तारा सुतारिया का अपूर्वा अवतार – हैरान कर देगा आपका दिल l Apurva movie review in hindi

फिल्म ‘अपूर्वा’ की कहानी

अपूर्वा, एक साधारित लड़की, अपने नॉर्मल जीवन में आगरा में रह रही है। उसकी जिंदगी में अचानक हुआ एक पलटवार जब वह अपने मंगेतर को सरप्राइज़ करने के लिए आगरा की बस में सवार होती है।लेकिन रास्ते में, उसे कुछ अजनबी लोगों द्वारा किडनैप कर लिया जाता है। अपूर्वा का पता नहीं लगता कि वह कहां है और ऊपर से पुलिस उसकी खोज में है। फिल्म उसकी इस आतंकवादी स्थिति में उसके बचने के प्रयास को दर्शाती है।चम्बल, मध्यप्रदेश में शुरू होती है फिल्म, जहां हम तीन मॉडर्न जमाने के डाकू – सुक्खा, छोटा, और जुगनू को पहचानते हैं। ये लोग पैसे के लिए लूट मचाते हैं और मर्डर करते हैं। राजपाल यादव, अभिषेक बैनर्जी, सुमित गुलाटी, और आदित्य गुप्ता ने इन गुंडों के रोल में अद्वितीय अभिनय का प्रदर्शन किया है।अपूर्वा को बचाने में उसे अपने आप ही मदद मिलती है, और फिल्म इस रोमांटिक थ्रिलर में एक सामाजिक संदेश को भी बुनती है। इस यात्रा में, अपूर्वा को खुद को पहचानने का मौका मिलता है, जिससे उसका सच्चा और बहादुराना स्वरूप सामने आता है।

फिल्म ‘अपूर्वा’: एक अद्वितीय कला की कहानी

1. निर्देशक और लीड एक्ट्रेस

  • निखिल नागेश भट के निर्देशन में, तारा सुतारिया ने ‘अपूर्वा’ में एक अद्वितीय रूप में अपनी कला को प्रदर्शित की है।

2. कहानी का संगीत

  • एक साधारित लड़की की अचानक मुसीबतों भरी यात्रा, जिसमें किडनैपिंग और बचाव की कहानी को रोचक तरीके से प्रस्तुत किया गया है।

3. एक्शन और थ्रिल

  • चम्बल के गूंडे और तारा के साथी एक्शन से भरा है, जिससे फिल्म में दर, बेचैनी और उत्साह का बावजूद माहौल बनता है

4. कलाकारी

  • राजपाल यादव, अभिषेक बैनर्जी, सुमित गुलाटी और धैर्य करवा ने ब्रिलियेंट अदाकारी के साथ अपने किरदारों को जीवंत किया है।

5. टेक्निकल दक्षता

  • फिल्म की स्क्रिप्ट और गेमप्ले को तेजी से बढ़ाने से नाटक को सुव्यवस्थित रूप से प्रस्तुत किया गया है।

6. समर्पण और विशेषज्ञता

  • ‘अपूर्वा’ ने साहित्यिक और सिनेमाग्राफी दोनों की दृष्टि से एक नए क्षेत्र की खोज की है, जिससे इसे एक विशेषज्ञता से भरपूर बनाता है।

7. शोकेन्द्र से निर्देशन:

  • अपूर्वा की गहरी तब्दीलीओं को समझाने के लिए फिल्म शोकेन्द्र से निर्देशन करती है, जो ऑडियंस को भावनाओं के साथ जोड़ता है।

8. मनोरंजन फैक्टर

  • फिल्म का मनोरंजन फैक्टर उच्च है, जिससे दर्शकों को सीधे हृदय में छू जाता है।

9. उत्कृष्ट संदेश

  • ‘अपूर्वा’ ने विभिन्न सामाजिक संदेशों को समझाने का कारगर तरीके से उत्कृष्टता प्रदर्शित की है।

10. साउंडट्रैक और बैकग्राउंड स्कोर:

  • फिल्म का साउंडट्रैक और बैकग्राउंड स्कोर दर्शकों को गहरे में खिंचता है, उन्हें कहानी में रूचि बनाए रखते हैं।

फिल्म समीक्षा: ‘अपूर्वा’

अपूर्वा’ एक रोमांटिक थ्रिलर है जिसमें तारा सुतारिया ने एक आम लड़की का किरदार निभाया है। निखिल नागेश भट ने इसे लिखा और निर्देशित किया है।

  • कहानी:अपूर्वा, जो आगरा की सामान्य लड़की है, अपने मंगेतर को सरप्राइज़ करने के लिए एक बस में सवार होती है, लेकिन रास्ते में उसे किडनैप कर लिया जाता है। इसके बाद की कहानी उसके बचने के प्रयासों पर केंद्रित है, जहां वह जानवरों से घिरी जगहों को बचाने का प्रयास करती है।
  • दृश्य-संचार: फिल्म की छवि और दृश्य-संचार का अच्छा सा बनाया गया है। सजीव और गंभीर दृश्यों के साथ, फिल्म का रोमांटिक और थ्रिलिंग माहौल बनाए रखा गया है।
  • अभिनय:तारा सुतारिया ने अच्छा अभिनय किया है और अपने किरदार को जीवंत बनाया है। राजपाल यादव, अभिषेक बैनर्जी, सुमित गुलाटी, और आदित्य गुप्ता ने भी अच्छा काम किया है।
  • अंतर्दृष्टि: अपूर्वा’ में अंतर्दृष्टि से भरा संदेश है जो व्यक्ति को अपने आत्मा के साथ मिलने की महत्वपूर्णता को बताता है। फिल्म यह भी दिखाती है कि व्यक्ति कभी-कभी असामाजिक परिस्थितियों में भी कैसे अद्वितीय बन सकता है।
  • संक्षेप में:’अपूर्वा’ एक रोमांटिक थ्रिलर है जो दर्शकों को एक अद्वितीय कहानी और संदेश के साथ एकसाथ लेजाता है।

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag