प्राचीन पंचमुखी शिवलिंग, सरोना( छ.ग.) l shiv mandir sarona

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले के सरोना शिव मंदिर के बारे में जानकारी देने वाला हूं। ये जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर कर

             प्राचीन शिव मंदिर,सरोना           

           प्राचीन पंचमुखी शिवलिंग, सरोना( छ.ग.)

पता- यह राजधानी रायपुर से लगभग 7 किलोमीटर की दुरी पर बसा हैं सरोना का प्राचीन शिव मंदिर।

ऐतिहासिक मंदिर – 21वी सदी के ऐतिहासिक मंदिरों में शामिल है सरोना का प्राचीन शिव मन्दिर।

गर्भ गृह में विराजमान – मंदिर के गर्भ गृह में शंकर और पार्वती  की प्रतिमा तथा पंचमुख वाला प्राचीन शिवलिंग विराजमान हैं। इसलिए इसे पंचमुखी शिवलिंग कहा जाता हैं।

प्राचीन पंचमुखी शिवलिंग, सरोना( छ.ग.)

इस मंदिर के तालाब में हैं नथ वाली मछली –  सरोना के मंदिर परिसर में बनाया गया दो तालाब जिसमे हैं नथ वाली मछली। और कई कछुए भी हैं।

जलाशय का निर्माण  – सन् 1838 ईस्वी में मंदिर परिसर में  जलाशय का निर्माण कार्य हुआ।
प्राचीन पंचमुखी शिवलिंग, सरोना( छ.ग.)
मंदिर प्रांगण में अन्य मूर्ति – मंदिर प्रांगण में हनुमान जी की मूर्ति और गोस्वामी तुलसी दास का भी मंदिर हैं।

रामसेतु पत्थर- सरोना के शिव मंदिर में हैं राम सेतु का पत्थर जिसे मंदिर परिसर में संजोकर रखा गया हैं।

प्राचीन हैं यह शिव मंदिर –  सरोना का मंदिर 300 साल पुराना शिव मंदिर बताया जाता हैं।

सावन तथा शिवरात्रि पर्व पर – सरोना के शिव मंदिर में शिवरात्रि तथा सावन में भारी संख्या में श्रद्धालु यहां दर्शन करने के लिए आते हैं।

मंदिर की देखरेख – सरोना शिव मंदिर की देखरेख ठाकुर परिवार के सदस्य करता हैं।

सन्तान सुख के प्राप्ति हेतु – सरोना के शिव मंदिर में जल अर्पण , पूजा पाठ करने से मनोकामना पूरी होती हैं।

हमनें यूट्यूब में प्राचीन शिवलिंग, सरोना का विडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को सब्सक्राइब जरूर कर दे।

     Youtube channel – hitesh kumar hk

यह पोस्ट आपको अच्छा लगे या इसके बारे में जरूरी जानकारी है तो हमे कमेंट कर जरूर बताएं।

जय जोहार जय छत्तीसगढ़़

Hello friends my name is Hitesh Kumar in this post I am going to give you information about Sarona Shiv temple in Raipur district of Chhattisgarh. If you like this information then do comment and share

Ancient Shiva Temple, Sarona

Address- This ancient Shiva temple of Sarona is situated at a distance of about 7 km from the capital Raipur.

Historical Temples – The ancient Shiva temple of Sarona is included in the historical temples of the 21st century.

Situated in the sanctum sanctorum – In the sanctum sanctorum of the temple, the idols of Shankar and Parvati and the ancient Shivling with five faces are seated. That is why it is called Panchmukhi Shivling.

There are fish with nose in the pond of this temple – Two ponds built in the temple premises of Sarona, in which there are fish with nose. And there are many turtles too.

Construction of Reservoir – In the year 1838 AD, the construction work of Reservoir was done in the temple premises.

Other idols in the temple premises – In the temple premises there is also a temple of Hanuman ji and Goswami Tulsi Das.

Ram Setu stone – In the Shiva temple of Sarona, there is a stone of Ram Setu which has been kept in the temple premises.

This Shiva temple is ancient – The temple of Sarona is said to be 300 years old Shiva temple.

On the festival of Sawan and Shivratri – In the Shiva temple of Sarona, a large number of devotees come here on Shivratri and Sawan.

Maintenance of the temple – Sarona Shiv temple is maintained by the members of Thakur family.

For the attainment of children’s happiness – Offering water in the Shiva temple of Sarona, reciting worship fulfills the wishes.

We have made a video of ancient Shivling, Sarona in YouTube, which must be seen and subscribed to the channel.

Youtube channel – hitesh kumar hk

If you like this post or have important information about it, then definitely tell us by commenting.

Jai johar jai chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!