Gadar 2 की कहानी। Gadar 2 movie story in Hindi l Gadar 2 Explained in hindi

नमस्ते दोस्तों हम explanation कर रहे है new release movie Gadar 2 जो की Gadar 1 का Sacual है

Gadar 2 movie story in Hindi

Gadar 2

Gadar 2 movie की शुरुआत में हम Gadar movie के कुछ scene देखते हैं जो कि 1947 का होता है कैसे तारा सिंग और सखीना मिले कैसे उन लोगों की शादी हुई सकीना के पापा अशरफ अली ने कैसे तारासिंह के सामने हार मानी और कैसे उनका बेटा जीत हुआ?

सब कुछ हमको एक flash back में दिखाया जाता है. फिर हम general हामिद को देखते हैं जो कि उस जंग को भुला नहीं पाता, जहां पर उसके soldiers को तारासिंह ने जान से मार दिया था.वो तारा सिंह को खुद अपने हाथ से मारना चाहता था और अशरफ अली ने जब हार मान के उन दोनों की शादी कराया
था तब से वो अशरफ अली को मारने की साज़िश कर रहा था और उस साज़िश में वो कामयाब भी हो गया.

अब उसका सिर्फ एक ही मकसद है तारा सिंह और उसके family को खत्म करना और Pakistan में सारे हिन्दुओं को मुसलमान बनाना और इस साज़िश के लिए वो किसी भी हद तक जा सकता है.

दूसरी तरफ हम तारासिंह को देखते हैं जो कि अपने trucks को लेकर army कैंप की तरफ आ रहा था और वह major general के बुलाने पर वह जाता है और बोलता है sir आपने मुझे याद किया तब general राघव उसको बोलते हैं तारा तुम कैसे हो सकीना और जीत कैसे है तारासिंह तब बोलता है sir आप लोगों के दुआओं से वो दोनों सही है पर sir जीत कोई बात नहीं सुनता उसको मैं हमेशा बोलता हूं पढ़ाई करने के लिए क्योंकि मुझे आप जैसा उसको अफसर बनाना है और उसके दिमाग में कैसा भूत चढ़ा मुझे में समझ में नहीं आता, वो hero बनना चाहता है, Mumbai जाना चाहता है, तो major बोलता है.अभी तो वो छोटा है. धीरे धीरे वो ठीक सुधर जाएगा. फिर major राघव बोलते है, तारा मुझे तुम्हारी help चाहिए मुझे पचास truck चाहिए होगा रामघाटी की तरफ जंग होने की संभावनाहै तब तारा बोलता है sir help किस बात की यहतो मेरा duty है मेरी जान मेरी मां के लिए हमेशा हाज़िर है आप कभी भी बुला लेना तारासिंह पहुंच जाएगा ।

फिर हम देखते है तारा के परिवार को जहां पर सकीना उसकी बीवी जीत उसका बेटा वह तीनों अच्छे से रहते हैं, बस तारा चाहता है कि जीत पढ़कर officer वन जाए, पर जीत का मन कहां पढ़ाई पर बैठता है, वो तो हमेशा नाटक drama उसके साथ में cinema भी देखते जाता है. इस बात पर तारा बहुत गुस्सा जाता है और वो सकीना पर गुस्सा होकर बोलता है तुम्हारे वजह से तुम्हारे बेटे का यह हाल है इसको आज खाना मत देना. खुद ही फिर जीत के लिए खाना लेकर जाता है और जीत से वह बहुत ज़्यादा प्यार करता है. पर जीत के दिमाग में hero बनने का भूत इस तरह सवार था कि वो पढ़ाई लिखाई एकदम छोड़ दिया था. Class भी बंद करने लगा था तारा फिर मजबूर हो के उसको चंडीगढ़ भेजता है पढ़ने के लिए फिर एक दिन रात को सकीना तारा से बोलती है तुम्हें पता है जब तुम मुझे हिंदुस्तान लेकर आए थे अम्मी मुझे खत लिखा करती थी कि papa रात रात बजे रोया करती है कि मेरी बच्ची मेरे पास नहीं है सारे मां बाप के पास उनके बच्चे उनके लिए सबसे कीमती चीज़ होता है ।

Gadar 2

फिर हम देखते हैं रामघाट के सरहद पर हिंदुस्तान और Pakistan के बीच में जंग चल रहा था और commander बोलता है sir उनके पास एनीमेशन है और हमारे पास हथियार है पर वो नीचे है हमे पहाड़ तक लेकर जाना पड़ेगा तब major बोलता है तुम थोड़ा रुको मैं truck भिजवाता हूं और वह truck लेकर आता है तारासिंह और तारा major से भूत है साहब आप चिंता मत करो उनको बस मेरा नाम बता देना कि तारासिंह आया है उनके लिए मेरा नाम ही काफी है मैं पूरा हथियार सर ऊपर तक पहुंचा दूंगा फिर तारा और उसका आदमी truck लेकर Pakistan की गाड़ी को कुचलती हुए पहाड़ के ऊपर जा रहे थे और उधर जाकर खुद भी जंग लड़ रहे थे

तब उसको दूर से पाकिस्तानी general हामीद देख लेता है और उसका मनोकामना पूरा हो जाता है तारा को मारने का और वो army को बोल के तारा की तरफ बमबारी कर रहा था फिर जब तारा का पता नहीं चलता है सकीना और जीत तब base camp पहुंचते हैं और तारा सिंह के बारे में पता करते हैं. तब army officer बताते हैं. हमारे बहुत सारे जवान भी लापता हैं. हम protocol नहीं तोड़ सकते हैं और अगर वो लोग पाकिस्तानी soldier के हाथों पकड़े गए तो हम सोच भी नहीं सकते कि उन लोगों के साथ क्या क्या हो रहा होगा? सकीना और जीत को उधर से खाली हाथ लौटना पड़ता है.सकीना अंदर से टूट चुकी थी. तारा के याद में वो हर दम रोती रहती थी. और खाना पीना भी उसने छोड़ दिया था पर दूसरी तरफ जीत अपने papa के बारे में हर time सोचता रहता था और वह अपने papa का जिगरी दोस्त का चिठ्ठी खोलता है जिस पर Pakistan का address लिखा हुआ था उससे

अपनी मां का हालात देखा नहीं जा रहा था और वह अपने papa को भी खोना नहीं चाहता था तब भी ठान लेता है मैं Pakistan जाऊंगा और मेरे papa को ढूंढ के वापस लाऊंगा फिर वो अपने घर में एक चिठ्ठी छोड़ के Pakistan के लिए नकली identity और passport बना के निकल जाता है. पाकिस्तानी हर एक से पुछ रहे थे तुम में से अगर कोई हिंदुस्तानी जासूस है तो अभी बता दो नहीं तो मरने के time तुमको पानी भी नसीब नहीं होगा और एक आदमी से officer बोलता है तुम लखनऊ से हो ना उधर मुसलमान कैसे रहते हैं? जब वह बोलता है उधर मुसलमान भाई भाई की तरह रहते हैं और यह भी बोलता है मेरे वालिद का इंतकाम हो गया है इसलिए उनको आखिरी बार देखने के लिए आया हूं तब वह officer बोलता है जो मुसलमान बोलता है कि वह India में खुश है उसको Pakistan में रहने की कोई हक नहीं है और उसको उधर गंदी तरीके से पीटता है और यह सब देखकर जीत भी चौकन्ना हो चुका था और officer जो भी सुनना चाहता था वो वही बोलता है उस immigration से वो निकल जाता है पर कुछ time बाद उधर ISI आ जाता है और बोलता है ये photo में जोलड़का है उसपे नकली document बना के Pakistan में घुसा है वहएक हिंदुस्तानी agent है.

फिर जीत करीम के घर जाता है जो कि तारा का दोस्त होता है और उस से पूछता है कि बाबा किधर है वह बोलता है बेटा मुझे तो सही से नहीं पता तुम्हारे बाबा किधर है वह जिन कैदियों को पकड़ा गया है उन लोगों को कि special sale में रखा गया है जो कि लाहौर में है.

फिर करीम में अपना network लगाकर आजामिया के घर जीत को खाने की काम में लगाता है और जीत उधर जाकर सब से घुल मिल जाता है और सबसे ज़्यादा मुस्कान से जो कि आजामिया की बेटी होती है. असलियत में मुस्कान को फिल्मों का बहुत शौक था आपको तो पता है जीत क्या बनना चाहता है वो उन दोनों घुलने मिलने लगे धीरे धीरे घुलने मिलने प्यार में बदल गया और दूसरी तरफ जीत plan बनाता रहता है कैसे वो अपने papa को चुरा के इस देश निकलेगा फिर ईद के अगले दिन मुस्कान उसको propose करता है और बोलता है मेरा जीवन साथी तुम बनोगे पर अगले दिन जीत गायब होता है और करीम चाचा से जीत से जाकर बोला है मैंने मुस्कान को अंधेरे में रखा है मुझे कोई हक नहीं बनता उसका दिल तोड़ने का. मेरा असली मकसद वह जब जाने की वह से नफरत करेगी उसके पीछे तब मुस्कान भरी थी वह पूछता है तुम्हारा असली मकसद क्या है? जी तब उसके सामने सब कुछ conference कर है कैसे उसके papa को पकड़ लिया गया और फिर वो उनको ढूंढने के लिए इधर आए है और उनको लेके इधर से चला जाएगा वो कोई जासूस नहीं है तो मुस्कान भी उसका साथ देता है.

फिर ईद के खाना पहुंचाने के लिए मुस्कान और जीत लाहौर जेल गए थे पर तब जीत का मुलाकात हमीद से होता है जो कि बहुत ही बेरहम होता है और वो हर एक कैदी को जानवरों की तरफ पीठ रहा था और उनमें देख के जीत बहुत रो रहा था.

फिर उस दिन रात को मुस्कान के घर ISI आते हैं और उस जीत को ढूंढने लगते हैं, उनको सब कुछ पता चल गया था और जीत रात के अंधेरे में jail पहुँचता है अपने papa को ढूँढने के लिए. तब एक कैदी बोलता है बेटा तारासिंह को तो उन्होंने पकड़ा ही नहीं.

जब उन्होंने बम बारी की थी तारासिंह नदी में गिर गए थे और उन लोगों ने हम लोगों को पकड़ लिया और दूसरी तरफ तारा घर पहुँचता और सकीना को सारी बात बताता है. क्या ऐसे वो नदी से गिर वह कोमा में चला गया था. वह चाह के भी ना घर पहुंच सकता था ना किसी से खबर भिजवा सकता और जब उसको पता चलता है कि उसको बचाने के लिए जीत पाकिस्ता गया है वो गुस्सा और emotional दोनों एक साथ होते हैं और सकीना से वादा करता है. मैं जीत को वापस ले आऊंगा तो चिंता मत कर. फिर तारा Pakistan के लिए रवाना होता है और रास्ते में उनको अपनी family के हर एक मेमोरी याद आता है.

फिर तारा Pakistan पहुंचता है उधर हिंदुओं को मुसलमान बनाया जा रहा और हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाया जा रहा था उस माहौल को देखकर वह चुपचाप उधर से निकल के करीम के घर पहुंचता है पर करीम उधर नहीं था पर रास्ते से उसको इकबाल उठा लेता एक बाल तारा का दोस्त होता है और वो करीम से उसका मुलाकात कराता है. फिर उसको जीत के बारे में पता लगता है कि जीत को पकड़ लिया है.

दूसरी तरफ हामिद जीत को बहुत पीटता है और जीत तब बताता है अगर मेरे papa को एक बार पता लग गया ना तुमने मेरा ऐसा हालत किया है तेरा सर, तेरा घर से अलग कर देंगे वह और हामिद ने मुस्कान को भी मजबूर कर दिया था यह बोलने के लिए कि जीत ने उसका बलात्कार किया है और यह बात बोलने से अवाम भी जीत पर भड़क जाता है और उस पर पत्थर वारी करने लगता है. और तभी तारासिंह का entry होता है. यह entry बहुत ही ground था और आपको देखने में बहुत मजा आएगा. तारा तब आकर बोलता है बाकी से ज़्यादा मुस्लिम हिंदुस्तान में हैं. अगर जितने मुसलमान अभी Pakistan में हैं उनको मौका मिले
हिंदुस्तान में बसने का तेरह Pakistan कटोरा लेकर खड़ा होगा भीख देने के लायक भी कोई नहीं बचेगा.

फिर किया घमासान action शुरू होता है भाई बहुत ज़्यादा action होता है. फिर हामिद के बेटे को चार बना के बाप बेटे दोनों उधर से निकल जाते हैं और रात को अर्नल हामिद को बुलाकर बोलता है तुम्हारे पास बहत्तर घंटे हैं अगर तो उन लोगों को पकड़ लो, नहीं तो खुद की मुंडी मेरे जूते के सामने ला के रख देना. फिर वो लोग सकीना से बात करते और बोलते हम लोग ठीक हैऔर करीम बताते है भाईजान पूरे border को हमिद ने seal करा दिया

है हमारा अभी निकलना इधर से बहुत ही मुश्किल है तभी यह पाकिस्तानी soldier आता है और उन पर गोली चला देता है. फिर क्या beach beach में जो actionदेखने को मिलता है वो awesome है. एक secret movie से मैंने तो इतना expect नहीं किया था पर सनी पाजी ने जो कमाल दिखाया है भाई वो box office धमाका मचा देगा.

फिर उनके गाड़ी के ऊपर rocket launcher कहा जाता है और बाप बेटे अलग हो जाते हैं. फिर रात को वह लोग एक दूसरे को इधर उधर ढूंढ रहे थे और तारा तब वही पुराना गाना गाता है जो की उसके छोटे time से जीत को सुनाया था ऊर्जा काले कावा तेरे और जीत घायल हालत में वो गाना गुनगुना रहा था.

फिर से वो लोग मिल जाते हैं. फिर वो लोग border cross करते हैं. उनको आज़मियां मदद करते हैं वो भी मुस्कान की खुशी के लिए क्योंकि एक बाप के लिए अपने बच्चे की खुशी सबसे बड़ी होती है और वो मुस्कान को भी उनके साथ भेज देते हैं और खुद वो लोग पाकिस्तानी border cross करके देश छोड़ रहे थे पर उन लोगों को हामिद पकड़ लेता है और helicopter से एक एक करके नीचे फ़ेंकने लगता है.

तब तारा के पास कोई रास्ता नहीं था और जीत और उनको surrender करना पड़ता फिर उनको हामिद बात के बोलता है बोल हिंदुस्तान मुर्दाबाद और ना बोलने पर उन लोगों को बेरहमीको तरह मारता है और तारा बोलता है मेरे बच्चों को मत मार तुम्हें क्या लगता है अगर हम बोलते हैं हिंदुस्तान मुर्दाबाद तो क्या हिंदुस्तान मुर्दाबाद हो जाएगा? हिंदुस्तान भी ज़िंदाबाद था, आज भी ज़िंदाबाद है, आगे की भी ज़िंदाबाद ही रहेगा.

फिर जब हामिद हिंदुस्तान को मिटाने की धमकी देता है, तारा तब गुस्सा जाता है और फिर से action शुरू हो जाता है. तारा तब इन लोगों को कुत्ते की तरह मारने लगता है और हर जगह बमबारी होने लगता है. इस बार तो tank से भी fight होते हुए दिखाया गया है.में जब तारा का पीछा करता है उसको पता ही नहीं चलता कि वो हिंदुस्तान border के अंदर आ चुका है तब हिंदुस्तान army उनको पकड़ लेते हैं और फिर तारा उसे एक बार फिर मौका देता है अपनी गलती धार्मिक और बोलता है दुश्मनी भुला के बच्चों को अपना लो पर हामिद का नसल कुछ अलग था. वह नहीं मानने वाला था. वह जब पीछे से तारा को मारने जाता है तब Indian Army उस पर गोली चला देता है और इधर ही कहानी खत्म हो जाता है.

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag