कस्टडी (custody) मूवीस की फूल स्टोरी। custody movie story in Hindi

कस्टडी (custody)

दोस्तों आज के समय में police वाले कही कुछ हो ना हो लेकिन अपने देश में तो बहुत ज़्यादा बदनाम है और उसके पीछे काफी सारी वजह भी है और ऐसे ही concept पर बनी शानदार movie जिसमें काफी सारे twist और turning points हैं उसे हम आज आपके सामने लेकर आए हैं। हाल ही में release हुई एक तेलुगू movie जिसका नाम है “custody” जिसकी IMDB rating है 8.4 और इसी शानदार rating से पता चलता है कि इस movie में कितना दम होगा।अब बिना देरी किए चलिए शुरू करते हैं।

आज की explanation. कहानी की शुरुआत होती है उन्नीस सौ छियानवे से जहां पहले सीन में एक मां अपने बच्चे को बस में बिठाती है। तो वहीं दूसरी मां अपने बच्चे को पालने के लिए चौराहे पर खिलौने को बेचने का काम कर रही होती है तभी अचानक उसका बच्चा खेलते हुए गाड़ियों के beach चला जाता है जिसे दूर से एक आदमी देख लेता है और वो उस बच्चे को बचाने के लिए अपनी सिकरेट को एक गटर में फेंकता है और जल्दी से उस बच्चे की तरफ दौड़ता है कि तभी उसी गटर से गैस लीकेज या किसी वजह से एक ज़ोरदार धमाका होता है.धमाका इतना तेज है कि उसमें करीब करीब चालीस लोगों की मृत्यु उसी वक्त हो जाती है।और काफी लोग बुरी तरह से घायल भी हो जाते हैं।

अब सभी news channel इस खबर को दिखाने लगते हैं.तभी यहां की CM दक्चानी मरे हुए लोगों को मुआवज़ा के रूप कुछ पैसे देने का वादा करती है। साथ ही अब इस case को CBI को transfer भी कर दिया जाता है जिससे यह पता लगाया जा सके कि क्या यह सिर्फ एक हादसा था या कोई साज़िश?

अब movie आगे बढ़ती है और हमें अगला scene दो साल बाद उन्नीस सौ अट्ठानवे का दिखाया जाता है।जहां constable शिवा CM दक्षिणी के जाते हुए काफिले को रोक लेता है, जिससे ambulance को रास्ता मिल सके।अब ऐसा करते सीएम उसे देख लेती है और उससे काफी impress भी हो जाती है और उसको इसके लिए appreciate करने लगती है।

अब अगले scene में हम देखते हैं रेवती को जो कि प्रेम driving school में लोगों को driving सिखाने का काम करती है और जब वो driving सिखा रही होती है कि तभी उसमें constable शिवा आ जाता है दरअसल शिवा और रेवती बचपन से ही एक दूसरे को जानते हैं और पसंद भी करते हैं, लेकिन यहां उनकी बातों से हमें पता चलता है कि रेवती को को कल लड़के वाले देखने आ रहे हैं और वो लड़के वाले कोई और नहीं बल्कि जहां वो job करती है उसी की family से हैं।

यहां रेवती शिवा से कहती है कि इससे पहले वह लोग आजाएं तुम मेरे घर आकर मेरा हाथ मांग लो कहीं ऐसा ना हो कि देर हो जाए।अब अगले दिन जब शिवा police station पहुंचता है तो वहां का SI उसे डांटने लगता है क्योंकि उसने जो कल CM की गाड़ी को रोक कर कार नामा किया था उसके बारे में SI को पता चल चुका था।

अब शिवा अपने घर में सभी से रेवती के बारे में बात करता है और उनसे रेवती के घर चलने को कहता है जिससे वो उन दोनों की शादी की बात कर सके अब शिवा की family इसके लिए मान जाती है और सभी अगले दिन रेवती से मिलने मंदिर पहुंचता है। क्योंकि उन्हें पता चला था कि रेवती और उसकी family मंदिर में ही है लेकिन जब तक शिवा और उसकी family वहां पहुंचती है तब तक रेवती की family उसी प्रेम से रेवती की engagement कर देते है जो उसे देखने आने वाले होते है।

कस्टडी (custody) मूवीस की फूल स्टोरी। custody movie story in Hindi

अब शिवा की family को वहां देखकर रेवती के परिवार वाले भड़क जाते हैं और उनके साथ बदतमीज़ी करने लगते हैं और धीरे धीरे बात काफी ज़्यादा बढ़ जाती है।अब finally शिवा रेवती से कहता है कि रेवती अगर तुम मुझसे प्यार करती हो तो अभी भी समय है तुम मेरे पास आ सकती हो।

अब रेती कुछ कह पाती कि तभी उसकी माँ उसका हाथ पकड़ कर उसे पीछे खींच लेती है।अब अगले दिन शिवा जब वापस police station पहुंचता है तो SI फिर उसे पकड़ लेता है और कहता है कि रेवती की family ने तुम्हरे खिलाफ complaint दर्ज कराई है।

अब शिवा का दिमाग तो पहले से ही काफी खराब था तो वह SI से कहता है कि यह मेरा personal matter है। रेवती और मैं बचपन से एक दूसरे को जानते और इसी तरह उन दोनों में बहस हो जाती है तभी वहां का head constable money शिवा को रोकता है और डाटते हुए कहता है कि जब तुमको पता है कि हमारा SI कैसा है तब भी तुम उसके साथ बहस कर रहे हो वो शिवा को समझाता है कि SI  बनने तक तुम अपने गुस्से को काबू में रखो।

अब शिवा ये सब सोच ही रहा होता है कि तभी रेवती शिवा को police station call करके उसे बाहर मिलने के लिए बुलाती है।पहले वह मना करता है लेकिन बाद में मान जाता है।अब रेवती शिवा से कहती है कि मैं अब अपने घर से आ गई हूं।अब हम जल्दी से शादी कर लेते हैं।शिवा कहता है कि काश यह बात तुम कल सभी के सामने कह देती तो मेरी और मेरे परिवार की इतनी बेज्जती ना होती।

वो अपनी गलती के लिए माफी मांगती हैं और बताती है कि उसे भी नहीं पता था कि उसके मां बाप से मंदिर में engagement के लिए लेकर जा रहे हैं।अब कुछ देर बातचीत करने के बाद शिवा रेवती से कहता है कि वो रात को इसके बारे में बताएगा तो वो उसके call का रात तक wait करें।अब जैसे ही शिवा रेवती से मिलकर वापस आता तो SI  अपने driver को छुट्टी देकर, शिवा को अपना driver बना कर उसे अपने साथ ले जाता है।

कस्टडी (custody) मूवीस की फूल स्टोरी। custody movie story in Hindi

उधर रेवती के मां बाप उसे एक room में बंद कर देते हैं  जिससे वो शिवा को call ही नहीं कर पाती।इधर शिवा police station पहुंचकर रेवती के बारे में सारी बातें head constable money को बताता है और अब वो दोनों रेवती के घर जाते हैं जिससे शिवा रेवती से बात कर सके,

लेकिन तभी रास्ते में उनका accident हो जाता है।जहां एक गाड़ी उनके scooter को उड़ा देती है।वहीं हम देखते हैं कि उस car में मौजूद दो लोग आपस में बुरी तरह से लड़ रहे होते हैं उनमें से एक है। जोर्ज जो कि CBI officer है और दूसरे का नाम होता है राजू अब इन दोनों को लड़ते हुए देख शिवा beach में आ जाता है और इन दोनों की fight को रोक कर दोनों को arrest करके jail में डाल देता है।

अब police station आकर शिवा तुरंत अपने SI को phone करके बोलता है कि उसने दो लोगों को jail में बंद किया हुआ है।जिनमें से एक खुद को CBI officer बता रहा है और दूसरा CM को जानता है।

SI कहता है, कोई बात नहीं तुम फ़िलहाल कोई FIR मत लिखो.मैं सुबह आकर देखता हूं।तुम तब तक इन दोनों पर नज़र रखो बस।वहीं हम दूसरी ओर CM दक्षिणी को देखते हैं जो किसी IG नटराज को call करके बोलती है कि राजू किसी police station के lockup में है, उसे जल्दी से बाहर निकालो।

इधर जॉर्ज ज़ोर ज़ोर से बोल रहा होता है। मैं CBI officer हूं, कोई अपराधी नहीं, ये राजू एक बड़ा criminal है जिसने काफी सारे murder किए हैं। और दो साल पहले जो blast हुआ था जिसमें इतने सारे लोग मारे गए उसमें भी इसी का हाथ है ये लो मेरे CBI head वर्गीस का number और जल्दी उन्हें call करके मेरे बारे में पूछो अब शिवा उस number पर call करके सारी बात बताता है और साथ में जॉर्ज के बारे में पूछता है।

Varghese शिवा को बताता है कि जॉर्ज एक CBI officer है और राजू एक criminal है, जिसे कल किसी भी हाल में बैंगलोर के कोर्ट में पेश करना है, तुम उन दोनों का ख्याल रखो।

मैं अपने आदमी को वहाँ जल्दी से जल्दी भेजता हूँ, अब थोड़ी ही देर बाद वहाँ SP IG नटराज और उस police station का SI वहां पहुंच जाता है।वो सभी constable को वहां से बाहर जाने को बोलता है और फिर George और राजू को lockup से बाहर निकालकर जॉर्ज को गोली मारने ही वाला होता है कि तभी शिव वहाँ आ जाता है।वो जल्दी से उस gun को हटाता है जिसकी वजह से उसकी bullet जार्ज को ना लग कर सीधे राजू के पेट में जा लगती है।

अब जॉर्ज और शिवा की सभी के साथ घमासान fight होने लगती है, जिसमें finally वो दोनों सभी को lockup में बंद करके वहाँ से राजू को लेकर भाग जाते हैं।अब शिवा जॉर्ज के साथ मिलकर घायल राजू को सीधा एक hospital में लेकर जाता है, जहां शिवा के father एक driver की job करते हैं.

अब यहां राजू का हल्का फुलका treatment होने के बाद वो अपने पिता से कहता है कि कुछ ही समय में सभी police वाले मुझे ढूंढते हुए घर आऐंगे, लेकिन आप माँ और बहन को लेकर कहीं दूर निकल जाओ।अब इतने ना भूल कर शिवा किसी local vehicle से ना जाकर अपने पिता की van में ही बैंगलोर के लिए निकल जाता है।वहीं रेवती भी प्रेम को अपनी बातों में फंसा कर शिवा से मिलने के लिए निकलती है तभी रास्ते में शिवा van में नज़र आता है तो वो उसे रोक लेती है ।

अब शिवा जल्दी से सारी बातें बताने लगता है लेकिन रेवती कहती है कि वो अब घर से भाग आई है और अब वापस नहीं जा सकती।तो ना चाहते हुए भी शिवा अब रेवती को अपने साथ Van में लेकर Bangalore के लिए निकल जाता है।

अब सुबह होती है जहां हमें हर तरफ गाड़ियों की checking होती नज़र आती है वहीं दूसरी ओर रेवती के parents police station में आकर SI से शिवा की complaint करते हैं और कहते हैं कि शिवा उसकी बेटी को भगा कर ले गया है।

SI  उनकी बातों पर विश्वास नहीं करता।वह कहता है कि शिवा खुद कल रात से गायब है और हम खुद उसे ढूंढ रहे हैं।इसलिए आप घर जाइए रेवती भी कहीं और गई होगी ओ वापस आ जाएगी ।लेकिन तभी प्रेम सामने आता है और पिछली रात की सारी बात SI को बता देता है साथ ही वो ये भी बता देता है कि शिवा अपने पिता की van से बैंगलोर जा रहा है और रेवती उसके साथ ही है।

अब IG नटराज उस van को ढूंढ़ने में लग जाता है और सारी police उनकी खोज में निकल पड़ती है।अब अगले scene में हम देखते हैं कि शिवा की van में heat होने की वजह से, शिवा उसमें पानी डालने के लिए रुकता है लेकिन तभी उसकी van police वालों को नज़र आ जाती है।

अब सभी गाड़ियां उस van के पीछे लग जाती हैं और जब शिवा को कोई रास्ता नहीं मिलता तो finally वो अपनी van को नदी में कूदा देता है।अब नदी में जाने के बाद जॉर्ज राजू, रेवती और शिवा उस Van से बाहर निकलने की कोशिश करते हैं।

