदिर बिरकोनी, महासमुंद पता – महासमुन्द  जिला से लगभग 10 कि.मी कि दुरी पर  बिरकोनी  नामक गांव में स्थित है

14 वर्ष की उम्र से तपस्या में लीन है बाबा सत्यनारायण, कोसमनारा, रायगढ़(छ.ग)14 वर्ष की उम्र से तपस्या में लीन है बाबा सत्यनारायण, कोसमनारा, रायगढ़(छ.ग)

   महादेव के देवदूत बाबा सत्यनारायण कोसमनारा, रायगढ़ पता –कोसमनारा से 19 किलोमीटर दूर देवरी, डूमरपाली में एक स्थान बैठ हुआ है सत्यनारायण बाबा। हठयोगी – बाबा जी भीषण गर्मी

500 सौ साल पुराना हैं यह मंदिर हटकेश्वर महादेव रायपुर(छ. ग.)500 सौ साल पुराना हैं यह मंदिर हटकेश्वर महादेव रायपुर(छ. ग.)

                 हटकेश्वर महादेव मंदिर, रायपुर           पता- छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से कुछ ही दुरी पर खारून नदी के

छत्तीसगढ़ का प्रयाग, राजिम तीर्थ स्थल(गरियाबंद)छत्तीसगढ़ का प्रयाग, राजिम तीर्थ स्थल(गरियाबंद)

               राजिव लोचन मंदिर, राजिम         पता- यह रायपुर से लगभग 47 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। राजीव लोचन का भव्य

भूमि को फोड़ कर प्रगट हुई है मां मावली,मावलीभांठा तिलई, बेमेतरा(छ.ग)भूमि को फोड़ कर प्रगट हुई है मां मावली,मावलीभांठा तिलई, बेमेतरा(छ.ग)

         मावली माता मंदिर, मावलीभांठा तिलई, बेमेतरा पता –  छत्‍तीसगढ़ में बेमेतरा जिले बेरला ब्लॉक के ग्राम तिलई मावलीभांठा में स्थित है मां मावली माता का सुंदर

वन की देवी मां बंजारी, रायगढ़(छ.ग) banjari mata mandir Raigarhवन की देवी मां बंजारी, रायगढ़(छ.ग) banjari mata mandir Raigarh

     ( नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे )             हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट मैं आपको रायगढ़

खुदाई के दौरान मिला हैं रुद्र शिव की प्रतिमा , देवरानी जेठानी मंदिर, तालागांव(छ.ग.)खुदाई के दौरान मिला हैं रुद्र शिव की प्रतिमा , देवरानी जेठानी मंदिर, तालागांव(छ.ग.)

                देवरानी जेठानी मंदिर, तालागांव पता- बिलासपुर से 30 किलोमीटर दूर मनियारी नदी के तट पर ताला नामक स्थल पर अमेरी कांपा गॉव के

रहस्यों से भरी है रायपुर का दुधाधारी मठ, रायपुर (छ.ग)रहस्यों से भरी है रायपुर का दुधाधारी मठ, रायपुर (छ.ग)

                        दूधाधारी मठ, रायपुर पता – यह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर का ऐतिहासिक मठपारा पुरानीबस्ती मे स्थित दूधाधारी मठ है।