द केरला स्टोरी की कहानी l The kerala Story/The kerala Story Review in hindi (update1)

The kerala Story/Review 

द केरला स्टोरी की कहानी l The kerala Story/Review 2023

The केरला story एक ऐसी कहानी जिसको लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है, Media हो याराजनीति गलियारो चारों ओर movie की चर्चा जारी है. कुछ लोग इसको लेकर विरोध कर रहे हैं तो कुछ इसके support में खड़े हैं । Movie की शुरुआत से पहले बस मैं आपको इतना बता दूं कि यह movie एक से ज़्यादा सच्ची घटनाओं पर आधारित है जिसको लेकर इस movie को ban करने की बात भी हो रही थी लेकिन कल में उसको theatre मैं experience कर आया हूं और इतना कह सकता हूं कि यह  movie हम लोगों के लिए आंखें खोल देने वाली movie है।

movie की शुरुआत

तो movie की शुरुआत होती है एक islamic देश की police के interrogation room से जहां एक लड़की police वालों को यह बता रही होती है कि वह आखिर अपने देश India से वहां के पहुंची. दरअसल यह police आतंकवादियों की तलाश में जगह जगह घेरा बंदी करती रहती थी और इसी दौरान उन्हें यह

लड़की एक रेगिस्तान में बेहोश मिली थी. इसलिए अब यह इससे पूछताछ कर रहे हैं वो उसे कहते हैं कि तुम खुद सीरिया जाना चाहतीऔर अपने देश के खिलाफ काम करना चाहती थी.

जिस पर वह लड़की कहती है कि वह India से अपनी मर्ज़ी से निकली तो थी लेकिन वह सब उसने ऐसे किया जैसे कोई काबू में करके उसे यह सब करवा रहा हो और वह चाह कर भी कुछ ना कर पा रही हो.वो कहती है कि मैं अकेली लड़की नहीं हूं, जिसके साथ यह सब हुआ बल्कि कई हज़ारों लड़कियां हैं जो इस जाल में फ़ंस चुकी हैं और जानवरों से भी बुरी ज़िंदगी बिता रही हैं.यह सब बताते हुए अब हो जाती है flash back में.।

और हम देखते हैं कि वह लड़की बुरखा पहनकर एक आदमी के साथ ने कार में कही जा रही है. रास्ते में एक check post पड़ता है.जहां वह पैसे देकर आगे की ओर बढ़ जाती हैं और पहुंचते हैं Afghanistan के हिन्दूकस पर्वतीय इलाके में. वहां वो एक गांव में रुकते हैं जहां के लोगों को देखकर वो लड़की अपनी family की यादों में खो जाती है.।

फिर movie में कहानी दो साल पहले चली जाती है. जब यह लड़की यानी शालिनी india की केरला state में अपनी family के साथ हंसी खुशी रह रही थी उसके परिवार में उसकी मां और दादी थी जो उसको पूरा support करती थी. इसके बाद शालिनी college में पढ़ने के लिए अपने शहर से बाहर hostel में रहने जाती है. College पहुंचते ही उसे वहां की दीवारों पर

anti India slogan source painting में बनी हुई दिखती हैं जिनको वो ignore कर देती है. इसके बाद उसकी मुलाकात होती है अपने room mate से पहली नीमा जो ईसाई है.दूसरी गीतांजलि जो हिंदू है और तीसरी आसिफा जो एक मुस्लिम है.अब college function में जब यह चारों मौजूद होती हैं तो एकअनजान आदमी आसिफा को छोड़कर बाकी तीनों का photo लेने लगता है और बाद में उसे कुछ मुस्लिम लोगों को दिखाता है।