वहीं ऊपर से नटराज  उन सब पर लगातार firing करने लगता है तभी राजू पानी से बाहर आता है और नटराज से कहता है कि high partner मैं इधर हूं लेकिन नटराज उसे बचाने के बजाय उसी पर firing कर देता है तभी शिवा राजू को अपनी तरफ खींच लेता है और राजू की जान बच जाती है अब वहां से बचते बचाते आते हुए ये सभी एक pipe line में चले जाते हैं।

जहां हमें पता चलता है कि जार्ज को एक गोली लग चुकी है।अब वो शिवा से कहता है कि तुम राजू को जल्दी से लेकर मेरे chief हरगिज के पा पहुंचो क्योंकि राजू का court में पहुंचना बहुत ही ज़रूरी है तब तक मैं इन सभी को यहां रोकने की कोशिश करता हूं। अब शिवा राजू और रेवती को अपने साथ लेकर वहां से आगे निकल जाता है।

और इधर जॉर्ज की नटराज के साथ घमासान fight होने लगती है, जहां finally नटराज जार्ज को मार देता है।अब आगे वह उन तीन के पीछे जाता है।जहा नटराज finally उनके सामने आ ही जाता है।यहाँ हमें पता चलता है कि नटराज और राजू दोनों crime partners हुआ करते थे लेकिन अब सीएम के कहने पर नटराज राजू को मारने के लिए उसके पीछे पड़ा हुआ हैं।

अब इधर नटराज और राजू में fight होने लगती हैं की तभी pipe line में अचानक से काफी सारा पानी आ जाता है जिसके बाद सभी लोग पानी में बह जाते हैं लेकिन कैसे भी करके finally शिवा उन दोनों को लेकर एक किनारे पर आ ही जाता है।

दूसरी तरफ हम CM के ताऊजी को देखते हैं जो दक्षिणी से कहते हैं कि मैंने और तुम्हारे papa ने मिलकर इस party को यहां तक पहुंचाया है।गलती से भी कोई दाग इस party पर नहीं आना चाहिए।इस बात का ध्यान रहे।

दक्षिणी कहती है कि ऐसा नहीं होगा ताऊ जी,बल्कि सुबह तक मैं आपको एक अच्छी खबर सुनाऊंगी।अब वो तुरंत नटराज को call करके बोलती है कि अगर गलती से राजू पकड़ में आ गया तो मेरे और तुम्हारे साथ साथ काफी लोग jail जा सकते हैं इसलिए जल्द से जल्द उसे पकड़ कर खत्म करो जितनी police चाहिए उतनी ले लो मैं permission देती हूं बस राजू किसी भी तरह से पकड़ा नहीं जाना चाहिए।

इधर वो तीनों जंगल के रास्ते से आगे बढ़ने लगते हैं।तभी राजू रेवती और शिवा को बताता है कि वो CM दक्चायनी को पहली नज़र से प्यार करने लगा था।लेकिन कभी उसे बता नहीं पाया और आज जिससे मैं प्यार करता हूँ, वही मुझे खत्म करना चाहती हैं, इसलिए बेहतर होगा तुम दोनों भी मुझे छोड़कर कहीं दूर चले जाओ और chain से अपनी ज़िंदगी बिताओ।

शिवा मना करता है तो फिर से उन दोनों में हाथापाई शुरू हो जाती है, रेवती शिवा को रोकती है और कहती है कि जाने दो ना इनको।तब शिवा कहता है कि जिस आदमी की वजह से मेरे भाई की मृत्यु हुई है जिसकी वजह से मेरा सब कुछ बर्बाद हो गया मैं उस आदमी को कैसे जाने दे सकता हूँ।

और अब इसी के साथ कहानी flashback में जाती है जहा हमें शिवा के भाई विष्णु दिखाया जाता है जो कि एक बहुत ही ईमानदार constable था और उसका बस एक सपना था कि उसे जल्द से जल्द एक दिन SI ही बनना था।वही हमें उसकी girlfriend भी दिखाई जाती है जिसके साथ उसकी शादी होने वाली थी तभी एक दिन विष्णु जब अपने papa के लिए दवा लेने जाता है तो वहां एक ज़ोरदार धमाका होता है जो हमें movie की शुरुआत में दिखाया गया था।

अब यहां विष्णु की जान बच जाती है लेकिन वो सभी लोगों को बचाने में लग जाता है कि तभी अचानक एक बिजली का poll उसके ऊपर गिरता है जिसमें current होता है और जिसकी वजह से उसकी वही मृत्यु हो जाती है।और अपने भाई के अधूरे सपने को पूरा करने के लिए ही शिवा police में join हुआ ताकि वो एक दिन SI ही बनकर अपने भाई का सपना पूरा कर सके।

खैर अब कहानी present में आती है जहां राजू का अब काफी सारा blood निकल रहा होता है क्योंकि वो bullet अभी तक उसी के अंदर ही थी तब शिवा और रेवती उसे किसी भी तरह hospital लेकर जाते हैं लेकिन वहां काफी सारी police होने की वजह से और उससे बचने के लिए वो एक ex army officer Philips के घर में घुस जाते हैं। जहां वो अंदर जाकर Philips को सारी बातें बताता है जिसके बाद Philips राजू के अंदर से वो bullet निकालता है और उसका ट्रीटमेंट करना शुरू करता है।

इसी बीच शिवा सीबीआई हेड वर्गीस को call करके सब बताता है कि वो कहाँ है? तब verges कहता है कि तुम राजू का ख्याल रखो और वही रहो मैं अपने officers को वहां भेजता हूं। verges जल्दी से एक रंजिता नाम की lady को call करता है।जो उस समय कुछ पूछ्ताछ के सिलसिले में नटराज के पास ही होती है। वो रंजीता को शिवा के current location बताते हुए कहता है कि गलती से भी इसकी भनक ig नटराज को नहीं लगनी चाहिए ।

अब इसके बाद रंजिता Philips के घर पहुंचती है और उनको लेकर बैंगलोर के लिए निकल पड़ती है लेकिन नटराज को रंजिता पर शक हो चुका था तो वो भी रंजिता के पीछे ही था और थोड़ा आगे जाने पर वो उनकी गाड़ी को रोक कर उन पर फायरिंग करना शुरू कर देता है।लेकिन तभी वहाँ entry होती है आर्मी ऑफिसर Philips की जो अपनी machine gun से नटराज और उसकी team की हालत खराब कर देता है ।

और इसी beach मौका पाते ही शिवा रेवती और राजू को लेकर वहां से भाग निकलता है और उनको लेकर एक गाड़ी में छुपकर बैठ जाता है।वह राजू से कहता है कि देख लो तुम्हें मारने के लिए कितने लोग पीछे पड़े इसलिए तुम्हें जाकर बैंगलोर court में सभी के खिलाफ गवाही देनी चाहिए जिससे सभी बड़े बड़े लोग पकड़े जाएं।

अब जिस गाड़ी में वो तीनों छुपकर बैठे थे, वो एक शादी में जा रुकती हैं जहां बाहर निकलते ही एक lady रेवती को पहचान लेती हैं और कहती है कि तुम्हारे papa ने बताया ही नहीं कि तुम भी शादी में आ रही हो चलो जल्दी से अंदर चलो मैं तुम्हें ready करती हूँ. ऐसा बोल कर वो रेवती को अपने साथ अंदर ले जाती है।

फिर वो सीधा उसके papa को call करके पूछती है कि आपनेतो कहा था रेवती की शादी है और उसके साथ आप यहाँ क्यों नहीं आए ये सुनकर रेवती के father shock हो जाते हैं और उसे बताते हैं कि रेवती शादी से भाग गई थी।

तुम जल्दी से उसे कहीं room में बंद कर दो तब तक हम वहां पहुंचते हैं।अब वो जल्दी से मौका पाते ही रेवती को room में बंद कर देती हैं और बाहर राजू और शिवा उसे यहां वहां ढूंढने लगते हैं।

इसी beach रेवती की  family वहां पहुंच जाती हैं और रेवती को अपने साथ ले जाने लगती हैं तब शिवा सभी का सामना करता है और रेवती को वहां से अपने साथ ले जाने लगता है।

लेकिन अब उसे राजू कहीं नज़र नहीं आता दरअसल राजू बाहर एक ठेले में आकर अपने भाई को call करके सब कुछ बताता है जिससे वो उसे बचा सके, लेकिन शिवा अपना दिमाग लगाकर उसे तुरंत ही पकड़ लेता है, वो समझ जाता है कि राजू call करने के लिए ही गया हुआ है।

लेकिन जब तक शिवा राजू के पास आता है उतने में ही नटराज वहां अपने आदमियों के साथ पहुंच जाता है और एक stage में announce करता है कि शिवा तुम जहां भी हो जल्दी से राजू को लेकर बाहर आ जाओ नहीं तो मैं तुम्हारे papa को direct shoot कर दूंगा।

दरअसल शिवा के papa उसी stage पर होते हैं अब शिवा के father शिवा को बाहर आने से रोकते हैं और कहते हैं कि बेटा तुम सच का साथ दो और बाहर मत आओ और इसी beach वह नटराज से gun लेकर खुद को shoot कर लेते हैं।।

अब यह scene देखकर शिवा खुद को नहीं रोक पाता और भागकर सीधा अपने पिता की तरफ आता है और तभी वहां राजू का भाई पहुंच जाता है और सभी police वालों से fight करते हुए वो शिवा राजू और रेवती को लेकर वहां से भाग निकलता है।

अब राजू शिवा को काफी सारे पैसे देकर वहां से दूर जाने को बोलता है।वो कहता है कि तुम दोनों दूर जाकर अपनी life को खुशी से spend करो मैं यहां सब देख लूंगा वो ये सब बोल ही रहा था कि तभी उसका भाई उस पर attack कर देता है क्योंकि राजू पर काफी बड़ा इनाम था तो पैसों के लालच में आकर वो अपने भाई राजू पर ही हमला कर देता है, लेकिन राजू यहाँ भी बच जाता है और उल्टा अपने भाई पर ही हमला कर देता है।

अब जल्दी से वो तीनों वहाँ से भागते हुए एक train में चढ़ जाते है यहाँ शिवा फिर से राजू से कहता है कि अब तक तो CM ही तुम्हारी दुश्मन थी  लेकिन अब तो तुम्हारा खुद का भाई भी तुम्हारा सगा नहीं रहा ये crime और पैसा बहुत बुरी चीज़ है अभी भी समय है, मेरी बात मान लो और court में जाकर सब कुछ सच बता दो।

इस beach नटराज और उसके आदमी भी अब train में चढ़ जाते हैं और वहां फिर से एक बार खतरनाक action scene शुरू होता है और इसी beach शिवा और रेवती की जान बचाने के लिए राजू train की डिब्बों को अलग कर देता है और finally अब नटराज राजू को मार ही देता है और चैन की सांस लेता है।

अब सीन next Court का दिखाया जाता है। यहां CM का वकील कहता है कि CBI के पास कोई भी पुख्ता सबूत ना होने की वजह से इस case को यहीं खत्म करके CM दक्षाणी जी को बेकसूर साबित किया जाए।

तभी CBI का वकील सबूत होने की बात करता है।और तभी entry होती है हमारे hero शिवा की अब court में आते ही वो सभी को राजू की record हुई video दिखाता है जो उसने train में एक कैमरे में shoot की थी क्योंकि उसे पता था कि कुछ भी करके नटराज राजू को मार ही देगा इसलिए उसने एक camera लेकर उसका बयान record कर लिया था।

जिसमें राजू बताता है कि कैसे उसने दक्षिणी के कहने पर इतने सारे जुर्म किए और दो साल पहले वाला बम blast भी उसने दक्चायनी के कहने पर ही किया था।

दरअसल IIS राधा कृष्णन के पास दक्चायनी  के खिलाफ काफी सारे सबूत थे और उसी को मारकर उसकी मौत को एक accident दिखाने के लिए उसने राधाकृष्णन की car में blast करवाया था। इसके अलावा end में राजू अपने 1 side प्यार का इज़हार भी उस video में करता है।

और finally CM दक्षाणि और IG नटराज के साथ जो भी लोग इसमें शामिल थे उन सभी को court सजा सुनाई देती हैं और इसी के साथ होता है इस movie का the end।

तो दोस्तों, यह थी crime thriller और action से भरपूर movie, आपको यह movie कैसी लगी?हमें comment करके ज़रूर बताएं।

Leave a Comment

Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag These Towns In North Carolina Come Alive In Winter Unforgettable Small Towns To Visit In Rhode Island
Little Known Facts about Black Cats Top 10 Historical Facts that happened in London Wealthiest Pets in the World 10 Famous Historical events that happened in Poland 10 Amazing Facts About The Portuguese flag