पहाड़ी पर स्थित है कुदरगढ़ी माता l Kudargarhi mandir Surajpur Chhattisgarh

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले के कुदरगढ़ी मंदिर के बारे में जानकारी देने वाला हूं यह जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे।

कुदरगढ़ी मंदिर सूरजपुर, छत्तीसगढ़

पता – दोस्तों छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में कुदरगढ़ी देवी का मंदिर स्थित है।

मंदिर की ऊंचाई – दोस्तों कुदरगढ़ी देवी का मंदिर 1500 फीट की ऊंचाई पर घने जंगलों के बीच स्थित है।दोस्तों मंदिर तक पहुंचने के लिए 900 सीढ़ियां बनाया गया है जो काफी सीधी है इस सीढ़ियां को पार करना काफी संघर्षमय रहता है।

खूबसूरत झरना – दोस्तो रास्ते में आप को एक खूबसूरत झरना और एक गुफा दिखाई पड़ता है यह झरना पहाड़ की ऊंचाई से नीचे की ओर गिरती है lयह झरना बारिश के मौसम में अधिक सुंदर लगती है।

विजय कुंड – दोस्तों रास्ते में एक कुंड पड़ता है जिसे विजय कुंड के नाम से जाना जाता है दोस्तों और इस कुंड के पास में बहुत ही प्राचीन मूर्तियां दिखाई पड़ती है इस कुंड के विषय में कहा जाता है की यह का जल कभी भी नहीं सूखता है। कहा जाता है की पेट में गैस या कोई भी समस्या रहती है तो इस कुंड के जल को ग्रहण करने पर वह इस रोग से मुक्त हो जाता है।

प्राचीन महल – दोस्तों इस कुंड से 2 किलोमीटर की दूरी पर एक महल हुआ करता था जो अभी एक खोल के सामन दिखाई पड़ता है इस खोल के पास में बहुत ही प्राचीन मूर्तियां दिखाई पड़ता है और एक मूर्ति में आपको मां अपने बच्चे का गोद में ली हुई सुंदर दृश्य दिखाई देता है यहां का सुंदर वातावरण और पेड़ पौधे मन को मोहित कर देते है।

नवरात्रि उत्सव – दोस्तों नवरात्रि के पावन पर्व हजारों की संख्या में श्रद्धालु माता के दर्शन और अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए मां कुदरगढ़ी माता के दरबार आते है।

माता की प्रतिमा – दोस्तों माता जी की जो मूर्ति है वह लाल पत्थर और महिषासुर मर्दिनी के स्वरूप में है माता जी सोने की छत्र और चाँदी के मुकुट और अन्य आभूषणों से माता का शृंगार किया है।

मंदिर का इतिहास – यहां के गांव के लोग बताते हैं कि एक समय की बात है माता के दर्शन करने के लिए कुछ भक्त दूर से आए हुए थे उनमें से एक औरत अपने छोटे से बच्चे को साथ में लेकर भी आई थी। दोस्तों जिस जगह में माता विराजमान हुई थी उनके आस पास गहरी खाई या खतरनाक रास्ते से होकर जाना पड़ता था । उसी समय औरत का बच्चा गहरी खाई में गिर जाता है वह औरत विलाप करने लगती है और वहां आस पास जो भक्त खड़े हुए वह माता को कहने लगी की क्या तुम्हारे पास कोई शक्ति नहीं है। यह सुनते हुए माता एक भक्त के शरीर में समा गई और माता बोली कि अपने बच्चे को नीचे जाकर देखो वह खेल रहा है। तब माता के कहने पर वहां के सभी लोग नीचे की ओर दौड़ पड़े वहां जाकर देखा तो सभी हैरान हो गया और बच्चा एकदम ठीक था।
इस घटना के बाद माता पुजारी के सपने में आकर कहा की तुम मुझे यहाँ से ले चलो एवम इसी प्रकार की कोई अन्य घटना होने पर भक्त लोग हमें कोसने लगेंगे। इस घटना के बाद पुजारी ने माता जी की मूर्ति को नए स्थान में ले जाकर मूर्ति को स्थापित किया। तब से ही माता जी इस कुदरगढ़ में स्थापित हो गई।

बलि प्रथा – दोस्तों इस मंदिर में भक्त अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए माता जी से मन्नत मांगते है और मन्नत पूरी होने पर नारियल या बकरे का बलि माता जी को भेट करते है।।

हमने यूट्यूब में कुदरगढ़ी माता का विडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को सब्सक्राइब जरूर करे

youtube channel- dk808

दोस्तो अगर आप को यह जानकारी अच्छा लगा है तो कॉमेंट और शेयर जरूर करे।

जय जोहार जय छत्तीसगढ़

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post I am going to give you information about Kudargarhi temple of Surajpur district of Chhattisgarh, if you like this information then do comment and share.

Kudargarhi Temple Surajpur, Chhattisgarh

Address – Friends, the temple of Kudargarhi Devi is located in Surajpur district of Chhattisgarh.

Height of the temple – Friends, the temple of Kudargarhi Devi is situated amidst dense forests at an altitude of 1500 feet. Friends, 900 steps have been made to reach the temple, which is quite straight, it is quite a struggle to cross these stairs.

Beautiful Waterfall – Friends, on the way, you see a beautiful waterfall and a cave, this waterfall falls down from the height of the mountain. This waterfall looks more beautiful in the rainy season.

Vijay Kund – Friends, there is a pool on the way which is known as Vijay Kund, friends and very ancient idols are seen near this pool, it is said about this pool that the water of it never dries up. . It is said that if there is gas or any problem in the stomach, then after consuming the water of this pool, he becomes free from this disease.

Ancient palace – Friends, there used to be a palace at a distance of 2 kilometers from this pool, which is now visible like a shell, very ancient sculptures are seen near this shell and in one of the idols you have a mother holding her child in her arms. A beautiful view is visible here, the beautiful environment and the trees and plants fascinate the mind.

Navratri Festival – Friends, the holy festival of Navratri, thousands of devotees come to the court of Maa Kudargarhi Mata to have darshan and fulfillment of their wishes.

Statue of Mata – Friends, the idol of Mata ji is in the form of red stone and Mahishasur Mardini, Mata ji has adorned the mother with gold umbrella and silver crown and other ornaments.

History of the temple – The people of the village here tell that once upon a time some devotees had come from far away to see the mother, one of them had brought her small child along with her. Friends had to go through a deep ditch or dangerous path around the place where the mother was sitting. At the same time, the woman’s child falls into a deep gorge, that woman starts moaning and the devotees who were standing around there started saying to the mother that do you have no power.Hearing this, the mother got absorbed in the body of a devotee and the mother said that go down and see your child, he is playing. Then on the behest of the mother, all the people there ran downstairs and went there and saw everyone was surprised and the child was absolutely fine.

After this incident, Mother came to the priest’s dream and said that you take me from here and if any other incident of this kind happens, devotees will start cursing us. After this incident, the priest installed the idol by taking the idol of Mataji to a new place. Since then Mataji has been established in this Kudargarh.

Sacrificial practice – Friends, in this temple, devotees ask for a vow to the mother for the fulfillment of their wishes and after the fulfillment of the vow, offer coconut or goat to the mother.

We have made a video of Kudargarhi Mata in YouTube, which must be seen and subscribed to the channel.

youtube channel- dk 808

Friends, if you like this information, then do comment and share.

jai johar jai Chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!