गुरुघासीदास बाबा की जन्मस्थली, गिरौदपुरी(छ. ग.)

                               गिरौदपुरी

पता– बलौदा बाजार से लगभग 40 किलोमीटर तथा बिलासपुर से लगभग 80 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है गिरौदपुरी धाम।

प्रमुख तीर्थ स्थल-गिरौदपुरी सतनामी समाज का प्रमुख तीर्थ स्थल हैं।

गुरुघासी दास का जन्म स्थान – गुरुघासी दास का जन्म  18 दिसम्बर 1756 को गिरौदपुरी में हुआ था।

गुरुघासीदास बाबा  की जन्मस्थली, गिरौदपुरी(छ. ग.)

पवित्र नगरी  – गुरुघासी दास की पवित्र नगरी गिरौदपुरी हैं।

गिरौदपुरी के प्रमुख दर्शनीय स्थल-गिरौदपुरी के दर्शनीय स्थलो में गुरु घासीदास की निवास स्थान, चरण कुण्ड, अमृत कुण्ड, छाता पहाड़ आदि प्रमुख हैं।

जैतखाम की ऊँचाई – गिरौदपुरी में बने जैतखाम की ऊँचाई 77 मीटर(243 फिट) हैं।

गुरुघासीदास बाबा  की जन्मस्थली, गिरौदपुरी(छ. ग.)

जैतखाम का निर्माण –गिरौदपुरी में बने जैतखाम का निर्माण क़ुतुब मीनार से भी ज्यादा ऊँचा जैतखाम बनने की योजना अजित जोगी सरकार ने की थी,लेकिन उसे रमन सिंह सरकार ने शुरू किया।


क़ुतुब मीनार से ऊँचा –क़ुतुब मीनार से भी ऊँचा हैं, गिरौदपुरी में बना यह जैतखाम।

गुरुघासीदास बाबा  की जन्मस्थली, गिरौदपुरी(छ. ग.)

मेले का आयोजन – यहाँ प्रतिवर्ष फाल्गुन मास की पंचमी से लेकर सप्तमी तक मेला लगता हैं।

सात स्तंभो पर आधारित – जैतखाम बनाने के लिए सात स्तंभो का उपयोग किया गया हैं।

गुरुघासीदास बाबा  की जन्मस्थली, गिरौदपुरी(छ. ग.)

सुन्दर दृश्य-  जैतखाम के ऊपर से देखने से एक सुंदर दृश्य बनता हैं  जिसे देखकर व्यक्ति अपने आप को यहाँ आने से नही रोक पाता हैं।

यूट्यूब चैनल में गिरौदपुरी धाम का वीडियो बनाया हैं जिसे देखे और चैनल को सब्सक्राइब जरूर करे।
              Youtube channel –  dk 808

यह पोस्ट आपको अच्छा लगा हैं तो हमे नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।
                              !! धन्यवाद !!

One thought on “गुरुघासीदास बाबा की जन्मस्थली, गिरौदपुरी(छ. ग.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *