10,000 साल पुराना शैल चित्र l Rock Painting, charama Kanker, Chhattisgarh

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हैलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको कांकेर जिले के शैल चित्र के बारे जानकारी देने वाला हूं। ये जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे।

रॉक पेंटिंग चारामा,कांकेर,छत्तीसगढ़

किस जगह में है – दोस्तो यह रॉक पेंटिंग है वो छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से लखनपुर से चंदेली से गोटी टोला गांव में है।

शैल चित्र क्या है – शैल चित्र प्राचीन कला शैली है, यह मानव द्वारा निर्मित चिह्नों,चित्रों,मूर्तियों की प्राकृतिक पत्थर पर अंकित एक प्रकार की छाप है।

10000 साल पुराना शैल चित्र –छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के चरामा में 10000 साल पुरानी ऐसी रॉक पेंटिंग्स मिलने का दावा किया गया है ।

वैज्ञानिक दृष्टिकोण – आर्कियोलजिस्ट जे. आर. भगत के मुताबिक, गुफाओं में बनी इन पेंटिंग्स में एलियंस और यूएफओ को उसी तरह दिखाया गया है। पेंटिंग्स में उनके नाक और मुंह नहीं बनाए गए हैं। कहीं-कहीं तो वे स्पेस-सूट पहने भी दिखते हैं। जैसे आम तौर पर हॉलिवुड या बॉलिवुड की फिल्मों में दिखाया जाता है।

ग्रामीण लोगो की आस्था – गांव वालों के बीच कई तरह की मान्यताएं हैं। जहां कुछ इन पेंटिंग्स की पूजा करते हैं तो वहीं कई पूर्वजों से सुनी कहानियां सुनाते हैं कि उस समय जो लोग यहां निवास करते थे ओ एक जगह नही रहते थे अलग अलग जगह घूम घूम कर जीवन यापन किया करते थे। जहां ये निवास करते थे उस स्थान में चित्रों को अंकित करते थे जिन्हे देवी देवता के रूप में पूजा जाता था पत्थरों में सात चित्र देखने को मिलते है जिन्हे कैन बोला जाता है जो आदिवासी के रक्षक माने जाते है।

नेचुरल रंगो से बना शैल चित्र – भगत का कहना है कि इन पेंटिग्स को नैचरल रंगों से बनाया गया है, जिसमे पीले और गेरुवा रंग का उपयोग किया गया है, समय का इनपर खास असर नहीं हुआ है।

हमने यूट्यूब में शैल चित्र का विडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को सब्क्राइब जरूर करे

youtube channel – dk808

यह पोस्ट आपको अच्छा लगे या इसके बारे में जरूरी जानकारी है तो हमे कमेंट कर जरूर बताएं।

।।जय जोहार जय छत्तीसगढ।।

Hello friends my name is Hitesh Kumar in this post I am going to give you information about rock paintings of Kanker district. If you like this information then do comment and share.

Rock Painting, charama Kanker, Chhattisgarh

Where is it – Friends, this rock painting is in Goti Tola village from Lakhanpur to Chandeli from Kanker district of Chhattisgarh.

What is rock painting – Rock painting is an ancient art style, it is a type of impression made by man on natural stone of signs, paintings, sculptures.

10000 years old rock paintings – It has been claimed to find 10,000 years old rock paintings in Charama of Kanker district of Chhattisgarh.

Scientific approach – archaeologist J.J. R. According to Bhagat, these paintings made in caves depict aliens and UFOs in the same way. His nose and mouth are not made in the paintings. Sometimes they are also seen wearing space-suits. Like usually shown in Hollywood or Bollywood movies.

Faith of Rural People – There are many types of beliefs among the villagers. While some worship these paintings, many narrate the stories heard from ancestors that those who used to reside here at that time did not live in one place and used to live by roaming in different places. In the place where they resided, they used to inscribe pictures who were worshiped as deities, seven images are seen in the stones, which are called cans, which are believed to be the protectors of the tribals.

Rock paintings made of natural colors – Bhagat says that these paintings have been made with natural colors, in which yellow and ocher colors have been used, time has not had much effect on them.

We have made a video of rock painting in youtube, watch it and subscribe to the channel.

Youtube channel – dk808

If you like this post or have important information about it, then definitely tell us by commenting.

Jai johar jai chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!