मूर्ति पी जाती है हजारों लीटर शराब।काल भैरव मंदिर, उज्जैन ।kal bhairav temple in ujjain l kal bhairav temple

नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे।

हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट मे आपको काल भैरव मंदिर के बारे बताने जा रहे यह पोस्ट आपको अच्छा लगे तो कॉमेंट और शेयर जरूर करे।

काल भैरव मंदिर, उज्जैन

मूर्ति पी जाती है हजारों लीटर शराब।काल भैरव मंदिर, उज्जैन ।kal bhairav temple in ujjain l kal bhairav temple

दोस्तों वैज्ञानिकों को भारत के उज्जैन स्थित एक मंदिर के बारे में एक बहुत ही अजीब सी बात का पता चला उन्हें पता चला कि
यह एक मंदिर में स्थापित मूर्ति खुद ही खुद शराब पीती है यह मूर्ति पूरी की पूरी शराब पी जाती है इस बात का पता चलते ही उन्हें इस बात पर यकीन नहीं हुआ और वे पहुंच गए इस मंदिर के सामने वे जैसे ही इस मंदिर के अंदर पहुंचे तो अंदर का नज़ारा देखकर सभी वैज्ञानिकों के होश उड़ गए ।

फिर वैज्ञानिकों ने इस मूर्ति के आस पास की खुदाई करवाई और खुदाई के वक़्त ऐसा नज़ारा दिखा कि सबकी आत्मा कांप गई।

कहा पर स्थित है यह मंदिर

दोस्तों उज्जैन शहर स्थित है बाबा काल भैरव का मंदिर महाकाल मंदिर से लगभग पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस मंदिर में जाएंगे तो आपको मंदिर के बाहर बनी दुकानों में शराब बिकती नज़र आएगी आप सोचेंगे कि मंदिर के बाहर शराब का यह कैसा नजारा रहा है परंतु यह नजारा तो कुछ भी नहीं क्योंकि असली नज़ारा तो आपको इस मंदिर के अंदर नज़र आएगा जिसे देखकर वैज्ञानिक भी इस मंदिर के सामने नतमस्तक हो गए हैं ।

तांत्रिक मंदिर में से एक

दोस्तों काल भैरव मंदिर एक तांत्रिक मंदिर है काल भैरव मंदिर की सबसे बड़ी विशेषताएं यह है कि यहां भगवान की प्रतिमा सक्छत रूप में मंदिरा पान करती है जैसे ही शराब के प्याली भैरव की मूर्ति के मुंह से लगाते हैं तो देखते देखते वो खाली हो जाती है दिन भर प्रतिमा हज़ारों लीटर शराब पी जाती है यह बात समझ में आती है क्योंकि वॉर्ममर तांत्रिक मंदिर में शराब पर चढ़ावा चढ़ाया जाता है परंतु काल भैरव खुद शराब पीते है जब भी पुजारी मूर्ति के मुख से शराब लगाते हैं तो देखते देखते पुरी की पूरी शराब गायब हो जाती है जी शराब कहां जाती है यह रहस्य आज तक भी उलझे हुए है।

यह तंत्र मंत्र के लिए प्रसिद्ध स्थान है प्राचीन समय में यहां पर सिर्फ तांत्रिक को ही आने की अनुमति थी और कालांतर मंदिर आम लोगों के लिए खोल दिया गया यहां जानवरों की बलि चढ़ाई जाती थी लेकिन अब बंद कर दी गई है मंदिर में काल भैरव मूर्ति के सामने झूला लगा हुआ है जिसमें भैरव की मूर्ति विराजमान है।

बाहरी दीवारों पर देवी की मूर्ति स्थापित है सभा ग्रह के उत्तर की ओर एक पाताल भैरव नाम की एक छोटी सी गुफा भी है भैरव बाबा के मंदिर में होने वाली तांत्रिक क्रियाएं आसन शब्दों में कह जाए तो सिर्फ वहां की पुजारी ही मदिरा पान करवा सकते हैं।

सबसे पहले भैरव की मूर्ति के पास बैठकर मंत्रो को उपचार किया जाता है फिर छोटी सी थाली में शराब डालकर कर बाबा के मुंह में लगा देते हैं आश्चर्य के बाद तो यह है कि दो मिनट के भीतर ही पूरी की पूरी शराब साफ हो जाती है आपको
जानकर आश्चर्य होगा कि मूर्ति के मुख में कोई छेद नहीं है यह रहस्य बना हुआ है कि पूरी शराब आखिर जाती कहा है ।

मंदिर के पुजारी के अनुसार

पहले यहां के लोग जाने की कोशिश करते थे यह मंदिरा पान अगर जाति कहा है मंदिर के पुजारी कहते हैं कि बाबा को अभिमंत्रित करते ही उन्हें मंदिरा का पान कराया जाता है। जिसे वे बहुत ही खुशी के साथ स्वीकार भी करते हैं ।

भारत के रहस्यमय में मंदिर हो और वहां पर वैज्ञानिक ना आए ऐसा हो नहीं सकता ब्रिटिश शासन के दौरान एक अंग्रेज अफसर के साथ कुछ वैज्ञानिक भी इस मंदिर में आए थे उन्होंने सोचा कि इस मंदिर को पूरी दुनिया के सामने बेनाकाब करेंगे वैज्ञानिकों और अंग्रेज़ों अफसरों के दल ने इस मंदिर के चारों तरफ खुदाई करवाई ताकि यह देख सके कि आखिर शराब मूर्ति के अंदर से जाती कहा है ।

मगर उनके हाथ कुछ भी नहीं लगा फिर जाकर शोधकर्ता ने उन्हें इस मूर्ति के आसपास खुदाई आरम्भ करवाई परन्तु खुदाई होती चली गई लेकिन शराब का नामो निशान तक नहीं मिला फिर बाद में जाकर वह अंग्रेज़ अफसर ही बाबा का काल भैरव का अन्नय भक्त बन गया।

काल भैरव का यह मदिरा पीने का सिल सिला सदियों से चला आ रहा है और यह कब शुरू हुआ यह कोई नहीं जानता यहां के लोग और पंडितों का कहना है कि वे बचपन से ही बह बाबा को भोग लगाते आ रहे हैं और जिसे भी खुशी खुशी स्वीकार करते हैं अब तो यहां पर प्रशासन की ओर से भी बाबा को शराब भेंट की जाती है ।

दोस्तो अगर आप को यह जानकारी अच्छा लगा तो कॉमेंट और शेयर जरूर करे।

धन्यवाद।।

और पढ़ें –

🔸 मैहर माता का अद्भुत रहस्य

🔸 पशुपतिनाथ मंदिर का रहस्य

Hitesh

हितेश कुमार इस साइट के एडिटर है।इस वेबसाईट में आप छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त करे। जिससे इस जगह का विकास हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!