मांदरकोंटा गुफा बस्तर l Mandarkonta Caves Bastar l Mandarkonta gufa chhattisgarh

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट मे मै आपको मांदरकोंटा गुफा के बारे मे जानकारी देने वाला हूं। यह जानकारी अच्छा लगे तो कमेंट और शेयर जरूर करें

मांदरकोंटा गुफा, बस्तर

पता – दोस्तों छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले के दरभा ब्लाक के चिड़पाल पंचायत के छोटे से ग्राम में मांदरकोंटा गुफा स्थित है।

दूरी – दोस्तों छत्तीसगढ़ के जगदलपुर जिले से लगभग 40 किलोमीटर और नेगानार से लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर यह मांदरकोंटा गुफा स्थित है।

गुफा की खोज – दोस्तों मांदरकोंटा गुफा जो कि सन् 1948 को लखमा सोढी द्वारा खोजा गया है। दोस्तों यह छोटे से पहाड़ में प्रकृति के द्वारा बना हुआ अद्भुत गुफा है । इस गुफा के अन्दर प्रकृति के द्वारा कुछ ऐसी सुंदर संरचना एवम् कला-कृति दिखाई पड़ती है और पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षक करती है।

अद्भुत गुफा – दोस्तो यह जो गुफा है वह पहाड़ियों के बीच में स्थित है l दोस्तों इस गुफा में जाने के लिए आपको सकरी जगहों से होकर ही जाना पड़ता हैंl गुफा के अंदर चूना पत्थर होने के कारण पानी के रिसाव से कार्बनडाईऑक्साइड और पानी की रासायनिक क्रिया होने के कारण गुफा में स्लेटमाइट व स्लेटराइट के स्तम्ब बने हुए है। स्लेटराइट के स्तम्ब में लाईट पड़ने के कारण यह और भी चमकदार और आकर्षक लगती है।

इस गुफा में जाने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातें ध्यान रखे –

1.गुफा में जाने से पहले आपको अपने साथ में मोबाइल या टार्च जरूर रखें।

2.बोतल में पीने का पानी और खाने का समान जरूर रखें ।

3.अपने सिर को चट्टानों से बचाने के लिए हेलमेट या कोई जरूरी उपकरण जरूर रखें।

4.पैरों में जूते जरूर पहनें जिससे कि कोई भी जीव आपके पैरों को न काट सके।

दोस्तो अगर आप को यह जानकारी अच्छा लगा तो कॉमेंट और शेयर जरूर करे।

जय जोहार जय छत्तीसगढ़

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post I am going to give you information about Mandarkonta Cave. If you like this information then please like and comment

Mandarkonta Caves, Bastar

Address – Friends, Mandarkonta cave is located in a small village of Chidpal Panchayat of Darbha block of Bastar district of Chhattisgarh.

Distance – Friends, this Mandarkonta cave is located at a distance of about 40 kilometers from Jagdalpur district of Chhattisgarh and about 16 kilometers from Neganar.

Discovery of the cave – Friends Mandarkonta cave which has been discovered by Lakhma Sodhi in 1948. Friends, this is a wonderful cave made by nature in a small mountain. Inside this cave, some such beautiful structures and artwork are visible by nature and attracts tourists towards itself.

Amazing cave – Friends, this cave is located in the middle of the hills. Friends, to go to this cave, you have to go through narrow places. Due to the presence of limestone inside the cave, the water leaks due to the chemical reaction of carbon dioxide and water. Due to this, there are pillars of slatemite and slaterite in the cave. Due to the light falling in the pillar of Slaterite, it looks even brighter and attractive.

Before going to this cave keep some important things in mind –

1. Before going to the cave, you must keep a mobile or torch with you.

2. Keep drinking water and food items in the bottle.

3. To protect your head from rocks, keep a helmet or any necessary equipment.

4. Wear shoes on your feet so that no creature can bite your feet.

Friends, if you like this information, then do comment and share.

jai johar jai Chhattisgarh

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!