सहसपुर का प्राचीन हनुमान मंदिर, बेमेतरा hanuman temple sahaspur bemetara

सहसपुर का प्राचीन हनुमान मंदिर, बेमेतरा hanuman temple sahaspur bemetara post thumbnail image

(नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे )

हेलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको सहसपुर के हनुमान मंदिर के बारे में जानकारी देने वाला हूं।

   बजरंग बली मंदिर सहसपुर (जिला- बेमेतरा)
सहसपुर का प्राचीन हनुमान मंदिर, बेमेतरा

स्थान- दुर्ग बेमेतरा रोड पर देवकर से 4 किलोमीटर दूरी पर स्थित सहसपुर नामक ग्राम में बजरंग बली का मंदिर हैं।

परवर्ती काल में – ग्रामवासियों ने इस मंदिर में बजरंग बली जी की प्रतिमा जीबी गृह में स्थापित कर दिये जाने के कारण मंदिर का नाम बजरंग बली पड़ गया।

सहसपुर का प्राचीन हनुमान मंदिर, बेमेतरा

शिव मंदिर के समीप- शिव मंदिर के कुछ दूर पर बजरंग बली का सुंदर मंदिर हैं।

सहसपुर का प्राचीन हनुमान मंदिर, बेमेतरा

मंदिर के अंग- मंदिर में मंडप, अंतराल, एवं ग्रभगृह आदि अंग है।

आठ स्त्मभो पर आधारित- बजरंग बली का मंदिर आठ स्त्मभो पर आधारित है।

मंदिर का निर्माण- 13-14 ईस्वी के मध्य नागवशी शासकों द्वारा मंदिर का निर्माण कराया गया था ।

सुंदर मूर्ति- मंदिर के बाहरी दीवारों में नृत्य करती हुई सुन्दर मुद्रा में दिखाई देती हैं।

सहसपुर का प्राचीन हनुमान मंदिर, बेमेतरा

पुरातत्व विभाग के देख रेख में- शिव और हनुमान जी का मंदिर पुरातत्व विभाग की निगरानी में हैं।

हमने यूट्यूब में सहसपुर के हनुमान मंदिर का वीडियो बनाया है जिसे देखे और चैनल को लाईक और सब्सक्राइब जरूर करे

Youtube channel – hitesh kumar hk

यह पोस्ट आप को अच्छा लगे या इसके बारे में अधिक जानकारी है तो नीचे कमेंट करके जरूर बताए। 

  जय जोहार जय छत्तीसगढ़

 

Hello friends, my name is Hitesh Kumar, in this post, I am going to give you information about Hanuman temple in Sahaspur.

Bajrang Bali Temple Sahaspur (District- Bemetra)

Location- There is a temple of Bajrang Bali in a village called Sahaspur, located 4 kilometers from Devkar on Durg Bemetra Road.

In the later period – the name of the temple became Bajrang Bali due to the villagers installing the idol of Bajrang Bali in the temple in the GB house.

Near Shiva temple- There is a beautiful temple of Bajrang Bali at some distance of Shiva temple.

Parts of the temple – Mandap, gaps, and sanctum sanctorum etc. are in the temple.

Based on eight stambhas- The temple of Bajrang Bali is based on eight stambhas.

Construction of the temple- The temple was built by the Nagavashi rulers between 13-14 AD.

Beautiful Murti – Appears in a beautiful pose dancing in the outer walls of the temple.

Under the supervision of the Archaeological Department – Shiva and Hanuman Ji’s temples are under the supervision of the Archaeological Department.

We have made a video of Hanuman Mandir of Sahaspur in YouTube, watch it and like and subscribe to the channel.

Youtube channel – hitesh kumar hk

If you like this post or know more about it, then please comment by commenting below.

Jai Johar Jai Chhattisgarh

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग भूतेश्वर नाथ शिवलिंग, गरियाबंद(छ.ग)दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग भूतेश्वर नाथ शिवलिंग, गरियाबंद(छ.ग)

                     भूतेश्वर नाथ शिवलिंग, गरियाबंद पता- राजधानी रायपुर  से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है  भूतेश्वर नाथ शिवलिंग, । प्रवेश

दशहरा के दिन ही खुलता है यह मंदिर, मां कंकाली मंदिर,रायपुर(छ.ग)दशहरा के दिन ही खुलता है यह मंदिर, मां कंकाली मंदिर,रायपुर(छ.ग)

                          मां कंकाली मंदिर,रायपुर पता – छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर की पुरानी बस्ती में स्थित हैंकंकाली माता का भव्य

सिद्धि माता का दूसरा मंदिर, बेमेतरा। Siddhi mandir bemetara Chattisgarhसिद्धि माता का दूसरा मंदिर, बेमेतरा। Siddhi mandir bemetara Chattisgarh

(नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे ) हेलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको सिद्धि माता के दूसरे मंदिर के बारे में

प्राचीन पश्चिमाभिमुखी मंदिर,सिद्धेश्वर शिव मंदिर, पलारी(छ.ग)प्राचीन पश्चिमाभिमुखी मंदिर,सिद्धेश्वर शिव मंदिर, पलारी(छ.ग)

हेलो दोस्तों मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको सिद्धेश्वर मंदिर के बारे में जानकारी देने वाला हूं।    सिद्धेश्वर मंदिर, पलारी (जिला – बलौदा बाजार –

इस मंदिर में होती है कुत्ते की पूजा,कुकुरदेव मंदिर खपरी (जिला – बालोद) छ.गइस मंदिर में होती है कुत्ते की पूजा,कुकुरदेव मंदिर खपरी (जिला – बालोद) छ.ग

                  कुकुरदेव मंदिर खपरी (जिला – बालोद) स्थान – यह मंदिर बालोद से डोंडीलोहारा रोड पर दुर्ग जिले में बालोद से 6 किलोमीटर

कौशल्या माता का एक मात्र मंदिर, चंदखुरी, रायपुर (छ.ग) kaushalya mata mandir chandkhuriकौशल्या माता का एक मात्र मंदिर, चंदखुरी, रायपुर (छ.ग) kaushalya mata mandir chandkhuri

        ( नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे ) हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको कौशल्या माता मंदिर

बाबा जी का समाधि स्थल, बाबा रुक्कड़नाथ धाम, नारधा(छ.ग)बाबा जी का समाधि स्थल, बाबा रुक्कड़नाथ धाम, नारधा(छ.ग)

                    बाबा रुक्कड़नाथ धाम , नारधाप्रवेश द्वार-  बाबा रुक्कड़नाथ मंदिर के प्रवेश द्वार में आपको शिव शंकर की प्रतिमा दिखाई देगा। समाधी स्थल-

14 वर्ष की उम्र से तपस्या में लीन है बाबा सत्यनारायण, कोसमनारा, रायगढ़(छ.ग)14 वर्ष की उम्र से तपस्या में लीन है बाबा सत्यनारायण, कोसमनारा, रायगढ़(छ.ग)

   महादेव के देवदूत बाबा सत्यनारायण कोसमनारा, रायगढ़ पता –कोसमनारा से 19 किलोमीटर दूर देवरी, डूमरपाली में एक स्थान बैठ हुआ है सत्यनारायण बाबा। हठयोगी – बाबा जी भीषण गर्मी

बारसूर का प्रसिद्ध मंदिर मामा-भांजा मंदिर(छ. ग.)mama bhanja Mandir barsurबारसूर का प्रसिद्ध मंदिर मामा-भांजा मंदिर(छ. ग.)mama bhanja Mandir barsur

   ( नोट – हिंदी और इंग्लिश में जानकारी प्राप्त करे ) हैलो दोस्तो मेरा नाम है हितेश कुमार इस पोस्ट में मैं आपको बारसूर के मामा भांजा मंदिर के

छत्तीसगढ़ का प्रयाग, राजिम तीर्थ स्थल(गरियाबंद)छत्तीसगढ़ का प्रयाग, राजिम तीर्थ स्थल(गरियाबंद)

               राजिव लोचन मंदिर, राजिम         पता- यह रायपुर से लगभग 47 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। राजीव लोचन का भव्य