महादेव गुफा,कांकेर वैली नेशनल पार्क,जगदलपुर Mahadev gufa jagdalpur chhattisgarh

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हैलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको महादेव गुफा,कांकेर वैली नेशनल पार्क,जगदलपुर के बारे जानकारी देने वाले हूं। जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे।

महादेव गुफा,कांकेर वैली नेशनल पार्क,जगदलपुर

दूरी – महादेव गुफा कांकेर वैली नैशनल पार्क के अंतर्गत आता है,जगदलपुर से इसकी दूर 40 की मी है।

महादेव गुफा – दोस्तो गुफा में प्रवेश करने पर आप को बड़ा से गुफा का मुख दिखाई देगा जो काफी सुंदर है गुफा में आगे बड़ने पर आप को बड़े बड़े चेंबर दिखाई देखे कही कही पर जाने का रास्ता काफी सकरा भी है गुफा के अंदर आप प्रकृति का सुंदर अनुभव कर सकते है। गुफा में आप को चुना पत्थर में बने कलाकृति देखने को मिलता हैं जिसे प्रकृति ने खुद बनाया है,यह गुफा कई मायने में कोटमसर और कैलाश गुफा से मिलता जुलता है और ये सभी गुफा कांकेर वैली नैशनल पार्क के अन्तर्गत आता है।

चुना पत्थर – गुफा में आप को चुना पत्थर की चट्टान दिखाई परती है। चट्टानों से टपकने वाली पानी की बूंदे सुंदर आकृति का निर्माण करती है।

बारिश में पानी से भरा होता हैं गुफा – सभी गुफा के तरह इस गुफा में पानी भरा होता है गुफा में पानी के भवर से गुफा के उपरी दिवारी में सुंदर आकृति बन जाते है।

शिवलिंग का निर्माण – दोस्तो जैस की गुफा का नाम ही महादेव गुफा है इस गुफा में टपकनें वाली पानी की बूंदों में चुना पत्थर के कण होते है जो लगातार टपकते टपकते अनेक आकृतियों के साथ यह शिवलिंग का भी निर्माण करते है इस लिए स्थानीय लोग इस गुफा को महादेव गुफा बोलते है।

नोट – दोस्तो ये सभी प्राकृतिक सम्पदा हमारी है और हमारा जिम्मेदारी है इसकी सुंदरता को बनाए रखना किसी भी स्थान को अपने घर जैसा समझे जैसे आप अपने घर में स्वच्छता रखते है उसी तरह यहां भी साफ सफाई का पूरा ध्यान रखे।

हमने यूट्यूब में महादेव गुफा का वीडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को लाईक और सब्सक्राइब जरूर करे
Youtube channel – dk808

यह पोस्ट आपको अच्छा लगे या इसके बारे में जरूरी जानकारी है तो हमे कमेंट कर जरूर बताएं।

जय जोहार जय छत्तीसगढ

Hello friends my name is Hitesh Kumar In this post, I am going to give you information about Mahadev Cave, Kanker Valley National Park, Jagdalpur. If you like the information, then please comment and share.

Mahadev Cave, Kanker Valley National Park, Jagdalpur

Distance – Mahadev Cave belongs to Kanker Valley National Park, 40 km from Jagdalpur.

Mahadev Cave – Friends upon entering the cave, you will see the face of the big cave, which is quite beautiful, when you move forward in the cave, you will see big chambers, where you can see the way to go somewhere. Can feel beautiful In the cave you get to see the artwork made in the stone chosen by nature itself, this cave resembles Kotamsar and Kailash Caves in many ways and all these caves are under Kanker Valley National Park.

Chuna stone – The rock of the stone you see in the cave is fallow. Water drops dripping from the rocks create a beautiful shape.

Caves are filled with water in the rain – Like all caves, this cave is full of water, due to the presence of water in the cave, the beautiful divis of the cave become beautiful in the upper part of the cave.

Construction of Shivling – The name of the cave of friends like Mahadev cave is in this cave. The droplets of water droplets consist of chosen stone particles which also make this Shivling with many shapes dripping continuously, so the locals make this cave. Mahadev is called Cave.

Note – Friends, all these natural wealth is ours and it is our responsibility to maintain its beauty. Think of any place like your home as you keep cleanliness in your house, in the same way take care of cleanliness here as well.

We have made a video of Mahadev Cave in YouTube, watch it and like and subscribe to the channel.

Youtube channel – dk808

If you like this post or you have the necessary information about it, then let us know by commenting.

Jai johar jai chhatttisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा और अन्य रहस्यमय जगह के बारे इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!