अब कहानी आती है present में.जब interrogation officers  शालिनी से कहता है कि हमने पता किया है. केरला में तुम्हारी बताई हुई जगह पर शालिनी नाम की कोई लड़की कभी रहती ही नहीं थी इसलिए हमें सच बताओ कि  तुम ISIS कब join किया? शालिनी कहती है कब join किया इससे ज़रूरी बात यह है sir कि आखिर ISIS क्यों और कैसे join किया? आखिर कैसे एक student को इस खाई में धकेल गया. जहां रोज कई आरतो और बच्चों को बुटल तरीके से मारा जाता हो. इसके बाद वह बताती है कि हिन्दूकस से होते हुए वो उस आदमी यानी शाकिब के साथ पहुंचती है  ISIS के अड्डे यानी की शाहाबाद में जहां शाकिब से कहती है कि उसे अपनी माँ को call करना है. लेकिन शाकिब उसको बताता है कि अगर हमने किया तो हमारी call trace हो जाएगी. इसलिए मैं ऐसा नहीं कर सकता.

इसके बाद उन्हें जो कमरा मिलता है वह उसको साफ करने लगते हैं और इस बीच उसके साथ intimate होने की कोशिश करता है.शालिनी उसको रोकती है और कहती है कि मैं pregnant हो और वैसे भी islamic में किसी के लिए साथ जबरदस्ती रिश्ता बनाना बहुत ही बड़ा गुनाह होता है इसलिए ऐसे ऐसा मत करो.लेकिन शाकिब उसकी एक नहीं सुनता और उसके साथ ज़ोर जबरदस्ती करना शुरू कर देता है.।

अब कहानी पहुंचती है flash back में जहां चारों सहेलियां dinner के लिए बाहर जाने वाली हैं लेकिन उससे पहले आसिफा किसी को call करती है और अच्छे से behave करने को बोलती है. इसके बाद वह तीनों सहेली से बोलती है कि नीचे मेरे cousin आए हुए हैं जो हमारे साथ dinner पर चलेंगे पर वो पहले बीच पर जाना चाहते हैं तो क्यों ना हम पहले beach पर चलें और फिर वहां पर time spend करने के बाद dinner पर चले.तब तीनों सहेलियां इसके लिए मान जाती हैं.।

जिसके बाद हम देखते हैं कि आशिफा कार में तीनो को अपने cousinसे मिलवाती है  एक होता है रमीश जो Mbbs कर रहा होता है और दूसरा होता है अब्दुल जो एक बड़ा businessman  है. रमीश रास्ते में अपने vision को share करता है. और किसी तरह से विदेश जाकर पैसा कमाना चाहता है, जिसे सुनकर शालिनी उससे impress हो जाती है. इसके बाद सभी मिलकर beach पर enjoy करते हैं और फिर dinner के लिए चले जाते हैं. हालांकि दोनों लड़के कहते हैं कि तुम लोग चलो. हम लोग dinner के time तक आ जाएंगे. अब dinner से पहले आशिफा और नीमा प्रेय करती हैं जिसके बाद आशिफा बोलती है. बिना प्रेय किए खाना खाना पाप है. Dinner के बाद जब चारों लौट रही होती है तो आशिफा इस्लाम की बातें करने लगती है.

वह कहती है जो लोग पाप करते हैं उनको जोजोस की आग आज जलना पड़ता है. जो लोग इस्लाम को नहीं मानते वह भी नास्तिक होते हैं. इसलिए उन्हें भी अल्लाह नहीं बचता.इस तरह वह यह साबित करने की कोशिश करती है कि इस्लाम धर्म में सबसे अच्छा है. अब ईद आती है. जहां सभी आशिफा के घर जाते हैं. वहां अपनी खातिर दारी होते देख शालिनी और गीतांजलि बहुत ही अच्छा महसूस करती हैं. उस मौके पर रमीश और अब्दुल वहां मौजूद होते हैं. जिनसे दोनों की नज़दीक और बढ़ जाती हैं.

अब कहानी Afghanistan की तरफ आती है. जहां शाकिब अपनी training के लिए बाहर जा रहा था और शालिनी बुरखा पहनकर बाहर निकल रही थी.दोस्तों आप सोच रहे होंगे कि यह इस कहानी में शाकिब कहां से आया हुआ है और आखिर शाकिब शालिनी के साथ क्या कर रहा है?तो वह आपको आगे पता चल जाएगा. 

शालिनी बुर्के में बाहर जाती है जो देखती है कि कुछ लोगों ने एक औरत को इसलिए मार दिया क्योंकि वह अकेली बाहर आगे वह देखती है कि कुछ लोग एक औरत का हाथ काट देते हैं क्योंकि उसने lipstick लगाई थी और उसकी पति का सिर काट देते हैं क्योंकि उसने अपनी पत्नी को lipstick लगाने की इजाज़त दी थी.

अब सबको देखकर बेहद घबरा जाती है. अब शालिनी शाजीदिया के साथ वापस घर आती है. दरअसल शाजीदिया वहां के leader की बीवी होती है. और उसके साथ घूमने पर उसे कोई खतरा नहीं होता. इस तरह वह वापस अपने घर आ जाती है.

अब कहानी वापस चारों सहेलियों पर आती है. जहां आशिफा दो आदमियों से मिलने आती है. जिसके साथ रमिश और अब्दुल भी मौजूद थे वो सभी मिलकर एक video देखते हैं जिसने एक आतंकवादी एक खास drug के बारे में सभी को बता रहा होता है कि इस तरह उसका इस्तेमाल करके धीरे धीरे भूख लगना और दर्द का महसूस होना खत्म हो जाता है. और नशे में आदमी वही करने लगता है जो उससे कहा जाता है.Video देखने के बाद एक आदमी अब रमिश और अब्दुल से बोलता है कि लड़कियों को ये ड्रग देना होगा. उनके साथ physical relation बनाना होगा ताकि वह तुमसे दूर ना हो पाए.

इसके बाद एक आदमी उन दोनों को पैसे देकर यह काम जल्द ही खत्म करने को बोलता है. अब अगले दिन बाकी तीनों सहेलीयां mall जाने के लिए निकल पड़ती हैं और आशिफा पीछे से किसी को phone करती है और तैयार रहने को बोलती है. mall में जाने पर कुछ आदमी उन तीनों का पीछा करते हैं और एक आदमी गीतांजलि को गलत तरीके से touch करता है. इसका विरोध करने पर बात और बढ़ जाती है और इसी बीच वह आदमी तीनों के कपड़े फाड़ देता है

यह सब होते हुए सब देखते हैं लेकिन कोई आदमी मदद नहीं करता. लेकिन तभी एक औरत वहां आती हैं और अपने बुर्के उन तीनों के शरीर को cover करती है. इसके बाद तीनों वापस आकर यह बात आशिफा को बताती है.

आशिफा उनसे कहती है कि अगर तुमने हिजाब पहना होता तो तुम्हारे साथ यह सब नहीं होता. किसी की हिम्मत नहीं है कि एक हिजाब पहनी हुई लड़की या औरत को कोई touch भी कर दे.ईसा मसीह जो मारा जा रहा था तो आखिर god ने उनको क्यों नहीं बचाया? ऐसा god किस काम का है?

इसके बाद गीतांजलि और शालिनी रमीश और अब्दुल से मिलने जाते हैं. जहां वह दोनों उनके सामने घुससा होने का नाटक करते हैं और उन्हें sympathy दिखाते हैं. शालिनी कहती है कि इस तरह के stress की वजह से अब नींद नहीं आती है. इसी बात का फ़ायदा उठाकर वह दोनों उनको वो drug दे देते हैं और कहते हैं कि तुम परेशान मत हो, सब ठीक हो जाएगा.यह दवाई है जो तुम्हें सोने में मदद करेगी और आगे से याद रखना कि तुम बिना पहने कहीं मत जाना ताकि ऐसा वापस ना हो वो दोनों अगले दिन से ऐसा ही करती हैं और हिजाब पहनना शुरू कर देती हैं.

इस बीच एक दिन को imtimesi लेकर दोनों सहेलियां अपने अपने boyfriend से कहती हैं कि शादी से पहले एक दूसरे के साथ रिश्ता रिश्ता रखना पाप होता है तो रमीश उन्हें समझाता हैकि जब एक साथ हमेशा साथ रहना है तो फिर रिश्ता बनाने में कोई दिक्कत नहीं होती और इस तरह वह दोनों को physical relation बनाने के लिए तैयार कर लेते हैं.

अब एक दिन चारों ही में बहस सो रही होती है कि आखिर कौन से god बड़े हैं? जिस पर शालिनी कहती है कि सबसे बड़े शिव हैं जिस पर कहती है कि जो भगवान अपनी wife को जलने से ना बचा रखा वो इंसानों को क्या बचाएगा? वह भगवान राम के लिए कहती है कि जो भगवान अपनी wife को kidnap होने से नहीं बजा पाए वो इंसानों की क्या रक्षा करेंगे

और फिर वह भगवान कृष्ण के लिए बोलती है कि जो भगवान अपनी सारी लड़कियों के साथ रासलीला करता हो  उन पर आखिर कौन लड़की भरोसा करेगी? ऐसे भगवान को मानना ही सबसे बड़ा पाप है जो तुम कर रहे हो.

शालिनी और गीतांजलि के सामने कभी किसी ने यह नहीं बोली थी.ऊपर से वो इस बात का जवाब देने में सक्षम नहीं थी क्योंकि वह कोई पंडित तो थी नहीं इसलिए वह आशिफा की बातों में आ जाती है और उस conversation को वही end कर देती है. आशिफा भी last में कहती है कि वह असली भगवान को पहचानने में उन दोनों की मदद करेगी.

अब कहानी आती है Afghanistan में जहां शालिनी को  labor pain होता है और hospital में वह अपने बच्चे को जन्म देती है. अब उसे पता चलता है  ईशाक काबुल जाने वाला है. इसलिए वह उसके साथ चलने के लिए बोलती है लेकिन ईशाक उसे कहता है कि वह यहां से अब कभी नहीं निकल पाएगी और ऐसा कहकर वह वहां से चला जाता है.

अब शालिनी के बच्चे को बुखार आता है दवा ना होने की वजह से वो छुप छुपाकर शाहजीदिया के pass मदद मांगने पहुंचती है और कहती है कि मुझे अपनी मां से बात करनी है.बहुत देर request करने पर शाहजीदिया उसे एक औरत के बाद ले जाती है जिसके pass mobile होता है. शालिनी फॉरन उस phones से अपनी local भाषा मलयालम में अपनी मां को मेसेज  भेजती है जिसने वह अपनी location के बारे में भी बता देती है अब जिस औरत का phone उसने इस्तेमाल किया था उसके पति को इस भाषा का पता चल जाता है और वह अपनी बीवी को मार देता है.

अब कहानी फिर से flash back में जाती है. जहां आशिफा, शालिनी और गीतांजलि को मुस्लिम लड़कियों की तरह रहना खाना पीना और कपड़े पहनना सीखा रही होती है. वो दोनों भी इस काम को राजी राजी कर रही होती हैं.

क्योंकि उनके ऊपर उस का ड्रग अच्छा असर होता है. इस बीच वह दोनों एक दिन अपने घर जाती हैं. जहां उनके parents उनको देखकर हैरान हो जाते हैं. वह वहां ठीक से रोक नहीं पाती इसलिए वापस college जाकर hostel में रहने लगती हैं. अब एक दिन आशिफा  उन्हें उन्हीं दो आदमियों के pass लेकर जाती हैं जो शुरू में सभी को उस drug की video दिखा रहे थे.

आशिफा कहती है कि यह तुम दोनों को इस्लाम के बारे में ठीक से समझाएंगे. इस बीच में भाग्य लक्ष्मी नाम की एक लड़की पहले से वहां मिलती है जो एक हिंदू होती और उसे एक मुस्लिम लड़के से प्यार होता है. वो कहती है कि मैं अपने प्यार के लिए कुछ भी कर सकती हूं.

इस बीच शालिनी को अचानक से वह wo meeting आने लगती है और उसे पता चलता कि वह pregnant है. यह वह बात रमीश को बताती है लेकिन रमीश उससे कहता है कि जब तक वह हिंदू है उसके घर घरवाले शादी नहीं होने देंगे. अगर तुम इस्लाम कबूलकर कर लो है तो हमारी शादी हो जाएगी.

अब शालिनी डर जाती है. लेकिन आशिफा उसको समझाती है कि अब रमीश तुम्हारा ख्याल रखने के लिए तैयार हैं और तुम्हे उस उसको भरोसा है तो क्यों ना तुम इस्लाम को बोल करके  उसे निकाह कर लो. इसमें हर्ज क्या है?

इसके बाद अपने बच्चे के future के लिए राज़ी हो जाती है.उधर अब्दुल के ऊपर गीतांजलि के साथ physical relation बनाकर उसे pregnant करने का दबाव होता है. इसलिए वह गीतांजलि को सीरिया जाकर पैसे कमाने और लेगचुरियल life के  सपने दिखाने लगता है और बीच बीच में उससे personal photos भी मांगने लगता है. Drugs के नशे में गीतांजलि ऐसा करने भी लगती है.

अब कहानी आती है Afghanistan में जहां शालिनी को बताया जाता है कि  ईशाक शहीद हो गया है. जिसके बाद शालिनी डरते हुए शाहजीदिया के pass पहुंचती है. अब कहानी एक बार फिर से पीछे जाती जहां गीतांजलि को phone पर पता चलता है कि उसके पिता को heart aatack आ गया है क्योंकि उनको पता चल गया था कि गीतांजलि ने इस्लाम को कबूल कर लिया है.

उधर शालिनी रमीश को यह बताने के लिए phone करती है, लेकिन वह phone नहीं उठाता. अब आशिफा गीतांजलि से पूछती है कि क्या तुम अपने father के pass नहीं जाओगी गीतागीतांजलि  कहती है कि वो अल्लाह को नहीं मानते.

इसका मतलब वो काफीर  है. इसलिए मैं उनके pass नहीं जाऊंगी. तभी कहती है कि काफीर होने का गुनाह तब तक माफ नहीं होता जब तक उस आदमी पर थूक जाए यह उसे पत्थरों से मार ना दिया जाए. इस बात को सुनकर गीतांजलि फ़ौरन अपने पिता के pass hospital में पहुंच जाती है. और अपने पिता पर थूक कर वहां से जाने लगती है जिसको देखकर उसकी मां रोने लगती है.

कहानी आगे बढ़ती है और उधर वो आदमी अब्दुल पर दबाव डालने लगता है कि वह गीतांजलि को जल्दी से अपने में काबू करें. इसलिए अब्दुल उसको call कर सीरिया चलकर रहने को बोलता है.जिस पर गीतांजलि मना कर देती है कि अभी वह इस सब के लिए तैयार नहीं है. इसके बाद दोनों में काफी बहस होने लगती है और गीतांजलि को शक हो जाता है कि अब्दुल का main motive तो कुछ और ही है.

गीतांजलि उसे कहती है कि मुझे पहले ही समझ जाना चाहिए था कि आखिर तुम क्या करने की कोशिश कर रहे हो, लेकिन हमने तुम्हारी बातों में नहीं आऊंगी. इसके बाद अब्दुल उसको वही personal photos और videos दिखाता है.और कहता है कि अब तुम्हें इसका अंजाम भुगतना होगा. जिसके बाद दोनों phone रख देते हैं. इसके बाद शालिनी को मौलाना से पता चलता है कि रमीश अपनी फैमिली के साथ मालदीव में shift हो गया है.मौलाना से कहता है कि पूरी दुनिया तुम्हारे आने वाले बच्चे को नजायत ठहराया जायेगा  इसलिए मैं ईशाक नाम के एक नेक लड़के को जानता हूं. मेरे कहने पर वह तुमसे शादी कर लेगा और तुम्हारा ख्याल भी रखेगा. तुम्हारे बच्चे को भी बाप का नाम मिल जाएगा. रोते रोते ही सही लेकिनशालिनी इस बात के लिए हां कर देती है. क्योंकि उसे अपने बच्चे की फ़िक्र होती है.

अब जहां गीतांजलि अपनी किए पर पछताती है और अपने घर वापस आ जाती है. वही शालिनी से ईशाक से शादी कर लेती है.अब शालिनी को ढूंढते हुए उसकी मां वहां पहुंचती है.जो अपनी बेटी को एक मुस्लिम सेशादी करते देख हैरान रह जाती है.लेकिन इसके बावजूद वो दोनों को अपनाने को तैयार हो जाती है.

वह कहती है कि शालिनी तुम अपने पति को लेकर मेरे साथ चलो पर शालिनी अब कुछ नहीं बोलती और वापस से उसके घर के अंदर चली जाती है. अब आशिफा उसकी की मां को समझाती है.

कि अब कुछ नहीं हो सकता. वो किसी और की हो चुकी है. इसलिए आप यहां से चले जाइए और वैसे भी शालिनी ने शादी अपनी मर्ज़ी से की है. इसके बाद की मां वहां से जाने लगती है और इसी बीच उसकी बात गीतांजलि से होती है.

गीतांजलि उसे कहती है कि शालिनी ने यह शादी मजबूरी में कियाहै क्योंकि वह pregnant थी यह सुनकर माँ को धक्का लगता है.अब उसी शाम को गीतांजलि अपने mobile पर एक news देखती है कि किसी आदमी ने एक लड़की के nude photo को internet पर share कर दिया है. उसे बहुत जल्दी यह पता चल जाता है कि वो photos किसी और के नहीं बल्कि उसी के हैं जो अब्दुल ने ही share किया हैं जिसके बाद उसके pass phone पर phone आने लगते हैं. और वो शर्म की वजह से खुद खुदकुशी कर लेती है.

अब कहानी आती है interrogation room में जहां शालिनी बताती है कि यहां आने से पहले उसकी ओर ईशाक की special classes चलती थी जिसने उसको पढ़ना लिखना सिखाया जाता. वह कहती है कि वहां भी कपल थे. लेकिन सभी को अलग अलग चीजे सिखाई जाती थी.सभी के pass वह drug वाली दवा थी जिसको लेकर सभी अपनी limits को cross करके कुछ भी करने को तैयार हो जाते थे. फिर चाहे किसी और को मारना हो या खुद को मारना हो.

वहां हमें passport आराम से मिल गए और फिर बहुत सारे पैसे मिले. जिसके बाद कुछ map को दिखाया गया और उन्हें याद करने को कहा गया. इसके बाद मुझे अपनी मां मिलने दिया गया ताकि मेरेबाहर जाने पर वह police को complaint ना करें.इसके बाद में अपने पति के ईशाक के साथ कोलंबो honeymoon पर चली गई. जहां मुझे अगले दिन मेरी सहेली नीमा का phone आता है. जो बताती है कि यह सब एक चक्रव्यू है .

जिसने तुमको रमीश अब्दुल और आशिफा ने फसाया है. यह उनका धंधा है और इसी से वो पैसा कमाते हैं.कहती है वह यह सब पता करने के लिए कुछ दिनों से रमीश के साथ ही थी. उसने रमीश को रोकना चाहा लेकिन रमीश ने उल्टा उसी को drug देकर उसके साथ rape किया और करीब बीस और लोगों ने उसके साथ rape किया, नीमा आगे बताती है कि रमिश अभी भी यहीं है और दूसरी लड़कियों को फंसा रहा है. गीतांजलि की suicide के बारे में भी शालिनी को बताती है और सुनकर शालिनी पूरी तरह से टूट जाती है. अब उसका दिमाग पहले से कमज़ोर हो चुका  था. उसके अंदर इतनी ताकत नहीं बची थी कि वह सबका सामना करके सभी के खिलाफ लड़ सके.इसलिए वह phone रख देती है यह बोल की वह बाद में बात करेगी.

इसके बाद नीमा active होती है और वह love जिहाद से जुड़े सारे facts को इकट्ठा करना शुरू करती है. इसके बाद वह के गीतांजलि के  parents शालिनी के माँ को लेकर police के pass पहुंचती है. और उन्हें यह सब बताती है. Police कहती है कि सबूत ना होने की वजह से वह उनकी help नहीं कर सकती.पर नीमा कहती है कि वह सब सबूत लेकर आएगी.

अब कहानी आती है अब Afghanistan में शालिनी पर जहां लोग उसे और उसके बच्चे को पकड़कर कर शाहजीदिया के pass लेकर जाते हैं.इसके बाद वह उसके बच्चे को ले जाते हैं और शालिनी को बाकी औरतों के साथ कैद कर देते हैं. यहां शालिनी को भाग्य लक्ष्मी मिलती है जो अपने परिवार को छोड़कर एक मुस्लिम लड़के के साथ यहां आई थी वो कहती है कि मेरा पति भी मर गया है और इन सब का भी जीन  लोगों के पति मर जाते हैं वो इन आतंकवादियों की गुलाम बन जाती हैं और वो जब चाहें इनको नोचते और rape करते हैं थोड़ी देर बाद एक आदमी आकर शालिनी को वहां से लेकर जाता है और फिर काफी लोग मिलकर उसके साथ भी वही करने लगते हैं जिसके बारे में अभी भाग्य लक्ष्मी बता रही थी.

अगले दिन उन औरतों को कहीं ले जाया जा रहा था. शालिनी पढ़ने में होशियार थी, इसलिए उसे map याद था. वह समझ जाती है कि उन औरतों को उस वक्त की टर्की  ओर सीरिया के border पर ले जाया जा रहा है. इसके बाद वह अपनी knowledge का फ़ायदा उठाती है. और भाग्य लक्ष्मी के साथ एक और औरत को लेकर वहां से भागने का plan बनाती है.

भागते भागते वो एक रेगिस्तान में पहुंच जाती है. जहां उनका पीछा वह आदमी भी अभी कर रहे होते हैं. पहले वह उस औरत को निशाना बनाते हैं और फिर अगली गोली भाग लक्ष्मी को लगती है. जिसके बाद शालिनी डर की वजह से तेज भागने लगती है और उन लोगों के इलाके से काफी दूर निकल जाती है. इसके बाद वह थक भी जाती है और पूरे सत्रह घंटे बाद drone की नज़र उस पर पड़ती है. जिसके बाद से वहां ले जाया जाता है जहां

इस वक्त यह सब बयान दे रही है यानी police interrogation room में वो कहती है.मैंने आपको सब बता दिया है. अब आप लोग उन पर कार्रवाई कार्यवाही कीजिए और मुझे मेरे घर जाने दीजिए. Police army कहती है हम आपको ऐसे नहीं जाने दे सकते. लेकिन आप अभी हमारी facility में safe है. जिसके बाद वह शालिनी से उसकी मां की बात करवाते हैं. अब शालिनी उस जेल में शाम को बाहर आती है जहां वो अपने बुर्के को जलता हुआ देखती है और आप आखिरकार उसे एहसास होता है कि उसने अपनी life में एक बहुत ही बड़ी गलती को अंजाम दिया है. इसके बाद वह उस आग अपने पश्चाताप आपके आँसू को जला देती है. और एहसास करती है कि वह एक सनातन हिंदू है और इसी के साथ होता है इस movie का भी The end.

1 thought on “द केरला स्टोरी की कहानी l The kerala Story/The kerala Story Review in hindi (update1)”

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag