1920 horrors Of The Heart movie 2023 l जाने इस हॉरर मूवी की कहानी। 1920 horrors story in Hindi

        1920 horrors Of The Heart movie 

1920 horrors Of The Heart movie 2023 l जाने इस हॉरर मूवी की कहानी।

1920 horros Film की starting में हमें मेघना नाम की लड़की दिखाई जाती है जो कि अपने boyfriend अर्जुन के साथ एक park में मिलने के लिए आई थी. अर्जुन मेघना से कहता है कि वो उसके पिता से उसका हाथ अब मांग कर ही रहेगा. तो मेघना उसे कहती है कि वो भी उससे बहुत ज़्यादा प्यार करती है और वो भी चाहती है उससे शादी करना तब यह मेघना को खबर मिलती है कि उसके पिता की मृत्यु हो गई है और मेघना अर्जुन भाग कर तुरंत उसके घर पहुंचते हैं. जहां मेघना देखती है कि उसके पिता ने खुद की फांसी लगा ली है.

यह देखकर वह बहुत दंग रह जाती है क्योंकि वह अपने पिता को बहुत ज़्यादा प्यार करती थी और उसके पिता के अलावा उसकी ज़िंदगी में कोई और नहीं था. उसके बाद उसके पिता की लाश को postmortem के लिए hospital ले जाया जाता है. जहां पर doctor उन्हें बताता है कि उसके पिता का जब वह postmortem कर रहा था. तो उसने देखा कि उनका दिल ही गायब है.

सुनकर अर्जुन और मेघना बहुत ज़्यादा हैरान हो जाते हैं. तो यह मेघना उनसे कहती है कि वो उसके पिता का शव उसे दे दे ताकि वो उनका अंतिम संस्कार कर सके. अंतिम संस्कार में जब मेघना अपने पिता की लाश को जला रही होती है तो वही creamy mysterious आदमी को देखती है क्योंकि उसे दूर खड़ा हुआ घूर रहा था. मेघना उसे देखकर बहुत डर जाती है और तभी वह आदमी वहां से गायब हो जाता रात को मेघना बहुत रो रही होती है और वो अर्जुन से कहती है कि वो उसे अकेला छोड़ दे. लेकिन अर्जुन उससे प्यार करता था और वो उसे अकेला नहीं छोड़ सकता था. इसीलिए वो उसे कहता है कि अब बहुत रात हो गई है और वो कल सुबह आएगा उसका हाल चाल पूछने के लिए.

जब मेघना घर में अकेली होती है तो अचानक सेएक draw खुल जाती है और उस दौर के अंदर से उसे उसके पिता की एक diary मिलती है. जैसे जब वो पढ़ने लगती है तो वो बहुत ज़्यादा हैरान होजाती है, उसके पिता उसमें लिखा हुआ था कि उसकी मां भी ज़िंदा है क्योंकि बचपन में ही उसे छोड़कर भाग गई थी क्योंकि वह unsuccessful writer था और उसे शोहरत चाहिए थी.इसीलिए उसने उन दोनों को छोड़ था और वह अपना जिस्म बेचने लगी थी लेकिन एक दिन उसे एक अमीर आदमी मिल गया जिससे उसने शादी कर ली और वह उन दोनों को छोड़ कर हमेशा के लिए वहां से चली गई.

मेघना यह सच जानकर रोने लगती है उसके पिता ने उसेबचपन से कहा था कि उसकी मां मर चुकी है. उसके बाद वह श्मशान घाट में जाती है जहां पर उसके पिता को जलाया गया था और वह अपने पिता की आत्मा को पुकारने लगती तभी उसके पिता की आत्मा वहां पर आ जाती है और वह उसे कहता है कि अब मौका आ गया है कि वह अपनी मां से बदला ले. क्योंकि उसी की वजह से वह दोनों हमेशा दर बदर भटकते रहे हैं और वह इधर royal ज़िंदगी जी रही है इसकी वो जरा भी हकदार नहीं है.

जो की मेघना उसकी बात मान लेती है और उसे कहती हैकि उसे बदला लेने के लिए क्या करना होगा तो उसका पिता उसे कहता है कि वह अपनी मां के घर में जाए और वहां पर रोज़ाना वह लोग पूजा किया करते हैं. सबसे पहले उन्हें उस घर से भगवान को हटाना होगा और तभी वह अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करके उनको परेशान कर पाएगा.

अपने पिता की बात मान के वह तुरंत bag pack करतीहै और वहां पर जाने के लिए निकल जाती है. वह अपनी मां के घर बाहर पहुंचती है जहां पर उसका नौकर उसका स्वागत करता है और उसे एक room में stay करवाता है और उसे कहता है कि वह madam को बुला के ला रहा है.

उसके बाद वह शांतनु उनके पास जाता है जो कि उसकी मां का पति था और उसे सारी बात बताता है तो शांतनु उसकी मां कोउसके पास ले जाना चाहता है लेकिन उसकी मां उसे कहती है कि उसकी बेटी इतने सालों बाद आई है और उसे देखकर वह ना जाने कैसे react करेगी तो वह उससे मिलना नहीं चाहती ।

इसे  सुनकर शांतनु अकेले ही मेघना से मिलने के लिए जाता है.जहां मेघना उसे कहती है कि उसकी मां क्यों नहीं आई. तो उसे कहता है कि उसकी मां भी बहुत ज़्यादा busy वह मेघना को अपनी ही बेटी की तरह मानता है और उससे पूछता है कि उसे यहां पर कैसे आना हुआ. मेघना उसे बताती है कि उसके पिता का देहांत हो गया है. तो उसे कहता है कि वह चिंता ना करे वो उनके साथ रह सकती है. उसे एक कमरा भी देता है रहने के लिए.रात को मेघना जब सो रही होती है तो उसके पिता की आत्मा उससे मिलने आती है और उसके पिता उससे कहता है कि इस घर में कई सालों से एक अखंड ज्योति जल रही है, तो उसे वह ज्योति बुझानी होगी ताकि वह घर के अंदर प्रवेश कर सके.

इसे सुनकर मेघना उठती है और तुरंत उस ज्योति को बुझा देती है. और हम उसी mistake इस इंसान को देख पाते हैं जो कि उनके घर के बाहर था और वह कुछ मंत्र पड़ता है जिससे वह उसके पिता की आत्मा को अंदर भेज देता है.

मेघना की मां जब सो रही होती है तो वह आत्माओं से डराने की कोशिश करती है जिससे उसकी नींद खुल जाती है और शांतनु से उसे संभालता है.

कल सुबह उनका नौकर जब वह ज्योति को बुझा हुआ देखता है.तो शांति से कहता है कि यह काम ज़रूर उस लड़की का है. जो कल ही उनके घर में आई है और वह जाती है कि उनके घर में कुछ बहुत ज़्यादा बुरा हो. शांतनु से कहता है कि वह बच्ची है और उस पर शक करना बंद करें.

1920 horrors Of The Heart movie 2023 l जाने इस हॉरर मूवी की कहानी।

इधर मेघना जब garden में होती है तो अर्जुन से मिलने आता हैऔर वह उसे कहता है कि उसे बिना बताए क्यों चली गई? मेघना उसे कहती है कि वह यहां पर किसी मकसद से आई है और उसका यहां पर बिल्कुल ठीक नहीं है. यह सुन के अर्जुन उससे कहता है कि वह उससे प्यार करता है और वह उसे कभी छोड़कर नहीं जा सकता और उसके बाद वह उसे hotel room में लेकर जाता है जहां वह दोनों intimate होते हैं.

मेघना के पिता की आत्मा वहां पर आ जाती है और वो उसे कहता है कि वो ऐसे अपना मकसद पूरा करेगी. तो मेघना उसे कहती है कि अर्जुन उससे बहुत प्यार करता है. तो उसका पिता उसे समझाता है कि नफरत की दुनिया में प्यार की कोई जगह नहीं होती.

तभी मेघना की आंखें खुलती हैं और अर्जुन उसकी बातें सुन रहा होता है और वह समझ जाता है कि यहां पर वह अपनी मां से बदला लेने के लिए आई है.

अर्जुन उसे रोकने की कोशिश करता है और उसे कहता है कि वह ऐसा बिल्कुल ना करें क्योंकि इससे उसकी मां का परिवार बहुत ज़्यादा परेशान हो जाएगा.उसे कहता है कि वह उसे चौबीस घंटे का समय दे रहा है. अगर वह उसके साथ चलेगी तो ठीक है वरना वह शांतनु को सारी बात बता देगा.

अपनी शक्तियों से यह बात वह mysterious इंसान सुन लेता हैऔर उसके बाद वह फ़ैसला करता है अर्जुन को जान से मारने का अर्जुन जब उस hotel room में अकेला होता है तो मेघना के पिता की आत्मा वहां पर अगर उसे परेशान करती है और उसे जान से मार डालती है.

इधर मेघना अपनी सौतेली बहन आदिती से मिलती है जो कि उसे गले लगा लेती है और उसे कहती है कि वह उसकी बड़ी बहन है.

उसके लिए खाना भी लेकर आती है तो मेघना उसे कहती है कि उसे भूख नहीं है और हम देख पाते है कि मेघना अपनी बहन को पसंद करने लगी है क्योंकि वो उसे बहुत ही अच्छी तरह treat कर रही थी.

मेघना आपको जब सो रही होती है तो उसका पिता उससे मिलने आता है और वो उससे कहता है कि अब उसकी अस्थियां उस घर में उसे लानी होंगी जिसका इंतज़ाम उसने कर दिया है तो वह अस्थियों को यहां पर लेकर आए और उसके बाद वह असली खेल शुरू करेगा. जिससे वह उसकी मां बहुत ही ज़्यादा परेशान हो जाएगी.

हाल में ही मेघना जब उठती है तो एक माली उसके पास आता है और वह उसे कहता है कि उसने उसे वह अखंड ज्योति बजाते हुए देखा था.

उसे यह भी बताता है कि वह एक psychic और वह उसके बारे में सारी बातें जानता है और उसकी मां एक राज़ है जिसके बारे में उसे अब तक नहीं पता इसीलिए वह उसकी मां से बदला लेना चाहती है.

उसे कहता है कि उसके पिता की आत्मा और वह मिस्ट्रियस आदमी एक साथ मिले हुए हैं तो वो उनके मकसद को कामयाब बिल्कुल ना होने दे.

जो की मेघना बहुत डर जाती है और अपने room में चली जाती है और कुछ देर बाद मेघना की मां उससे मिलने के लिए आती है क्योंकि उसे एक राज़ की बात बताने वाली होती है लेकिन तभी आती थी वहां पर आदिति आकर मेघना को अपने साथ ले जाती है और उसे कहती है कि उसके boyfriend ने उसे एक letter दिया है क्योंकि अभी hospital में है क्योंकि उसका accident हो गया था.

यह  सुनकर  मेघना और वो hospital पहुंचते हैं जहां मेघना देखती है कि अर्जुन अब ठीक है और वह उसे बताता है कि उसके पिता की आत्मा ने उसे एक कलश दिया है और उसे कहा है कि अस्थियां वह उसके घर में जा रख दे.

मेघना जब वहाँ से चली जाती है तो हम देखते हैं कि वो अर्जुन नहीं बल्कि वो mysterious आदमी है जो भी अर्जुन का रूप लेकर आया था.

मेघना उस अस्थियां को घर में लेकर जाती है और उसे आदिति की तकिए के नीचे रख देती है. लेकिन आदिति उसे बहुत प्यार से बात करती है तो मेघना को लगता है कि यह गलत है.

इसीलिए वह अस्थि को वहां से उठा लेती है और वहां से जाने लगती है लेकिन तभी उसकी मां उसे रोक लेती है और उसे कहतीहै कि जो बात पूरी नहीं कर पाई वह आप सुने लेकिन मेघना उसे बहुत ही नाराज़ थी इसी वो उसकी बात नहीं सुनना चाहती थी.

इसीलिए तुरंत अपने room में चली जाती है. लेकिन आधी रात  को जब सो रही होती है तो अचानक उसे paranormal activities होती हुई नज़र आती है. जिसे देखकर वह बहुत डर जाती है और तभी मेघना के पिता की आत्माओं उसे प्रोसेस कर लेती है.

उसे चिल्लाने की आवाज़ सुनकर सभी वहां पर आते हैं. लेकिन वो कही पर नहीं मिलती. तभी हम देखते हैं कि अदिति बहुत ही अजीब तरह बर्ताव कर रही है और वह लोग तुरंत doctor को बुलाते हैं उसे देखने के लिए, लेकिन doctor जब उसके पास जाता है तो अदिति उसके गर्दन काट के खाने लगती है, देखकर सभी लोग हैरान जाते हैं

और सोचते हैं कि आखिर यह कैसे हो रहा है. शांतनु का नौकर शांतनु से कहता है कि यह सब उस लड़की ने किया है. उसी उसकी बात बहुत पहले ही मान लेनी चाहिए थी.।

1920 horrors Of The Heart movie 2023 l जाने इस हॉरर मूवी की कहानी।

उसके बाद मेघना अर्जुन से मिलने के लिए जाती है. जहां अर्जुन उससे कहता है कि अब उसका मकसद पूरा हुआ क्योंकि ना वह मिलके अब यहां से चले हैं.

यह सुन कर के वह उसकी बात मान लेती है और वह दोनों वहां से रवाना हो जाते हैं. यह सुन कर के वह उसकी बात मान लेती है लेकिन वह नौकर उनकी बात सुन लेता है और वह उनसे कहता है वह मालिक को सारी बात बता देगा.

यह देखकर अर्जुन एक पत्थर उठाता है और उसका सर फोड़कर उसे मार डालता है और उसके बाद वह उसकी body को ठिकाने लगा देते हैं.

उसके बाद मेघना अपना सामान pack करती है और उसके साथ train में जाने लगती है. लेकिन जब वह जब वह अर्जुन कांच में देखती है तो उसे वह वही mysterious बंदा नज़र आता है.

इसे वह समझ जाती है कि यह अर्जुन बिल्कुल नहीं है.वो बहुत ज़्यादा डर जाती है और उससे बच के भागने लगती है और विशेष आदमी उसका पीछा करता है और उससे कहता है कि वो उससे नहीं भाग सकती. तभी वो दोनों train पर चढ़ जाते हैं और अचानक एक tunnel आती है. अवंतिका नीचे हो जाती है और वह आदमी का सर उस पर लगता है. इससे अर्जुन का सर फ़ट जाता है और उसकी लाश नीचे गिर जाती है. यह देखकर मेघना समझ जाती है कि ज़रूर उसके पिता का और मकसद होगा.

इसलिए वो वापस घर में जाती हैं और अपनी बहन को देखती है.जिसको उसके पिता ने possess कर रखा था और वो मरने वाली थी.

उसके बाद वो उस माली के पास जाती है सच जानने के लिए तो वह माली एक गड्ढा खोदकर उसके अंदर से एक किताब निकालता है और जब मेघना उसे खोलती है तो उसे पता चलता हैकि उसकी मां की  डायरी है जिसके अंदर उसकी मां ने पूरा सच लिखा हुआ था दरअसल उसकी मां बहुत ही अच्छी औरत थी पर उसका जो पिता था वह बहुत ही ज़्यादा drunk था क्योंकि उसकी को मारा पीटा करता था कि वो ही unsuccessful writer था ।

और वो पैसे कमाने योग्य नहीं था. वो सीमा को धंधा भी करवाता था ताकि उसे घर में कुछ पैसे आ सके. लेकिन उसकी मां ने फ़ैसला किया वहां से भागने का. तो उसे उसके plan का पता चल गया और उसका पिता उसे लेकर वहां से भाग गया.

जब उसकी मां अकेली पड़ गई तो उसने आत्महत्या करने की कोशिश करी. लेकिन शांतनु उस रास्ते से गुज़र रहा था जिसने उसकी जान बचा ली. उसने शांतनु अपनी सारी कहानी सुनाई तो शांतनु ने उससे कहा कि वह उससे शादी करेगा.

पर जब वो दोनों यहाँ पर रहते हैं उन दोनों ने मिलकर मेघना को ढूँढने की कोशिश करी लेकिन मेघना उन्हें कहीं पर भी नहीं मिली.वो diary पढ़कर के मेघना समझ जाती है कि उसका पिता सच में devil था और उसने आत्महत्या इसीलिए करी ताकि वह आत्मा बन के उनसे बदला ले सके ये पढ़कर मेघना को मिलना बहुत ही guilty feel करती है और वह अपनी मां के पास जाकर उसे सारा सच बता देती है. सुनकर उसकी माँ से थप्पड़ मारती है और उससे कहती हैकि उसकी हिम्मत कैसे हुई उसकी बेटी को चोट पहुंचाने की. तो मेघना उसे कहती है कि अगर उसने यह मुसीबत खड़ी करी है तो वो ही इस मुसीबत से छुटकारा भी दिलाएगी.

तो वे दोनों एक पंडित को वहां पर बुलाती है और पंडित जी से मदद मांगती है. तो पंडित जी उसे कहते हैं कि उसका पिता की आत्मा बहुत ही ज़्यादा शक्तिशाली है और उसके बाद एक तांत्रिक कर रहा है जो कि काला जादू जानता है और वही वह तांत्रिक है जो कि उसे अक्सर दिखता रहता है. मरने से पहले उसके पिता ने उस तांत्रिक के साथ एक सौदा किया था कि वह उसे अपना

दिल देगा और वह उसकी आत्मा को powerful बनाएं. तो तांत्रिक ने उसका दिल ले लिया था पर तभी post mortem में उसका दिल मिला ही नहीं था.

पंडित जी उनसे कहते हैं वह उस आत्मा के सामने जाकर गायत्री मंत्र का जाप करें और गंगा जल छिड़कें हैं कि उनका सभी लोग वहां पर जाते हैं और गायत्री मंत्र पढ़ने लगते हैं लेकिन तभी आदिति छूट जाती और घर में कहीं जाकर छुप जाती है वह सभी split हो जाते हैं और उसे ढूंढने लगते हैं और गायत्री एक एक करके उन्हें चोट पहुंचाने लगती है.

इतना देखती है कि उसे हराना बहुत ही मुश्किल इसी तो वह उस घर के मंदिर में जाती है और अखंड ज्योति जला देतीहै और माता का त्रिशूल लेकर वह खुद की बलि चढ़ा देतीहै और माता से कहती है कि वह उनकी रक्षा कर तभी उसके शरीर से उसकी आत्मा निकल जाती है और वह अपने पिता की आत्मा से कहती है कि अब वह भी आत्मा बन गई है और वह यहां पर उन्हें अपने साथ ले जाएगी.

वहा ऊपर से रौशनी आती है जो कि आत्माओं को ले जाती है.उस रौशनी में वह अपने पिता को अपने साथ ले जाने लगती है.लेकिन तभी कोई उसका पैर पकड़ लेता है और उसके पिता को मुक्ति मिल जाती है.

इधर तांत्रिक उस घर में आ जाता है और उसे देखकर शांतनु उससे लड़ने लगता है और वह तांत्रिक को मार गिराता है मेघना

देखती है कि उसका पैर किसी और ने नहीं बल्कि अर्जुन की आत्मा ने पकड़ा और अर्जुन उसे कहता है कि अभी वो नहीं मारेगी, वो सिर्फ उसकी body में वापस से डाल देता है और खुद उस रौशनी में चला जाता है.

मेघना की आंखे खुलती है तो वो अपने आप को hospital में पाती है और उसके साथ उसी में ना अदिति होती है जो कि अब बिल्कुल सही सलामत थी. मेघना की मां उसको दुआ करती है उसकी बेटी  की जान बचाने के लिए और उसे कहती है वह भी उसकी बेटी है और वह हमेशा साथ रहेंगे.दोस्तों इसी के साथ यह movie यहीं पर खत्म हो जाती है. तो दोस्तों यह थी इस film की कहानी.

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag