राधेश्याम बार्ले का जीवन परिचय lBiography of Radhe Shyam Barley lRadhe Shyam Barley

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मै आपको राधे श्याम बार्ले के जीवन के बारे में जानकारी देने वाला हूं यह जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे

राधे श्याम बार्ले का जीवन परिचय

जन्म – दोस्तों राधे श्याम बार्ले का जन्म 9 अक्टूबर 1966 को छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में पाटन तहसील के खोला नामक गांव में हुआ था।

कला के क्षेत्र में – दोस्तों राधे श्याम बार्ले को कला के क्षेत्र में सन् 2021 को भारत के चौथे, भारत सरकार द्वारा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म श्री से सम्मानित किया गया।

पंथी नृत्य के लिए प्रोत्साहित – दोस्तों राधे श्याम बार्ले ने गुरु घासीदास बाबा के आदर्शो का पालन करते हुए पंथी नृत्य की कला को लोगों तक प्रसारित किया । राधे श्याम बार्ले पंथी के क्षेत्र में लोक नर्तक और कलाकार हैं।

शिक्षा – दोस्तों राधे श्याम बार्ले जी ने एमबीबीएस की पठाई उर्त्तीन की और और बाद में इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ से लोक संगीत में डिप्लोमा की पठाई की।

पुरस्कार से सम्मानित – दोस्तों राधे श्याम बार्ले जी ने गुरु घासीदास सामाजिक चेतना पुरस्कार, देवदास बंजारे पुरस्कार,कलासदक सम्मान, डॉ. भवर सिंह आदिवासी सेवा सम्मान,सामाजिक सद्भाव पुरस्कार और दाऊ महासिंह चंद्राकर पुरस्कार, दलित उत्थान पुरस्कार, जैसे विभिन्न पुरस्कारों से हैं।

दोस्तो अगर आप को यह जानकारी अच्छा लगा तो कॉमेंट और शेयर जरूर करे।

जय जोहार जय छत्तीसगढ़

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post I am going to give you information about the life of Radhe Shyam Barley, if you like this information then do comment and share.

Biography of Radhe Shyam Barley

Birth – Friends Radhe Shyam Barle was born on 9 October 1966 in a village named Khola of Patan tehsil in Durg district of Chhattisgarh.

In the field of art – Friends Radhe Shyam Barle was awarded Padma Shri, India’s fourth highest civilian award by the Government of India in the year 2021 in the field of art.

Encouraged for Panthi Dance – Friends Radhe Shyam Barle, following the ideals of Guru Ghasidas Baba, spread the art of Panthi dance to the people. Radhe Shyam Barle is a folk dancer and artist in the field of Panthi.

Education – Friends Radhe Shyam Barle ji completed MBBS and later did Diploma in Folk Music from Indira Kala Sangeet Vishwavidyalaya Khairagarh.

Awarded by – Friends Radhe Shyam Barle ji received Guru Ghasidas Social Consciousness Award, Devdas Banjare Award,There are various awards like Kalasadak Samman, Dr. Bhavar Singh Adivasi Seva Samman, Social Harmony Award and Dau Mahasingh Chandrakar Award, Dalit Upliftment Award.

Friends, if you like this information, then do comment and share.

Jai johar jai chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

One thought on “राधेश्याम बार्ले का जीवन परिचय lBiography of Radhe Shyam Barley lRadhe Shyam Barley

  • January 9, 2022 at 9:23 pm
    Permalink

    I have realized that in digital camera models, exceptional sensors help to maintain focus automatically. Those sensors of some camcorders change in in the area of contrast, while others work with a beam involving infra-red (IR) light, specifically in low light. Higher spec cameras occasionally use a combination of both systems and might have Face Priority AF where the video camera can ‘See’ some sort of face as you concentrate only in that. Thanks for sharing your ideas on this web site.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!