छठ पूजा आस्था का महापर्व lfestival of faith chhath puja l chhath puja 2021l

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मै आपको छठ पर्व के बारे में जानकारी देने वाला हूं यह जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करे

आस्था का पर्व छठ पूजा

छठ पर्व कब मनाया जाता है – दोस्तों छठ पर्व दीपावली के छठे दिन से शुरू होता है और यह चार दिनों तक चलता है। इस छठ पर्व में चार दिनों तक भगवान सूर्य की आराधना की जाती है।बिहार में छठ पर्व को बड़े धूम धाम के साथ मनाया जाता है।छठ पर्व बिहारीयों का सबसे बड़ा पर्व है।

छठ व्रत क्या है – दोस्तों यह छठ पर्व कार्तिक मास की अमावस्या को दिवाली के बाद मनाये जाने वाले चार दिवसीय व्रत है यह व्रत कठिन और महत्त्वपूर्ण रात्रि को कार्तिक शुक्ल षष्ठी की होती दोस्तों कार्तिक शुक्ल के षष्ठी के दिन यह व्रत मनाये जाने के कारण इसे छठ व्रत पड़ा है।

छठ पर्व की कथा – दोस्तों कथा के अनुसार जब देवासुर संग्राम में जब असुरों के द्वारा देवता हार गये थे तभी देव माता अदिति ने एक तेजस्वी पुत्र की प्राप्ति के लिए देवारण्य के इस सूर्य मंदिर में मां छठी मैया की आराधना की थी और आराधना से प्रसन्न होकर छठी मैया ने उन्हें सर्वगुण संपन्न एक तेजस्वी पुत्र होने का वरदान दिया था। इसके बाद जब अदिति के पुत्र हुए तो उसे त्रिदेव रूप भगवान कहा गया, जिन्होंने असुरों पर देवताओं को विजय दिलायी। कहा जाता हैं कि उसी समय से देव सेना षष्ठी देवी के नाम पर इस धाम का नाम देव हो गया और छठ का चलन भी शुरू हो हुआ l

छठ पूजा के उपवास – छठ पूजा के अनुष्ठान कठोर हैं और यह पर्व में पवित्र स्नान, उपवास और पीने के पानी से दूर रहना, लंबे समय तक पानी में खड़ा होना और सूर्य को अर्घ्य देना शामिल है। खासतौर पर इस पर्व को महिलाएं ही मानती हैं। हालांकि, बड़ी संख्या में भी पुरुष इस उत्सव का भी पालन करते हैं छठ महापर्व के व्रत को स्त्री – पुरुष – बुढ़े – जवान सभी लोग करते हैं।

हमने यूट्यूब में छठ पूजा का विडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को सब्सक्राइब जरूर करे
Youtube channel – Dk 808

दोस्तो अगर आप को यह जानकारी अच्छा लगा तो कॉमेंट और शेयर जरूर करे।

जय जोहार जय छत्तीसगढ़

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post I am going to give you information about Chhath festival, if you like this information then do comment and share.

festival of faith chhath puja

When is Chhath festival celebrated – Friends, Chhath festival starts from the sixth day of Deepawali and it lasts for four days. In this Chhath festival, Lord Sun is worshiped for four days. Chhath festival is celebrated with great pomp in Bihar. Chhath festival is the biggest festival of Biharis.

What is Chhath Vrat – Friends, this Chhath festival is a four-day fast celebrated after Diwali on the new moon of Kartik month.Friends, this fast is celebrated on the day of Kartik Shukla Shashthi on the difficult and important night of Kartik Shukla Shashti, it has been called Chhath fast.

Story of Chhath festival – According to the story of friends, when the gods were defeated by the demons in the Devasura war, then Dev Mata Aditi worshiped Mother Chhath Maiya in this Sun temple of Devaranya to get a brilliant son and was pleased with the worship. Being the sixth Maya had given him the boon of being a brilliant son full of all virtues.After this, when Aditi had sons, he was called Tridev as God, who gave victory to the gods over the demons. It is said that from that time onwards the name of this Dham became Dev in the name of Dev Sena Shashthi Devi and the practice of Chhath also started.

Chhath Puja Fasting – The rituals of Chhath Puja are rigorous and include holy bath, fasting and abstaining from drinking water, standing in water for long periods and offering arghya to the sun. Especially women consider this festival only. However, a large number of men also observe this festival. The fast of Chhath Mahaparva is observed by all men – men – old people – young people .

We have made a video of Chhath Puja in YouTube, watch it and subscribe to the channel.

Youtube channel – Dk 808

Friends, if you like this information, then do comment and share.

jai johar jai Chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!