अद्भुत है मां सिया देवी मंदिर,बालोद(छ.ग)

                         सिया देवी मंदिर, बालोद
पता- छत्तीसगढ़  अंचल में दुर्ग संभाग के बालोद जिले, गुरुर तहसील से धमतरी मार्ग में ग्राम संकरा बालोद से (25किलोमीटर की दुरी ) से दक्षिण की ओर 7 किलोमीटर की दुरी पर देव स्थल ग्राम नारागांव स्थित है।

गर्भ गृह – माता सिया देवी गर्भ गृह में विराजमान है।और गर्भ गृह में प्रवेश निषेध है।

             
अद्भुत है मां सिया देवी मंदिर,बालोद(छ.ग)

धार्मिक पर्यटन स्थल- बालोद से लगभग 25किलोमीटर की दुरी पहाड़ी पर स्थित है सियादेवी का सुंदर मन्दिर।
अन्य मूर्ति- इसके आलावा इस मंदिर में शिव पर्वती, राम सीता लक्षमण,हनुमान,राधा कृष्ण, सियादेवी, भगवान बुद्ध, बूढ़ादेव की प्रतिमा विद्यमान है।
सिया देवी का प्राकृतिक  झरना   –   सिया देवी  झरना  दण्डकारण्य पर्वत से प्रारंभ होकर  झलमला  से होते हुए जंगल तथा वन मार्ग से लगभग 17 किलोमीटर की दुरी तय करता है।    

             अद्भुत है मां सिया देवी मंदिर,बालोद(छ.ग)

महादेव का स्थल- महादेव का पवित्र देव स्थल इसी स्थल पर  विराजमान हैं।

             अद्भुत है मां सिया देवी मंदिर,बालोद(छ.ग)

दो पहाड़ो के बीच जल स्रोत- प्राकृतिक  जल स्रोत दो पहाड़ो के बीच होंने के कारण और भी सुंदर प्रतीत होती है। पूर्व  दक्षिण से आने वाला झोलबहारा तथा दक्षिण पश्चिम से आने वाला तुमनाला का जल स्रोत और भी सुंदर लगती है।

झरने की ऊँचाई-  प्राकृतिक   झरने की ऊँचाई लगभग 50 फिट ऊंची है तथा चटटानों में गिरने के कारण और  भी मनोहर दृश्य प्रगट करती है।
आध्यत्म एवं पर्यटन स्थल- दुर्ग जिले के एक मात्र प्राकृतिक  जल प्रपात एवं गुफाओ  के कारण नारागांव में स्थित सियादेवी स्थल अध्यात्म एवं पर्यटन के रूप में प्रसिद्ध है।
            

रामायण काल का युग – ऐसा माना जाता है की त्रेता युग में भगवान राम,लक्षमण,सीता,वनवास काल में इस जगह पर आये थे।यहाँ माता सीता के चरण चिन्ह चट्टान पर दिखाई देती है।

                     माता आपकी मनोकामना को पूरा करे
                             !! जय माता दी !!
हमने यूट्यूब में सिया देवी मंदिर का विडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल की सब्सक्राइब जरूर कर दे।
यह पोस्ट आपको अच्छा लगा है तो हमें कमेंट बॉक्स में नीचे कमेंट कर सकते हैं

                             !!  धन्यवाद !!

     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *