2018 मूवीस की फूल स्टोरी l 2018 movice Full Story in hindi

2018 मूवीस की फूल स्टोरी 

2018 मूवीस की फूल स्टोरी l 2018 movice Full Story in hindi

2018 मूवी दोस्तो आज जिस मूवी को आपके सामने एक्सप्लेन करने जा रहे है। वो कहने को बेशक एक मूवी है। लेकिन आपको एक हकीकत से रूबरू कराने वाली है। जिसे देखकर आप जहां भी रहते होगे खुशनसीब ही समझेंगे।इस मूवी का म्यूजिक, कैरेक्टर, स्क्रीन प्ले इन सभी को दर्शकों के सामने पेश किया गया है। आप ख़ुद को इस मूवी से प्यार हो जायेगा। इस एक्सप्लेसन को सुनने के बाद आप इसे न्यूज में खोजने लग जाएंगे।

जी हां दोस्तो हम बात कर रहें है हाल ही में रिलीज हुईं मलियालम मूवी जिसका नाम है 2018 येवरी वन इज ए हीरो इसकी imdb रेटिंग है 8.9 और बॉक्स ऑफिस में इसने 150 करोड़ की रिकॉर्ड तोड़ कमाई कर चुकी है। जी हां दोस्तो ये अभी तक की मलियालम इंड्रस्टी की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली मूवी भी बन चुकी है। आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने के बाद चलते है कहानी की ओर।

2018 मूवीस की फूल स्टोरी l 2018 movice Full Story in hindi

मूवी के शूरूआत में केरला स्टेट में साल 1924 में आए तूफान की जानकारी दी जाती है। उस साल नॉर्मल से 64% बारिश जून से सितंबर के बीच होने के कारण एक भयानक तभाही हुई थी। और ऐसा ही तूफान फिर से आया 2018 में जिसने सभी को हिला के रख दिया। और यही से इसकी कहानी शूरू होती है। जिसकी शूरूवात में एक एक करके इस मूवी के कैरेक्टर को दिखाया जाता हैं। जिसमे सबसे पहले देखते है अनूप को जो एक्स आर्मी ऑफिसर है। जो की आर्मी की जॉब छोड़ कर अपना घर वापस आ गया था। जो दुबई जाकर जॉब करना चहता था। वो सिर्फ़ अपनी वीजा का वेट कर रहा है। फिलहाल भाषी नाम के एक व्यक्ती का उसकी मदद करता रहता है क्योंकी भाषी की दोनो आंखे खराब है वो देख नही सकता है।

अनूप भाषी को आस पास हो रहे सभी चीजों की कमेंट्री करके बताता रहता है जिससे भाषी ये सब सुन के सभी चीजों को महसूस कर सके। तभी भाषी के कहने पर अनूप वॉट्सएप पर अपने दोस्त रमेशर को वीजा के लिए एक वाइस मैसेज भेजता है। रमेशर दरसल एक आईटी एक्सपेस्लिस्ट है। जो की आबूधाबी में जॉब करता है। यहां हमे पता चलता है की रमेश काफी समय से घर नही जा पाया है। इसलिए उसकी पत्नी और घर वाले उससे काफी नाराज रहते है। वो अपनी पत्नी अनु से बात करने की कोशिश करता है पर अनु के पिता फोन लेकर बोलते है अगर तुम्हे छुट्टी मिले तो यही आकर तलाक के दस्तावेज में साइन कर देना क्योंकि अनु अब तुम्हारे साथ नही रहना चाहती।

अब हम देखते है सेतु पति को जो की एक ट्रक ड्राईवर है। जब वह रास्ते में होता है तभी इसकी मां उसे कॉल करके कुछ कहने की कोशिश करती है। लेकिन उसे उल्टा सीधा बोलकर फोन कट कर देता है। तभी उसे अपने गांव जाते हुए रास्ते में एक कार खड़ी  दिखती है। वह कार एक न्यूज टीम की होती है। जिसकी रिपोर्टर का नाम होता है नूरा सेतुपति को गाड़ी का नंबर देख कर पता चलता है की ये गाड़ी केरला की है तो उस गाड़ी के शीश तोड़ते हुए अपना ट्रक निकाल लेता है। यहां हमे पता चलता है की वो तमिल से है और केरला से काफी नफरत करता है। नूरा अपनी कार को देखती है तो उसे काफ़ी गुस्सा आता है।और फाइनली क्रॉसिंग में सेतुपति को पकड़ लेती है। और उसे उसकी गलती के लिए सुनाने लगती है। लेकिन सेतु पति उसकी एक नही सुनता और अपनी इलाके की धमकी देकर निकल जाता है।

जब वो अपना घर पहुंचता है तो हम देखते है की घर में उसकी मां और एक बेटी होती है उसकी पत्नी इस दुनिया में नही होती है। इसलिए सेतुपति की मां ही उसकी बेटी का ख्याल रखती है।

लेकिन घर आते ही वो अपने बेटी के ऊपर बीना किसी कारण से चिल्लाना शुरू कर देता है। मतलब वो अपनी मां और बेटी से सीधे मुंह बात भी नहीं करती है।

वही दूसरी ओर नूरा को देखते है जो सेतूपति के गांव में ही न्यूज रिर्पोट कर रही होती है। दरअसल ये गांव पीने की पानी की समस्या से जूझ रहा होता है। यहां थोड़े से पानी के लिए लोगो को घंटो चलना पड़ता है इसी रिर्पोट को कवर आई थी।आगे हम निकसन नाम के लड़के को देखते है।जो मछुवारे की फैमिली से बिलांग करता है। लेकिन उसे मछली पकड़ने का काम बिल्कुल पसंद नहीं है। वो माडल बनना चहता है।साथ ही वो चाटी नाम के बड़े ही बिजनेस मैन की लड़की से प्यार भी करता है। तभी अगला सीन हमे काफी जोरदार दिखाई देता है। जहां निकसन के पिता मधाचन और उसका बड़ा भाई विस्टन बड़े ही बहादुरी के साथ अपनी जान की परवाह न करते हुए 3 लोगो को बारिश में समुद्र में डूबने से बचाता है।ये सीन देखकर आप समझ जाएंगे कि आगे मूवी में और कितना कुछ खतरनाक हो सकता है। जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है।

कहानी आती है 9 अगस्त 2018 में जहां नूरा हमे एक न्यूज कवर करते हुए दिखाई देती है। जहां 26 साल से बंद पड़े डैम को खोलने की तैयारी चल रही थी। लगातार महिने भर से हो रही बारिश से हालात को देखते हुऐ डिसीजन लिया गया था।

फिर सीन शुरू होता है ,2 हफ्ते पहले का जहां कहानी अनूप के पास जाती है। जहां अनूप के गांव में दिल्ली से एक स्कूल टीचर आती है। अभी हाल ही में अनूप ने वीजा के लिए अप्लाई किया था तो उसे लगता हैं की ये वही ऑफिसर है जो मेरे वीजा इंकवारी के लिए वहा आई है।

अगले सीन में हमें निकसन दिखाई देता है जो रात को घर पहुच कर अपने पिता और भाभी को उस लड़की के बारे में बताता है। और उनको लड़की की घर जाकर शादी की बात करने को बोलता है। यहां हम गौर करते है की निकसन अपने बड़े भाई विस्तन से सही ढग से बात नही करता। निकसन के पिता लड़की के घर जाने के लिए मान जाता है। दूसरे दिन सभी चाटी के घर पहुंचते है। लेकिन चाटी निकसन के पिता से कहता है।जब तेज बारिश होता है तो तुम लोगों को बाहर कैप लगाकर सोना पड़ता है। ये क्या लाइफ है आइसे घर में मै अपनी बेटी की शादी नहीं कर सकता। घर आकर मधाचन अपने हुई बेज्जती से काफ़ी परेशान होता है।तभी निकसन की भाभी वहा आकर उनका मनोबल बढ़ाती है। और सब को खाना खाने बोलती है। यहां एक लाईन बोलते है जो सच में दोस्तो मुझे काफी पसंद आया।रही बात बारिश होने पर कैप में रहने की उस आदमी को बोलने का कोई मतलब नहीं जिसने मुस्किलो का सामना ही नही किया हो।

अब सीन मंजू पर आती है। यहां पता चलता है की अनुप उसके बारे में क्या सोचता है। तो मंजू अनुप को बताती है की वो कोई वेरिफिकेशन ऑफिसर नही है। बल्कि एक टीचर है।तभी अनुप से आर्मी का जॉब छोड़ने का कारण पूछती है। फिल्मों को देखकर मुझे आर्मी में जानें का जुनून सवार हुआ था। लेकिन पता चला सुबह जल्दी उठना पड़ता हैं बहुत काम होता है। फिर भी मैं लगा रहा लेकिन एक दिन बराबर वाले कैंप में 2 फौजी को गोली मार दिया गया जिससे मैं डर गया।और वहा से भाग आया।

अब कहानी शुरू होता है 9 अगस्त 2018 सुबह 11 बजे से जिस समय उस डैम के 2 गेट को खोल दिया जाता है। फिर हर तरफ़ इसी बात की चर्चा होती है की डैम का पानी छोड़ दिया है। हमे कोशिश करना चाहिए की पानी हमारे घर तक ना पहुंच पाए।

इधर रमेसन की मां अपने बेटे से अनु के साथ चल रहे प्रॉब्लम के बारे में पूछती है।तो वो बीजी हूं बोलकर फोन कट कर देता हैं।उसके बाद रमेशन की मां सीधे अनु को फोन करके प्रॉब्लम के बारे में पूछ ही रही होती है। तभी बारिश के चलते रमेशन की मां का पैर फिसल जाता है।

इधर सेतुपति के घर उसका ओनर पहुंचता है और केरला में कुछ बम ले जाने को बोलते है और उसके बदले अच्छा advance भी देता है।जिसको देखकर सेतुपति इस काम को करने के लिए मान जाता है।अब वह जाते हुए अपनी मां को पैसे देता है। और कहता है मैं दो तीन दिन में वापस आ जाऊंगा मुझे बार बार call मत करना।जब ज़रूरत होगी तो मैं खुद कर लूंगा।

उधर अनूप और मंजू के बीच नजदीकियां बढ़ जाती हैं और साथ ही उनकी शादी भी तय हो जाती हैं।तो अब अनूप सभी को invitation देता हुआ घूमता रहता है।इधर तेज और लगातार बारिश की वजह से मथाचन और winston घर पर ही रहते हैं और मछली पकड़ने नहीं जा पाते।तभी Nixon घर पर कुछ सामान लेकर आता है।और उसके पास जो पैसे होते हैं उनसे वोअपना photo shoot कराने की बात करता है।ये बात उसकी family को बिल्कुल पसंद नहीं आती क्योंकि इस मुश्किल घड़ी में उसे पैसे घर में रखने चाहिए।लेकिन उनसे वो अपना शौक पूरा करना चाहता है।

अब कहानी में entry होती है एक और character कोशी की जो कि एक taxi driver है और इस समय airport पर एक foreigner couple को receive करने के लिए वहां आया हुआ है जिनको केरला घूमना था और अब वो उन foreigner couple को receive करके केरला घुमाने के लिए निकल पड़ता है।अब आगे जहां जहां वो जाता है, वहां सभी जगह high alert की वजह से उसे वापस भेज दिया जाता है। इधर अनूप plastic की pipe से एक board बनाता है। और उससे मछलियां पकड़ना शुरू कर देता है। वहां रमेशन को जब अपनी मां के बारे में खबर मिलती है तो वो घर के लिए निकल पड़ता है।लेकिन तेज बारिश के चलते उसकी flight को कोची की बजाए कोईएम्बटूर में land करा दिया जाता है।जिसके बाद उसे आगे का सफर train से करना पड़ता है।जहां उसकी दोस्ती अशोक नाम के एक आदमी से हो जाती है।

अब हमें वापस मथाचन की family दिखाई जाती है जो अपना सारा ज़रूरी सामान लेकर camp की ओर जाने की तैयारी करते हैं क्योंकि पानी कभी भी उनके पूरे घर को डूबा सकता था। तभी nixon अपने पिता से कहता है कि वह अपने photo shoot के लिए अपने दोस्त के घर कोची जा रहा है।

अब एक ओर जहां पूरा परिवार मुसीबत में था तब भी वह सिर्फ अपने बारे में सोच रहा था।अब यह देखकर Winston की उसके साथ बहस हो जाती है। जहां मथाचन nixon को एक ज़ोरदार थप्पड़ जड़ता है और उसे खरी खोटी सुनाने लगता है जिसके बाद nixon गुस्से में वहां से निकल जाता है।

आगे हमें canada CM को दिखाया जाता है जिन्हें एक meeting में बताया जाता है कि आने वाले दो से तीन दिन में खतरनाक तूफान आ सकता है। जिसमें काफी बड़े area में लोगों के घर डूब सकते हैं। जिसमें CM कहते हैं कि हमें public को panic ना करते हुए इस situation को handle करना होगा।उधर हर तरफ news पर बस उसी तूफान की चर्चा होने लगती है।साथ ही अगले चार दिनों के लिए electricity भी cut कर दी जाती है।

अब हमें साजी नाम के एक और character से introduce कराया जाता है जो अनूप के गांव से ही होता है और एक broadcast में job करता है आज उसकी बेटी का birthday होता है लेकिन cm के order के चलते अब सभी को घर जाने से रोक दिया जाता है। जिससे वो rescue team को हर जगह की सटीक जानकारी तेजी से पहुंचा सकें उस तरफ अब taxi driver कोशी को भी इस बात का पता चलता है कि तूफान तेज़ी से इस और आ रहा है और सभी जगह बंद कर दी गई हैं।खासकर tourist place पूरी तरह से बंद हो चुके हैं क्योंकि काफी beaches पूरी तरह पानी में डूब चुके हैं। उधर साजी के office में बात चलती है कि जो लोग camps में हैं। उन्हें हम खाना और दवाइयां helicopter के माध्यम से पहुंचा सकते हैं। लेकिन जो बच्चे ladies और बुज़ुर्ग बाढ़ में फ़ंसे हैं उनको बचाने के लिए हमें कुछ ऐसे वेलेंटियर चाहिए होंगे जो खाना pack करके उन तक पहुंचा सकें तभी साजी बोलता है कि क्यों ना हम safe केरला वाले WhatsApp group को request करें तो शायद हमें help मिल जाए ।

दरअसल उस समय एक सेव केरला करके WhatsApp group बना हुआ था जिसमें सभी एक दूसरे से इसी के regarding बातें करते रहते थे साजी के कहते ही officer इस idea को पास करता है।देखते ही देखते सैकड़ों लोग हेल्प के लिए अपने office के बाहर पहुंच जाते हैं।

उधर nixon कोची में अपने दोस्त के घर पहुँचता है तो उसे पता चलता है कि उसका दोस्त तो वहाँ है ही नहीं।ये सुनते ही nixon काफी परेशान हो जाता है।अब सेतुपति भी police से बचने के लिए अपने truck पर केरला flood relief का banner चिपकाकर आगे निकल जाता है। जिससे police बिना checking किए ही उसे आगे जाने देती है।

इस तरफ अनूप अपने दोस्तों के साथ सभी को बाढ़ से बचाने में लगा होता है तभी उसे वो taxi driver कोशी मिलता है जो मुन्नार जा रहे थे लेकिन पुल टूटने की वजह से अनूप कोशी और foreigner को अपनी board की मदद से अपने घर ले जाता है।

तभी चांडी अपने बेटे को call करता है जो अनूप का ही दोस्त होता है वो अनूप के साथ सभी को safely camp में पहुंचाने में help कर रहा था तभी चांडी कहता है जल्दी घर आ जाओ घर में पानी भरने लगा है हमें सारा सामान ऊपर shift करना होगा तब उसका बेटा कहता है कि papa हमें भी सभी के साथ camp में चलना चाहिए ताकि हम भी safe रह सकें तभी चांडी कहता है कि मैंने इतनाबड़ा घर इसलिए नहीं बनवाया कि हम camp में जाकर रहें तुम बस जल्दी घर आ जाओ।

दूसरी तरफ रमेशन जिस train से जा रहा था वह slip होने की वजह से वही रुक जाती है जिसके बाद वो अशोक के साथ एक सड़क के side में आ जाता है और फिर दोनों काफी लोगों से lift मांगने लगते हैं लेकिन कोई lift नहीं देता और रात हो जाती है। तभी सेतु पति के truck के आगे हार कर अशोक खड़ा हो जाता है तब finally सेतु पति का truck रुक जाता है फिर अशोक उसे request करता है कि मेरी बहन की तबीयत बहुत खराब है और मेरे दोस्त की मां की भी please हमें आगे तक छोड़ दो अब सेतु पति उन दोनों को lift देने के लिए ready हो जाता है।

उधर अपने plastic bag से जब अनूप सभी को camp तक पहुंचा रहा होता है तभी उसे एक pregnant lady मिलती हैं वो अब उसे भी लेकर camp तक पहुंचता है।

दूसरी तरफ orders के according अब एक और dam को open कर दिया जाता है।लेकिन तभी एक बड़ा सा पेड़ उसके रास्ते में आकर फ़ंस जाता है जिसकी वजह से अब पानी सीधा ना जाकर गांव के तरफ मुड़ जाता है।और देखते ही देखते गांव में आधे से ज़्यादा घर डूब जाते हैं।सब जगह जैसे हाहाकार मच जाता है।पूरी सरकार backfoot पर आ जाती है कि अब कैसे वो इतने सारे लोगों की जान बचाए।कैसी उन्हें ढूंढे?उसी समय मथाचन अपने बाकी दोस्त मछुआरों के साथ वहां अपनी अपनी नाव की मदद से सभी को ढूंढ ढूंढकर camp तक पहुंचाने का फ़ैसला करते हैं और अब ये खबर सभी news channel पर show होने लगती है। जिससे सभी को थोड़ा सा सुकून मिलता है।

तभी वहाँ nixon भी आ जाता है और अपने गाँव के लोगों की help करने लगता है।वहीं दूसरी तरफ जब मथाचन सभी के साथ लोगों को camp तक पहुंचा रहा होता है तभी चांडी भी अपनी family के साथ एक boat में बैठकर safe जगह पर जा रहा होता है और फिर मथाचन के सामने आने पर वो उसे हाथ जोड़कर माफी मांगता है।तब मथाचन ऊपर भगवान की तरफ इशारा करके उसकी तरफ हाथ जोड़ देता है।मतलब जिस नाव और camp की वजह से चांडी ने उसको जलील किया था आज उसी नाव से वो camp की ओर जा रहा था जिससे वो और उसका परिवार बच सके।

खैर अब कहानी आती है सेतुपति पर जहां अशोक एक जगह पर आकर उतर जाता है तभी रमेशन सेतुपति से उसका phone लेकर अनु को phone करता है। दरअसल अनु ने news में देखाथा कि वो train slip हो गई है जिससे रमेशन आ रहा था तभी से वो उसको लगातार phone कर रही थी।अब रमेशन की आवाज़ सुनकर उनको शांति मिलती है और ऐसा देखकर रमेशन के दिल में भी थोड़ी सी तसल्ली होती है।तभी वह अपनी मां से बात करता है जहां उसकी मां उससे रोते हुए उससे पूछती है कि कहाँ है मेरा बेटा अब ये देखकर सेतुपति सोचता है कि मैंने कभी भी अपनी माँ से ऐसे बात नहीं की।

फिर आगे जाकर दोनों रास्ते में एक hotel में रुकते हैं।तभी खाना खाते हुए TV पर news में वो देखते हैं कि केरला में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं।सब जगह लोग फ़ंसे हुए हैं, भूखे हैं, तभी एक औरत कहती है कि मैं बहुत अकेली हूं.मेरी बेटी hospital में फँसी हुई है पता नहीं क्या होगा?अब यह देखकर सेतूपति खाना छोड़कर वहां से चला जाता है और जो भी bomb के boxes वह लाया था, वो उनसभी को पानी में फ़ेंक देता है।

वहीं अब अनूप के गांव में एक आदमी अपने auto से लोगों को बाहर निकाल रहा होता है तभी भासी जो blind होता है उसे देखकर वो कहता है कि तुम वही रुकना तुम्हें लेने एक और गाड़ी आएगी अब भासी को ये idea नहीं होता कि कितनी बारिश है पानी कहां तक पहुंचा है तो बस चुपचाप उसकी बात को सुनकर अपने घर के gate के बाहर बैठकर गाड़ी के आने का wait करने लगता है।

वहीं साजी अपने गांव में एक helicopter भेजता है क्योंकि वहां एक pregnant lady थी जिसको immediately hospital में shift करना था अब helicopter वहां पहुंच तो जाता है लेकिन camp कहां लगा हुआ है उन्हें वो अंधेरे और पानी की वजह से ढूंढ नहीं पाते तभी अनूप जल्दी से काफी सारी टॉर्च को लेकर एक पेड़ पर चढ़ता है और वहां से signal देने की कोशिश करता है। फिर finally उन पायलेट को वो  कैप दिख जाता है लेकिन लैंडिंग के लिए जगह नहीं मिलने पर वो वापस जाने लगता है लेकिन अनूप कैसे भी उनको इसरा करता है। फिर वो कम्युनिकेशन सिग्नल भेजते है। फिर फाइनली अनुम उस प्रेगनेट लेडी को रस्सी की मदद से उस हेलीकॉप्टर तक पहुचा देता है। फिर उसके बच्चे को भी हेलीकॉप्टर तक पहुंचता है। यहां सभी लोग अनूप की बहादुरी की तारीफ करने लगते है।

जब रमेशन ट्रक से उतरता हैं तो अपना एक बैग सेतुपति के ट्रक में ही छोड़ तब सेतुपति उसे आवाज लगाता है तो रमेशन कहता है कि यह तुम्हारी बेटी के लिए है अब जब सेतु पति उसे open करता हैतो उसमें एक छोटी सी doll होती है। अपनी पूरी life में सेतु पति ने अपनी बेटी के लिए कोई भी gift नहीं लिया था।अब इसे देखकर वो तुरंत अपनी मां को call करता है और उनसे प्यार से बात करता है।साथ  ही वो अपनी बेटी से भी बात करता है।जो पहले तो बात करने में डरती है लेकिन जब सेतुपति उससे पूछता है कि मैं आपके लिए क्या लेकर आऊं बेटा?तो वो बड़े प्यार से कहती है कि आप सहीसलामत घर आ जाओ papa मुझे और कुछ नहीं चाहिए। ये सुनकर सेतु पति की आंखों में सिर्फ आंसू होते है। सच्चाई यही है दोस्तों, हम अपने पास जो है उसे तभी महसूस कर पाते हैं जब हम उनसे दूर चले जाते है।

अब कहानी वापस गांव में आ जाती है जहां हम वरगिस नाम की family को देखते हैं जिनका बेटा mentally थोड़ा disable होता है अब जब वरगिश उसकी wife अपने बेटे का ख्याल रख रहे होते हैं तभी उनके घर के अंदर भी अब पानी भरना शुरू हो जाता है अब जल्दी से वरगिस घर से बाहर निकलने की कोशिश करता है लेकिन unfortunately उसके घर के gate पर एक बड़ा सा पेड़ गिर जाता है जिससे वो gate ही block हो जाता है और वो घर से बाहर निकल ही नहीं पाते और क्यों कि वरगिस अनूप को जानता था क्योंकि वह अपनी शादी का card वरगिश को भी देने आया था तो वह अनूप को काफी बार call करने की कोशिश करता है लेकिन उसका phone ही नहीं लगता तभी हार कर वो अपनी छत को तोड़ना शुरू करता है जिससे वोअपने परिवार को बचा सकें तभी दूसरी तरफ अनूप को पता चलता है कि camp में वरगिस की फैमिली तो है ही नहीं तभी अनूप जल्दी सेउसके घर की तरफ बोट की मदद से जाने लगता है।

दोस्तो मैं आपको बता दूं यह एक ऐसा scene है जिसे हकीकत में आप वह सब देख रहे हो जिस समय लोगों ने सच में ये सब face किया था। तभी हम देखते हैं मधाचन को जो अपने छोटे बेटे nixon को सभी की help करते हुए देख proud feel करता है।क्योंकि अभी तक वो सभी की नज़रों में सिर्फ नकारा था और अब Nixon अपने भाई Winston के साथ मिलकर सभी की मदद में लग जाता है।

तभी माथाचन एक school की छत को देखने जाता है और वही दीवार गिरने की वजह से उसकी मृत्यु हो जाती है।

वही दूसरी ओर साजी अपने office में जब news में अपने गांव और घर को डूबते हुए देखता है जहां उसकी बीवी और बेटी का कोई अता पता नहीं था जिसको देखकर साजी के पैरो तले ज़मीन खिसक जाती है वहीं गांव में एक आदमी Nixon और Winston के पास आता है उनसे गिड़गिड़ाते हुए कहता है कि उसका छोटा भाई और उसका परिवार एक जगह फंसा हुआ है उसका पूरा घर एक जगह मिट्टी में धंस चुका please कोई मेरे साथ चलो तभी वह दोनों भाई और बाकी लोग उसके साथ चले जाते हैं और तभी हम उसके भाई और family को देखते हैं जो चुपचाप एक जगह पर खड़े होते हैं और बस रो रहे होते हैं क्योंकि उन्हें नहीं पता था कि कोई उन्हें बचाने आएगा भी या नहीं।

दोस्तों ये scene भी दिल को छू जाने वाला है सच में।खैर finally एक toy को देखकर वह घर को ढूंढ लेते हैं और उस family को बचा ही लेते हैं।अब यहां से हम चलते हैं वरगिस के घर की तरफ जहां दोनों मां बाप अपने बेटे को लेकर table पर खड़े होते हैं पानी उनकी गर्दन तक आ चुका था वह जैसे तैसे बस सांस ले रहे थे।उधर अनूप भी उनको ढूंढने उनके घर आता है तब वो देखता है कि घर तो पूरी तरह से पानी में डूब चुका है।वो बस वापस ही जा रहा था कि उस बच्चे के ऊपर एक छिपकली आ जाती है।जिसको देखकर वह ज़ोर ज़ोर से चीखने लगताहै और अनूप वह आवाज़ sun लेता है।

वह जल्दी से jump लगाकर पानी में जाता है और gate को देखता है जो पेड़ की वजह से lock था।फिर वो सीधा घर की छत पर जाता है जहां वो उसे तोड़ना शुरू करता है और दोस्तों यहां जब दोनों मां बाप अनूप की आवाज़ सुनते हैं तो जैसे समझो उनके ही नहीं हमारी जान में भी जान आती है अब अनूप बहुत ही मुश्किल से कैसे भी करके उन्हें वहां से बाहर निकाल ही लेता है।

खैर अब वह आगे जाता है उनको camp की तरफ लेकर तभी रास्ते में फाँसी का घर पड़ता है.अब अनूप उससे कहता है कि वही रुको मैं आता हूँ आगे पानी है, लेकिन वो अनूप की आवाज़ को सुनकर इतना ज़्यादा खुश होता है जैसे अब वो बस बच गया और जैसे ही वो अपना पैर आगे रखता है वो सीधा पानी में ही डूब जाता है अब जल्दी से अनुप पानी में jump लगाकर भासी को ऊपर करता है जहां वरजीस उसे देख लेता है और बोट पर ले लेता है।

लेकिन दोस्तों यहां आता है movie का सबसे ज़्यादा dangerous सीन चूकि भासी तो आ जाता है,लेकिन अनुप ऊपर नहीं आ पाता।अब वरगिस उसकी wife उसका बेटा और भासी अनुप अनुप चिल्ला कर रोने लगते हैं।मुझे भी लगा, movie में जैसे अनूप अब आएगा, अब आएगा लेकिन अफसोस, अनूप बाहर आ ही नहीं पाता।

अब अगली seen में हम केरला में नई सुबह देखते हैं,जहां बारिश थम चुकी थी जहां साजी अपने गांव में पहुंचता है और अपनी wife और बेटी को ढूंढने लगता है लेकिन काफी ढूंढने के बाद भी उसे कोई नहीं मिलता फिर वो उदास होकर एक जगह बैठ जाता है कि तभी उसकी बेटी उसे पुकारती है papa जिसके बाद साजी अपनी बेटी को गले से लगाता है और अपनी wife को देखकर खुश होने लगता है।

वही taxi driver कोशी उन foreigners को वापस airport पर drop करता हैं, जहां वो foreigners couple काफी emotional होने लगते हैं। वहीं Nixon अपनी photo shoot करते हुए अपने भाई के साथ boat में हाथ बंटाना भी शुरू कर देता है ।

और दोस्तों फिर आता है final scene मतलब पूरी movie एक तरफ और एक scene एक तरफ जहां भासी blind man अनूप कि कब्र के पास बैठा होता है। जहां हमें पता चलता है कि अनूप जब पानी में गया था तो भाषी को बचाते हुए उसका एक पैर पत्थरों के beach फ़ंस गया था वो बहुत कोशिश करता है लेकिन नहीं निकल पाता और finally उसकी वही मृत्यु हो जाती है। वहीं अब हम मंजू को देखते हैं जो उसकी कब्रों को देखकर आंखों में आंसू लिए वहां से निकलती है और गांव के बच्चे अनूप को रोज़ श्रद्धांजलि देने आते हैं क्योंकि अनूप ने अपनी जान पर खेलकर पता नहीं कितनो ही जान बचाई थी।

तो दोस्तों इसी के साथ होता है इस movie का the end हो जाता है।

दोस्तों, यह movie कुछ इस तरह दिखाई गई है कि आप हर पल को महसूस कर सकें अगर आप सिर्फ Hollywood को appreciate करते हैं तो इस south movie को देखिए जिसने हर पल को शीशे की तरह सामने प्रदर्शित कर दिया है और इसका एक message है कि जब भगवान अपना कहर उठाता है तो अमीर, गरीब, अच्छे बुरे सभी लोग बस एक ही side हो जाते हैं और बस एक ही चीज़ होती है कि कोई कैसे भी बस जान बचा ले।

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag