असुर 2 वेब सीरीज (एपिसोड 1) explained in hindi । Asur 2 webseries explained

असुर 2 वेब सीरीज (एपिसोड 1)  

असुर 2 वेब सीरीज (एपिसोड 1) explained in hindi । Asur 2 webseries explained l Asur 2 webseries in hindi

हैलो दोस्तो आज के विडियो में हम एक्सप्लेन करने वाले असुर 2 वेब सीरीज के सेकंड सीजन के पहले भाग का यह वेब सीरीज सच में काफ़ी इंट्रेस्टिंग है। तभी तो लोग इसके पहले सीजन को देखने के बाद दूसरी सीजन को देखने का बेसब्री से इंतजार कर रहे है।

दोस्तो अगर आप लोगो ने इसका पहला सीजन नही देखा है तो जरुर देखे काफी अच्छे से यह सीरीज आपको समझ आयेगा। लेकिन चिन्ता न करे हम अपनें एक्सप्लेन के जरिए जितना हो सके आसन करने का कोशिश करेंगे।तो चलिए सुरु करते है इस एक्सप्लेनेशन को जिसका नाम है असुर।दुसरे सीरीज के भाग एक की सुरवात में पहले सीरीज के बारे में जानकारी दिया जाता है।जिससे लोगो को पहला सीरीज याद आ जाय। और इस सीरिज को अच्छे से समझा जा सके।

हम देखते है की सबसे पहले हमे स्क्रीन में एक नदी दिखाया जाता हैं उसके बाद एक बच्चा अपने दादू से मुखौटे को दिखाते हुए पुछता है ये कोन है दादू। उसका दादू बताता है ये असुर है।फिर बच्चा पुछता है कोन सा असुर तो उसका दादू बताते है कली। इस बच्चे का नाम होता है शुभ।

 उसके बाद हमे इसे जेल में दिखाया जाता है lअब हम धनज्य राजपूत को देखते है जिसे डीजे के नाम से जाना जाता है। जो इस फ़िल्म का नायक है। जो एक क्लास में निखिल नायर को उसका नाम पुछता है। उसके बाद एक लड़की को कोई बाल पकड़ के घसीटते हुए दिखाया जाता है।वही कुछ दवाई और मशीन को भी दिखाया जाता ।है जहां बोला जाता है इस तरह के प्लान के लिए काफी रिसर्च की जरूरत होती है। अब हमे रसूल को दिखाया जाता है जो बोलता है। मैने डीजे सर का फोन चेक किया है और मुझे कन्फर्म हों गया है।तभी निखिल कहता है की तू बोलना क्या चाह रहा है की डीजे सर खुद अपनी बीवी मर्डर किया है।

फिर अगले सीन में एक समशान घाट में ताबूत दिखाया जाता है जिसमे से एक आदमी निकलता हैं जो ऑक्सीजन मास्क लगाए हुए होता है। उस ताबूत से कुछ हथियार निकलते है जिससे आस पास खड़े पुलिस वाले लोग बेहोश हो जाते है। फिर नयना को दिखाया जाता है जो नुसरत पुलिस को अपनी पति के बारे में पूछती है जो उसे मिसिंग बताती है। तभी हमे निखिल को दिखाया जाता है जो नयना का पति होता है। निखिल सीबीआई फॉरेंसिक येक्सपर्ट होता है उसको असुर कैद करके रख लेता है। और लोगो की मर्डर करने में निखिल से मदद मांगता है। मदद नही करने पर उसकी फैमिली को मराने की धमकी देता है। तभी निखिल मर्डर का प्लानिंग करने में असुर का हेल्प करता है।

दोस्तो इस मूवी में असुर कोन है दोस्तो असुर वही बच्चा है जो बचपन में अपने दादू से एक असुर के मुखौटे के बारे में पूछ रहा था जिसका नाम सुभ होता है।

असुर 2 वेब सीरीज (एपिसोड 1) explained in hindi । Asur 2 webseries explained l Asur 2 webseries in hindi
अगले सीन में एक कार दिखाया जाता है जिसे पानी से निकाला जाता है जिसमे से डेड बॉडी निकाला जाता है। जिसमे एक फैक्ट सामने आता हैं की असुर अच्छे लोगो को ही मार रहा है।
अब एक बूढ़े आदमी को दिखाया जाता है जिसे असुर मार रहा होता है।अब बूढ़ा आदमी पूछता है कोन हो तुम तभी असुर कहता हैं कली।

असुर का सभी अच्छे लोगो का मराने का एक कारण है। ओ चहता है की कली को मारने के लिए भगवान विष्णु कलकी अवतार ले और उसके बाद एक नए युग की सुरवता हो। ओ भगवान विष्णु को कलकी अवतार लेने में मजबूर करना चाह रहा है। तभी सुभ कहता है पीड़ा देना तो भगवान का काम है मैं सिर्फ मुक्ति देता हूं। इस बिच कुछ पुलिस वाले को गोली मारते और एक डायरी में असुर के फोटो दिखाए जाते है।

फिर रसुल लोलाक जो पुलिस वाला होता है उसे हथियार से उसके सर को मार देता है।फिर हमे नुसरत को दिखाया जाता है जो डीजे को सर का एक्सरे रिपोट देती हैं और कहती है। सभी चीजे एकदम प्लैनिंग से कर रहा है ओ। और सुभ को बचपन में एक मानव कंकाल के अंगूठे के बगल वाली उंगली तोड़ते हुए दिखाया जाता है। तभी एक आवाज आता है।

 कलयुग जब अपनी चरम सीमा में होगा अच्छे लोगो भ्रष्ट हों जाएंगे को एक दुसरे को मारेंगे। तभी हमे केसर के बारे में बताया जाता है। जिसे सभी सुभ मानते है जिसे हथकड़ी लगाया जाता है।अब हमे नयना को दिखाया जाता है। जो डीजे से कहती हैं केसर का सर्टिफिकेट फेक है।अब केसर डीजे से कहता है अपनी पापो का प्रयाचित करो और बचा लो लोगो को। डीजे बताते हैं की दस साल पहले सुभ ने अपने पिता का मर्डर किया था। तभी सुभ को पुलिस हथकड़ी लगाकर ले जाते दिखाया जाता है।
अब रसूल को दिखाया जाता है जो निखिल को फोन करके कहता है की जिस 3 लोगो को बचाने आए हों उसे बचाना है की तुम्हारी बेटी रिया को तभी हम देखते है की निखिल के घर काम करने वाली नौकरानी रिया को जहर देकर मार डालती है। एक जली हुई बॉडी दिखाईं जाती हैं जिसके पास असुर का मुखौटा पड़ा होता है।फिर निखिल डीजे को इस सभी घटना का दोषी मानता है।तभी हमे लोलाक को दिखाता जाता है। जिसे रसूल गोली मार देता है।केसर को सुभ समझ कर गिरफ्तार कर लिया जाता है। और डीजे को सीबीआई से सस्पेंड कर दिया जाता है। जब तक इंकवायरी पूरी नही हो जाती।

इस बीच रसूल और डीजे एक दुसरे को घूरते हुए दिखाईं देते है।अब सुरु होता है हमारा दुसरे सीरीज का पहला भाग उम्मीद करते है कुछ तो समझ आ गया होगा। बाकी तो हम इस सीरिज के बीच में में अच्छे से समझाएंगे। जिससे आप यह सीरीज अच्छे से समझ जाओ।

अगले सीन में 16 साल बाद कैची उत्तर प्रदेश का लोकेशन दिखाया जाता है। जहां नदी किनारे सुभ और 3 लड़को को सिखाया जाता है। जहां पर सुभ उन 3 लड़को को यह कहानी सुना रहे होते है।

 इस कहानी में महाभारत के एक प्रसंग के बारे में बताते है। जिसका सार होता है जब इंसान का कर्तव्य और उद्देश समाप्त हो जाए तो। उसके शरीर और अस्तित्व का कोई महत्व नहीं रहता। फिर सुभ उनमें से एक लड़के के सर में लकड़ी से बुरी तरह मारता है। जिससे उस लड़के की मृत्यु हो जाती है। बाकी 2 लड़के काफी डरे हुए होते है जिनसे सुभ कहता है की। आगे की महान कार्य के लिए तुम दोनो की उपयोगिता रहेगी इसका साथ बस यहीं तक ही था। उसके बाद दोनो लड़के हाथ जोड़कर सुभ को प्रणाम करते है।
और उस लड़के की लाश को नदी में फेक देते है।सुभ कहता है महायुद्ध निकट हैं।कलयुग को उसके चरम सीमा तक पहुंचाने का समय आ गया है।अगला सीन दिल्ली का दिखाया जाता हैं। जहां केसर को आजाद करने के लिए लोग रोड पर निकल चुके है। और प्रदर्शन कर रहे है। जहां सोशल मीडिया और न्यूज में केसर के बारे में न् दिखाया जा रहा होता है। लेकिन न्यूज में बताया जा रहा है की केसर के ऊपर जो हत्या इंजाम लगा है उसको सीबीआई अभी तक साबित नही कर पाई है ।
इसलिए लोग प्रदर्शन कर रहे है केसर को छुड़वाने के लिए। वही हमे जज को दिखाया जाता है। जो वकील को कहता हैं की आप लोग केसर के खिलाप कोई साबुत पेश नहीं कर पाए। मैं केसर को बेल देने में मजबुर हूं।लेकिन सीबीआई अधिकारी के रिक्वेस्ट करने पर जज सात दिन का उन्हें और समय देता है। साबुत इकट्ठा करने के लिए।तभी सीबीआई अधिकारी केसर से कहता है। मैं किसी भी हाल में तुम्हें बेल नही मिलने दूंगा। तभी केसर कहते है मेरी चिन्ता मत कीजिए क्योंकि मैं वही हूं जहां मुझे होना चाहिए। आप समय की चिन्ता कीजिए प्रलय का आरंभ होने वाले है जिसमे आप का ईश्वर भी आपको नही बचा पाएगा।

अगले सीन में हमे हिमाचल प्रदेश का बौद्ध धर्मशाला दिखाया जाया है। जहां एक बौद्ध लड़के को दिखाया जाता है। जहां पर डीजे को दिखाया जाता है। जो बौद्ध भिक्षु जैसा वस्त्र पहनकर एक सामान को घिस कर साफ कर रहा होता है। तभी ओ लड़का वहा आकार डीजे से कहता है। ओ कहता है की छोड़ दीजिए अपने अंदर के दुःख को और जिसने भीं आपको दुःख दिया है उन्हे माफ कर दीजिए।तभी डीजे कहते है मेरे दुःख का कारण मैं ख़ुद हू और अपने आपको मै कभी माफ नहीं कर सकता। अब लड़का कहता है अतीत का बोझ मन से उतार दीजिए।

अगले सीन में हमे दिल्ली के सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस को दिखाया जाता है। जिसमे नुसरत एक ह्यूमन बॉडी के नाक को देख रही होती है।तभी नुसरत के पास नयना का फोन आता है। जो नुसरत को निखिल के बारे में पूछती है।तभी नुसरत कहती है ओ 2 दिनो से ऑफिस नही आया है।नयना कहती है ओ मेरा फोन मैसेज का कोई जवाब नही दे रहा है अगर तुमसे बात होता है तो तलाक के लिए बोल देना।नयना निखिल की पत्नि है। ओ निखिल से तलाक इसलिए लेना चाहती है।क्योंकि उसे लगता है निखिल के कारण ही उसकी बेटी रिया दुनियां छोड़ कर चली गईं। 
 तभी नुसरत निखिल को फोन करती है। जहां हम देखते है निखिल का मोबाईल वाइब्रेट हो रहा है और निखिल बाथटप में बैठा है।और उसकी हालात काफी खराब है अपनी बेटी रिया को खोने के कारण ओ भी डिप्रेशन में चला गया है।
अगले सीन में नयना को ऑफिस में एंट्री करते दिखाया जाता हैं। जहां न्यूज में निखिल को दिखया जाता है।जिसमे बताया जाता है की ये वही दिलेर इंसान है। जिसने 2 महीने पहले अपनी बेटी की कुर्बानी देकर 3 समाज सेवक की जान बचाई थी।तभी नयना अपनी कैबिन में चली जाती है।और डीजे को कॉल और मैजेस करती है पर कोई रिप्लाई नही मिलता।
अगले सीन में हम बाथटब में बैठे निखिल को देखते है। जो अपनी बेटी रिया की कल्पना करता है। और पुरानी बातों को याद करता है।
 तभी निखिल के घर नुसरत पहुंच जाती है जो दरवाजा खोलने के लिए आवाज़ लगाती है। लेकिन डिप्रेशन के कारण उसे कुछ समझ नही आ रहा होता है। तभी निखिल बाथटब में डूबकर सुसाइड करने लगता है। तभी नुसरत कैसे भी कर के दरवाजा खोल लेती है। और घर में जानें के बाद निखिल को खोजने लगती है। निखिल को बाथटब में डूबे देख कर तुरन्त उसे बहार निकालती है। तभी हमे सीबीआई हेड को दिखया जाता है जिनके पास ईसानी चौधरी नाम की एक लड़की आती है। 
जिसको इस केस को हैंडल करने का काम दिया जाता है।तभी दोनो के बीच केस के संबंध में बात होती है। इसी बीच इसानी कहती हैं की मैं लोलाक सर के डेथ रिपोर्ट से मैं संतुष्ट नहीं हूं। मुझे एक आदमी के ऊपर शक है। जिसका नाम है रसुल जो फॉरेंसिक डिपार्टमेंट में काम करता है। जिसके बयान से मैं संतुष्ट नही हूं। लेकिन उनका हेड कहते है की ओ काफी भरोसेमंद है। ऐसा ओ नही कर सकता तुम सिर्फ नयना के ऊपर ध्यान दो।
 तभी हमे नयना को दिखाया जाता है। जो एक फ़ोटो में अपनी नौकरानी और बेटी को देख रही होती है।तभी उसके पास एक नोटिफिकेशन आता है। जिसमे उसके यहां की नौकरानी एटीएम से पैसा निकाल रही होती है। उसने नयना की बेटी को खाने में जहर देकर मारा था।तभी उसका नयना सिस्टम में लोकेशन चेक करती है।अगले सीन में निखिल को दिखाया जाता है। जो अपने घर में नुसरत के पास बैठ कर रो रहा होता है।और बीच बीच में कुछ गोली खा रहा होता है।और नुसरत को बताता है की मैं हार चुका हूं मुझे अब बर्दाश्त नहीं होता।तभी नुसरत निखिल को समझती हैं की तुमने जो किया ओ इतना आसान नहीं है।और तुम्हें अपने आप को संभालना चाहिए।तभी निखिल के पास एक मैसेज आता है। जो एक कोडिनेट होता हैं जिसको ओ लैपटॉप से ट्रैक करता है।जिसमे एक बर्फ का गोदाम दिखाई देता है।ये कोडीनेट और कोई नही असुर ने भेजा होता है क्योंकि असुर इसी तरह का कोडिनेट भेज कर जानकारी देता है।
अगले सीन में उस जगह में काफी सारे पुलिस वाले पहुंच जाते है। और वहां का छानबीन करने लगते है जिसमे ईसानी लीड कर रही होती है। जिसको इस केस का जवाबदारी दिया गया है।तभी उस स्थान में निखिल और नुसरत भी पहुंच जाती है।तभी नुसरत से ईशानी कहती है लगता हैं उसने मजाक किया है। इसपे नुसरत कहती है ओ मजाक नही करेगा बॉडी हमे यही मिलेगी।मतलब उस कोडीनेट में निखिल को किसी बॉडी के बारे में जानकारी मिली थी जिसको असुर ने भेजा था।

 तभी निखिल वहा के सुपर वाइजर से कहता है।कुछ दिनो में यहां कुछ खास हुआ है क्या। सुपरवाइजर कहता है ऐसा कुछ नही हुआ है जो नॉर्मल होता है वही हो रहा है। और आज नया स्टॉक भी आया है। तभी निखिल नए बर्फ के स्टॉक को दिखाने बोलता है फिर आस पास बॉडी ढूढने लगते है। तभी निखिल को बर्फ का एक बड़े से हिस्से के अन्दर एक असुर का मुखौटा दिखाईं पड़ता है जिसमे इंसान का बॉडी मिलता है।lअगले सीन में हमे रसूल को दिखाया जाता है।जो कम्प्यूटर में काम कर रहा होता है फिर थोड़ा देर में ढाका बांग्लादेश देश में किसी को टैबलेट से मैसेज भेजता है। तुम लोग तैयार हो आज 9 बजे के लिए।जहां बहुत सारे लोगों को दिखया जाता है। जहां उनको कंप्यूटर में कोडिंग का काम करते दिखाया जाता है। तभी एक आदमी वहा आता है। उनमें से एक को पुछता है आज के लिए तैयार हो। तभी ओ बोलता है अगले 2 घंटे में हम सभी नेटवर्क को हैक कर पाएंगे। 
फिर रसूल को रिप्लाई करता है।रेडी है 9 बजे के लिए।अब सोचने वाला बात है क्या होने वाला है 9 बजे। और ओ लोग कौन से नेटवर्क हैक करने वाले है।काफी सारे सवाल है चलो आगे देखते है।तभी नुसरत को दिखया जाता है। जिसके यहां कुछ महमान आए हुए होती है।जिनमे टिया नाम की बच्ची होती है जो नुसरत से गले लगकर मिलती है। नुसरत बच्ची से पूछती है मम्मी पापा नही आए फिर बच्ची कहती है पापा नहीं आए मम्मी आई है।
 उसकी मम्मी को देख का नुसरत अजीब सा सकल बनाती है जिसका नाम समा होता है। हाल चाल पूछने के बाद नुसरत के पास निखिल का मैसेज आता है जिसे देख कर नुसरत वापस चली जाती है।अब हमे पुलिस थाने में ईशानी और नयना को दिखाया जाता है। जहां ईशानी नयना से कुछ पूछ तास कर रही होती है। और नयना कहती है मुझे स्वाति के बारे में कुछ नही मालुम। तभी ईशानी कहती है जिस औरत के भरोसे अपनी बच्ची को छोड़कर जाती थीं। उसके बारे में आपने कोई पुछतास नही की ओर न ही कोई फोटो ली।तभी नयना कहती है नही जैसे उसको कोई मतलब ना हो।
 स्वाति वही नौकरानी होती है जिसने नयना की बेटी को जहर देकर मारा था।थाने से निकलते वक्त नयना से उनका हसबैंड निखिल मिलता है। जो नयना से कहता है। की ईशानी अपना काम कर रहीं है तुम्हें कोप्रेट करना चाहिए। तभी नयना कहती है जो कुछ भी पता था मैने सब कुछ बता दिया। रही स्वाति की बात तो उसको भगवान सजा जरुर देगा।

अब हमे बौद्ध टेंपल में डीजे को दिखया जाता है। जहां उस बच्चे के साथ बैठ कर ध्यान कर रहा होता है। और उससे कहता है पता है सब कुछ छोड़ के आया था मैं यहां मन की शांति के लिए लेकिन। शांति नही मिल रहीं। तभी ओ लड़का कहता है पता है आप शांति क्यों नही मिल रही।

 क्योंकि आप सभी को त्याग कर नही टाल कर आए हों।अपनी परछाई से भागिए मत उसे स्वीकार कीजिए।
तभी डीजे अपना फोन चालू करता है जिसमे काफी सारे मैसेज और मिस कॉल नजर आते है।तभी नयना को अपनी कंप्यूटर पर डीजे का लोकेशन शो होता है।अब हमे फॉरेंसिक लैब में बर्फ में मिले बॉडी के साथ निखिल और नुसरत को दिखाया जाता है।तभी बॉडी में एक जगह टाका लगा होता है जिसे निखिल खोलता है।ईधर डीजे को एक पार्सल मिलता है जिसमे उसकी पत्नि का फोटो होता है जिसमे लिखा होता है। विवाह वर्षगाठ की बधाई आपका उपहार आपको शाम तक मिल जायेगा।

यहां आपको बता दे डीजे की पत्नी मर चुकी है तो ये बधाई कोन दे रहा है। हो सकता है ये काम असुर का हो।
इधर निखिल को उस टाके के अंदर से एक घड़ी मिलता है। जिसमे 9:05 का समय सेट होता है। तभी नुसरत कहती है आज रात कुछ होने वाला है।तभी निखिल कहता है इसके बारे में एक ही आदमी बता सकता है।फिर निखिल और ईशानी केसर से मिलने जेल पहुंचते है। तभी केसर कहता है मिल गई घड़ी। तभी निखिल पूछता है की आज रात को शुभ क्या करनें वाला है। लेकिन केसर शुभ को भगवान बताने लगता है।और कहता है इस घड़ी के बारे में जानकर भी तुम कुछ नही कर पाओगे। क्योंकि भगवान भविष्य लिख चूका है। ऐसा लगता है शुभ ने इनका ब्रेनवास कर दिया है तभी तो केसर शुभ के नाम की माला जप रहा होता है।

तभी केसर कहता है सभी उनके हिसाब से हो रहा है। लेकिन एक चीज़ को उन्होने तैयार नही किया था की आप अपनी बेटी की कुर्बानी दे देगे।लगता है आपको आजादी चाहिए।तभी तो बेटी और आपकी पत्नी दोनो छोड़ कर चली गईं। तभी निखिल गुस्सा होकर केसर को मारने लगाते है। और बाकी लोग उन्हें छूड़वाते है।

तभी केसर निखिल से कहता है।क्रोध तुम्हें अंधा बना देता है इसलिए तुम्हारे सामने जो होता है उसे भी नही देख पाते। यह कहकर उस घड़ी के कांच को तोड़ देता है। किसके अंदर एक छोटा सा रुद्राक्ष दिखाईं देता है। जिसके बारे में ईशानी केसर से पुछती है।तभी निखिल को शुभ का ओ बात याद है जिसमे उसने कहा था।मृत्यु के समय असुरों की पीड़ा देखकर शिव को भी अपनी गलती का अहसास हुआ था। उनके आंखो से निकले आसू ने बीज का आकर लिया। जिसे रुद्राक्ष के नाम से जाना गया।

तभी केसर कहता है महायुद्ध का सुरूवात हो गया है। निखिल नायर ये दुनिया बदलने वाली हैं। और आप चाह कर भी कुछ नही कर पाओगे।अगले सीन में निखिल एसबीआई हेड को ओ रुद्राक्ष देते है और बोलते है। एक बार सुभ ने मुझे रुद्राक्ष की कहानी सुनाई थीं जिसमे बताया था की। आदि काल में असुरों ने 3 नगरों की रचना की थी। जिन्हें अकेले तोड़ा नही जा सकता था। उस कहानी के अंत में शिव ने एक तीर से एक साथ उन तीनो नगरों का विनाश कर दिया था।इसका मतलब ये है सुभ आज एक साथ 3 जगह अटैक करने वाला है। आज रात 9:05 को। अब सीबीआई हेड कहते है की उन तीन जगहों का कैसे पता चलेगा।तभी निखिल सोचता हैं 
और बोलता है। जिस तरह से हमे ये घड़ी उसके शरीर में मिला हैं। उसी तरह हमे उसके शरीर में ही बाकी कुलु मिल सकते है। बॉडी का बाकी रिपोर्ट देखने के बाद निखिल उसके दांत का एक्सरे रिर्पोट मांगता है।
अगले सीन में बौद्ध टेंपल में नयना डीजे से मिलने आई हुई होती है। जहां नयना डीजे को स्वाति के बारे में कुछ दिखाती है। लेकिन डीजे किसी भी तरह की मदद के लिए मना कर देते है।तभी नयना सभी चीजों का ब्लेम डीजे पर लगाती है की। 
तुम्हारी वजह से मैने अपनी बेटी खोई है। तब डीजे कहते है उसके मौत के जिम्मेदार निखिल और तुम दोनो हो क्योंकि तुम दोनो वहा थे तो क्यों नही रोक पाए रिया की मौत को।डीजे कहते है। मुझे अपनी ही पत्नि के खून के आरोप में जेल में डाल दिया। मैने संध्या लोलक और अपनी करियर सभी को खो दिया। मैं कायर नहीं हूं। बस मैं चहता हूं मेरी वजह से कोई और न मरे।अगले सीन में हम डीजे को एक जंगल मे देखते है। जो निराश होकर पेड़ में हाथ मार रहा होता है। और रोने लगता है।अगले सीन में हम निखिल को देखते है। जो दांत का एक्सरे रिर्पोट देखता है। जिसमे 3 नए दांत लगे दिखाई देते है। जिन्हे देखकर उन्हें शक होता है। तीनो दांत को निकालने के बाद उसमे लोकेशन का कोड होता है। जहां जहां रात 9 बजे अटेक होने वाले होते है जिसमे से पहला मुंबई का रिदम मॉल, दूसरा स्वेल हेल्थ हॉस्पिटल दिल्ली, तीसरा बंगलोर में एक घर का एड्रेस होता है।तीनो जगह पुलिस की टीम पहुंचती है। उन्हे प्रोटेक्सन देने।

तभी नुसरत को दिखया जाता है।जो सुभ के उम्र के हिसाब से उसका फोटो दिखाती है। क्योंकि किसी को वर्तमान में सुभ का चेहरा पता नही होता।तभी सभी न्यूज में आज रात तीन जगह होने वाले अटैक के बारे में बताया जाता है।

अगले सीन में निखिल रसूल को कहता है। हॉस्पिटल के आस पास तनिष्क नक्षत्र वाले लोगो का जीपीएस लोकेशन भेजो। लेकिन रसूल कहता है लिस्ट में तीन हजार लोग है उनका डेटा इकठ्ठा करना इतना आसान नहीं है।

अगले सीन में बंगलादेश में बैठे नेटवर्क हैकर को दिखाया जाता है।जिसको रसूल ने मैसेज भेजा था। अब हम देखते है सभी नेटवर्क को हैक कर लिया गया है। जिसमे अब असुर के मुखौटे की दिखाया जाता है। जो बोलता है कलयुग में जन्म और मृत्यु देना कली के हाथो मे है। आप लोग देखेंगे अगले तीन मिनट में मै 3 लोगो का मैं प्राण हरूंगा। जिसे कोई इन्सान या भगवान कोई नही बचा सकता। कली अपनी सक्ति साबित करने के लिए मरने वालो का हरेक मूमेंट हमे स्क्रीन में दिखाया जाता है। उसके बाद हमे एक घर में बैठा बुजुर्ग, मॉल में घूमती लड़की और हॉस्पिटल में एक डॉक्टर को दिखाया जाता है। उसके बाद हम देखते है ठीक 9:05 को हार्ट अटैक से तीनो लोगो का मृत्यु हो जाता है।

तभी कली कहता है जो भी नैतिकता के मार्ग में चलेगा उसकी मृत्यु निश्चित है। कली को रोकने की क्षमता किसी में नहीं।अगले सीन में नयना को कार में बैठते दिखाया जाता है। जिसमे डीजे भी आकर बैठता हैफिर नुसरत को दिखाया जाता है।

जो शुभ के उम्र के हिसाब से बनाए चेहरे को साफ्टवेयर की मदद से इंसानों मैच कर रही होती है। जो किसी से मैच नही करता।इधर रसूल को दिखया जाता है। जो कली की उपदेश को सुनकर मुस्कुरा रहा होता है। तभी उसके कंप्यूटर में कुछ दिखाईं देता है। जिसे खड़े होकर प्रणाम करता है। अब हम देखते उसमे शुभ का धुंधला चेहरा दिखाई देता है।।और यह सीरीज यही खत्म हो जाती है।
आगे की जानकारी के लिए देखना न भूले नेक्स्ट सीरीज।

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag