आश्चर्यजनक है यह डोंगा पत्थर खल्लारी माता मंदिर ,भीमखोज ,महासमुंद(छ.ग)

               खल्लारी माता  मंदिर भीमखोज ,महासमुंद
पता- यह महासमुंद से 24किलोमीटर की दुरी पर स्थित है माँ खल्लारी माता का मंदिर।

प्राचीन नाम- खल्लारी का प्राचीन नाम खल्लवाटिका था।अब इस जगह को खल्लारी के नाम से जाना जाता है।

दुर्गा माँ का मंदिर-  पहाड़ के ऊपर विराजमान है माँ दुर्गा का मंदिर जिन्हें खल्लारी माता कहते हैं।
मनोकामना ज्योति –चैत व क्वार नवरात्रि में भक्तो के द्वारा मनोकामना ज्योति जलाई जाती है।देखते ही देखते पूरा वातावरण भक्ति मई हो जाता हैं।

भंडारा का आयोजन-  खल्लारी माता के दरबार में नव दिनों तक विशाल भण्डारा का आयोजन होता है।

कुल सीढ़ी- माँ खल्लारी माता के मंदिर में लगभग 844सीढ़िया चढ़ने के बाद  ही माता जी के दर्शन होते है।

मेले का भव्य आयोजन- माँ खल्लारी माता के मंदिर में चैत पूर्णिमा के दिन भव्य मेले का आयोजन किया जाता है ।

अन्य मूर्ति- माँ खल्लारी माता के मंदिर में श्री राम मंदिर, शिव मंदिर,जगन्नाथ मंदिर तथा काली माता की प्रतिमा विराजमान है।

किला का अवशेष-  खल्लारी में आज भी देखा जा सकता का किले का अवशेष तथा अनेक प्रकार से नक्कासीदार पत्थर के अवशेष तथा स्तम्भ दिखाई देता है।

मंडप नुमा खंडहर- एक प्राचीन मंडप नुमा खंडहर है जिसे लखेसरि गुंडी के नाम से जाना जाता है।

आश्चर्यजनक है यह डोंगा पत्थर- खल्लारी के पहाड़ की चोटी पर स्थित है यह डोंगा पत्थर जिस देखनेे से ऐसा लगता है की धक्का देने से यह पत्थर नीचे गिर जायेगा। लेकिन  ऐसा नहीं है यह पत्थर बड़ी मज़बूती के साथ एक स्थान  पर ठीक हुआ है।
आश्चर्यजनक है यह डोंगा पत्थर खल्लारी माता मंदिर ,भीमखोज ,महासमुंद(छ.ग)
भीम का पदचिन्ह- खल्लारी में भीम के विशाल पद चिन्ह हैं कहा जाता है। महाभारत  काल के भीम  इस पर्वत पर आये थे।

             खल्लारी माता आपकी मनोकामना को पूरा करे                                           !!जय माता दी!!

यह पोस्ट आपको अच्छा लगा है तो हमें कमेंट बॉक्स में नीचे कमेंट कर सकते हैं।  
                                !! धन्यवाद !!

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

2 thoughts on “आश्चर्यजनक है यह डोंगा पत्थर खल्लारी माता मंदिर ,भीमखोज ,महासमुंद(छ.ग)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!