दुकालू यादव का जीवन परिचय l Biography of Dukalu Yadav

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको छत्तीसगढ के जसगीत सुर सम्राट दुकालू यादव जी के जीवन के बारे में जानकारी देने वाला हूं । ये जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे।

दुकालू यादव का जीवन परिचय

जन्म –दुकालू यादव का जन्म 1968 में रायपुर के रामसागर पारा के एक गरीब परिवार में हुआ था।

दुकालू यादव का पुराना गांव – सुर सम्राट दुकालू यादव का पुराना गांव उतई खपरी, दुर्ग है।

माता का नाम – दुकालू यादव के माता का नाम श्रीमती हीरो देवी यादव है।

पिता का नाम – दुकालू यादव जी के पिता का नाम श्री कमलू राम यादव जी है।

दुकालू यादव जी के पुत्र और पुत्री –दुकालू यादव जी के एक पुत्र और दो पुत्रियां है।

दुकालू यादव की शिक्षा – दुकालू यादव 8वी तक की पढ़ाई की और गरीबी से तंग होकर पढ़ाई छोड़ दी।

गायन का शौकीन – दुकालू यादव जी को बचपन से गाना गाने का बड़ा शौक है।

जसगीत सुर सम्राट – छत्तीसगढ़ के जसगीत सुर सम्राट आदरणीय दुकालू यादव जी को जसगीत सुर सम्राट की उपाधि प्राप्त है।

दुकालू यादव के गुरु – स्वर्गीय प्रेम जी दुकालू यादव के गुरु थे।

पहला कैसेट – दुकालू यादव जी का पहला कैसेट सन 1994 के समय में दुर्गा सिंगार था। यह गीत मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और उड़ीसा में बहुत धूम मचाया।

दुकालू यादव का पहला गाना – सुन ले मोर गोहर महामाई दुकालू यादव का जी पहला गाना था।

दुकालू यादव का पहला लिखा गीत – मोर शारदा मैया आए हाव तोर दुवार दुकालू यादव का पहला लिखा हुआ गीत था।

होली गीत – दुकालू यादव ने देवी जस गीत के अलावा बहुत से होली गीत भी गाया है ।

पुरूस्कार से सम्मानित – छत्तीसगढ़ शासन ने दुकालू यादव को बहुत से पुरूस्कार से सम्मानित किया है।

दुकालू यादव का बचपन – दुकालू यादव का बचपन काफी संघर्ष पूर्ण था। कई दिन भोजन नहीं बनने पर वह पसीये पीकर ही सो जाया करते थेl वह होटल में जाकर कप प्लेट धोने की नौकरी भी किया करते थे तो कभी राम कुंभ में रहने वाले निगम पेंटर के साथ लिपाई पोताई का भी काम किया करते थे।दुकालू यादव के पिता रामायण मंडली में बंशी वादक थे बचपन में अपने पिता के साथ रामायण मंडली और रामसत्ता में भी जाया करते और अपने पिता जी को देख कर उनका मन भी भाव भक्ति में लगने लगा। और धीरे धीरे दुकालू यादव ने अपने दोस्तो के साथ मिलकर गीत गाना शुरू किया, दुकालू यादव को आस पास के लोग छटटी के कार्यक्रम में गाने के लिए आमंत्रित करते थे। धीरे धीरे अब उनकी जस मंडली प्रतियोगिता में भी भाग लेने लगी। लेकिन अभी भी बहुत ही संघर्ष पूर्ण था लेकिन फिर उनकी मंडली बहुत ही परिश्रम करके धीरे धीरे आगे बढ़ती गई अब ये मंडली किसी भी प्रतियोगिता में जब भी भाग लेते इनका पहला या दूसरा स्थान निश्चित था। लोग इनके गाने को सुनकर मनमुग्ध होकर गाने का आनंद लेते थे अब सभी उनके दीवाने हो गए थे।

दुकालू यादव कड़ी मेहनत कर आज यहां तक पहुंचे है जो अपने आप में बेमिसाल है दुकालू यादव ने अपना नाम तो रौशन किया उसके साथ अपने छत्तीसगढ़ के नाम को भी गौरान्वित किया है।

दुकालू यादव के टॉप 10 जसगीत

1.आरती उतारव वो

2.देवी नमस्ते

3.दाई तोर आंखी ले बरसे पानी

4.मया पिरित के डोरी

5.तोला झुलना झुलावव दाई

6.कोरी कोरी नरियर

7. रन बन रन बन

8.मोर पांव में पढ़गे छाला

9.चलना जोत जलाबो

10.जोरव जोरव

दुकालू यादव के टॉप 10 फाग गीत

1.तोला रंग देहु ओ

2. कईसे कईसे रंग मा

3. मोला रंग रंग मा बोर दिए वो

4. कब होही मिलन मोर राधा के संग

5.होली के रंग म, रंग म

6. झन जा राधा होबे लाल लाल वो

7. महु ला बुला लेते राधा

8. तोर तन म

9. प्रेम रंग

10. आज होरी खेलहु राधा ओ तोर संग

यह जीवनी आपको कैसे लगा हमें कॉमेंट कर जरूर बताएं

जय जोहार जय छत्तीसगढ

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post I am going to give you information about the life of Jasgeet Sur Samrat Dukalu Yadav ji of Chhattisgarh. If you like this information then do comment and share.

Biography of Dukalu Yadav

Born – Dukalu Yadav was born in 1968 in a poor family of Ramsagar Para, Raipur.

Old Village of Dukalu Yadav – The old village of Sur Emperor Dukalu Yadav is Utai Khapri, Durg.

Mother’s Name – Dukalu Yadav’s mother’s name is Smt. Hero Devi Yadav.

Father’s Name – Dukalu Yadav Ji’s father’s name is Shri Kamalu Ram Yadav Ji.

Dukalu Yadav ji’s son and daughter – Dukalu Yadav ji has one son and two daughters.

Education of Dukalu Yadav – Dukalu Yadav studied till 8th standard and left his studies due to poverty.

Fond of singing – Dukalu Yadav ji is very fond of singing songs since childhood.

Jasgeet Sur Samrat – Respected Dukalu Yadav Ji, Jasgeet Sur Samrat of Chhattisgarh has received the title of Jasgeet Sur Samrat.

Guru of Dukalu Yadav – Late Prem ji was the Guru of Dukalu Yadav.

First Cassette – Dukalu Yadav’s first cassette was Durga Singar in the year 1994. This song created a lot of buzz in Madhya Pradesh, Chhattisgarh, Maharashtra and Orissa.

Dukalu Yadav’s first song – Sun Le Mor Gohar Mahamai was Dukalu Yadav’s first song.

Dukalu Yadav’s first written song – Mor Sharda Maiya Aaye Hawa Toor Duvar was Dukalu Yadav’s first written song.

Holi Geet – Dukalu Yadav has sung many Holi songs apart from Devi Jas Geet.

Awarded – The Chhattisgarh government has honored Dukalu Yadav with many awards.

Dukalu Yadav’s childhood – Dukalu Yadav’s childhood was full of struggle. For many days, he used to sleep after drinking sweat when food was not prepared, he used to go to the hotel and do the job of washing cup plates, and sometimes he used to work as a painter with a corporation painter living in Ram Kumbh. Father used to play banshee in Ramayana troupe. In childhood, he used to go to Ramayana troupe and Ramsatav with his father and seeing his father, his heart also started feeling in devotion.And slowly Dukalu Yadav started singing songs with his friends, Dukalu Yadav was invited by the people around him to sing in Chatti’s program. Slowly now his Jas troupe started participating in the competition as well. But there was still a lot of struggle, but then his troupe progressed slowly by working very hard, now whenever this troupe participated in any competition, their first or second place was sure. People used to enjoy singing by listening to his songs, now everyone had become crazy about him.

Dukalu Yadav has reached here today by working hard, which is unmatched in itself.

Top 10 Jasgeet of Dukalu Yadav

1. Aarti utarav wo

2. Devi namaste

3.Dai tor aankhi le barse pani

4.Maya pirit ke dori

5. tola jhulana jhulavav dai

6.kori kori nariyar

7.ran ban ran ban

8.mor panv me padage chala

9.chalana jyot jalabo

10.jorav jorav

Top 10 Faag Songs Of Dukalu Yadav

1.Tola Rang Dehu Oh

2.kaise kaise rang ma

3. mola rang rang ma bor diye wo

4.kab hohi Milan mor Radha ke sang

5.holi ke rang ma

6.jhan ja radha hobe lal lal woh

7.mahu la bula lete Radha

8.tor tan ma

9.prem rang

10.aaj hori khelahu Radha oh tor sang

How did you like this biography, tell us by commenting

Jai johar jai Chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा और अन्य रहस्यमय जगह के बारे इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!